News Nation Logo

Lok Sabha Election 2019 LIVE Updates : रमजान माह में बढ़ेगा मुसलमानों को वोट प्रतिशत : ओवैसी

लोकसभा चुनाव 2019 का बिगुल बजते ही सभी पार्टियों ने भी कमर कस ली है.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 11 Mar 2019, 03:48:00 PM
असदुद्दीन ओवैसी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

लोकसभा चुनाव 2019 का बिगुल बजते ही सभी पार्टियों ने भी कमर कस ली है. जहां पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में बीजेपी फिर सत्ता में वापसी करने के प्रयास में जुटी है. वहीं कांग्रेस राहुल गांधी के नेतृत्व में रणभूमि में उतर रही है. यूपी में सपा-बसपा एक साथ मिलकर लोकसभा चुनाव लड़ेगी. कई पार्टियों ने अपने प्रत्याशियों की पहली लिस्ट भी जारी कर दी है, लेकिन अभी बीजेपी ने अपने उम्मीदवारों की लिस्ट नहीं जारी की. लोकसभा चुनाव को लेकर दिनभर नेताओं की प्रतिक्रिया इस प्रकार है.

 

 

ऑल इंडिया मजलिस-ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के अध्यक्ष और सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, कि चुनाव एक लंबी प्रक्रिया है. एक मुस्लिम होने के नाते मैं रमजान में चुनाव का स्वागत करता हूं. इस महीने में मुसलमान ज्यादा जज्बे के साथ काम करते हैं. ओवैसी ने लोकसभा चुनाव का समर्थन करते हुए कहा, रमजान के पहले या बाद में चुनाव की उम्मीद करना सही नहीं है. मुसलमान रोजे रखते हैं और वोट भी करते हैं. यहां तक कि ओवैसी ने ये भी दावा किया कि रमजान में मुसलमानों का वोट प्रतिशत बढ़ेगा.



कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि परिवार में डैडी की हैसियत वो रखता है जिसका परिवार के अंदर कोई वर्चस्व हो और तमिलनाडु में बीजेपी (BJP) का कोई वर्चस्व नहीं है, बावजूद इसके अगर पीएम को डैडी की उपाधि दी जा रही है तो इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि ये परिवार पनपेगा या फिर बिखरेगा.

बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा, बीजेपी राष्ट्रवाद व राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर लोकसभा चुनाव लड़ने का ताल ठोक रही है. बीजेपी जो चाहे करे लेकिन पहले करोड़ों गरीबों, मजदूरों, किसानों, बेरोजगारों आदि को बताए कि अच्छे दिन लाने व अन्य लुभावने चुनावी वादों का क्या हुआ? क्या हवा-हवाई विकास हवा खाने गया?



जम्‍मू-कश्‍मीर में लोकसभा चुनाव होने और विधानसभा चुनाव के न होने पर नेशनल कांफ्रेंस के नेता फारुख अब्‍दुल्‍ला ने कड़ी आपत्‍ति जताई है. उन्‍होंने सवाल उठाते हुए कहा, सभी पार्टियां विधानसभा चुनाव कराने के पक्ष में हैं. अगर लोकसभा चुनाव के लिए माहौल ठीक है तो फिर विधानसभा चुनाव के लिए क्यों नहीं. उन्होंने कहा कि जब पंचायत चुनाव हो सकते हैं तो फिर ये क्यों नहीं. उन्होंने कहा कि अगर राज्य में सुरक्षाबल पर्याप्त मात्रा में मौजूद हैं तो फिर दोनों चुनाव साथ में क्यों नहीं कराए जा सकते हैं.

First Published : 11 Mar 2019, 01:38:47 PM

For all the Latest Elections News, General Elections News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.