logo-image
लोकसभा चुनाव

कांग्रेस ने जारी की उम्मीदवारों की 8वीं लिस्ट, जानें कौन कहां से लड़ रहा चुनाव?

Lok Sabha Election 2024: कांग्रेस ने गाजियाबाद से डॉली शर्मा, सीतापुर से नकुल दुबे, महाराजगंज से वीरेन्द्र चौधरी और बुलंदशहर से शिवराम वाल्मीकि को टिकट दिया है.

Updated on: 28 Mar 2024, 06:38 AM

New Delhi:

Lok Sabha Election 2024: लोकसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस ने बुधवार को अपने उम्मीदवारों की एक और सूची घोषित कर दी है. इस सूची में यूपी के चार उम्मीदवारों को पार्टी ने टिकट दिया है. सबसे महत्वपूर्ण सीट महराजगंज के विधायक वीरेंद्र चौधरी को टिकट दिया है. इस सूची में भी रायबरेली और अमेठी को लेकर खुलासा नहीं हुआ है. लंबे समय से इस बात के कयास लगाए जा रहे हैं कि गांधी परिवार की इन पारंपरिक सीटों से कौन चुनाव लड़ेगा. कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव को लेकर बुधवार रात अपनी आठवीं सूची जारी की. पार्टी ने 14 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की है, जिसमें यूपी के चार प्रत्याशी हैं. कांग्रेस ने गाजियाबाद से डॉली शर्मा, सीतापुर से नकुल दुबे, महाराजगंज से वीरेन्द्र चौधरी और बुलंदशहर से शिवराम वाल्मीकि को टिकट दिया है.

इंडिया गठबंधन के तहत कांग्रेस को प्रदेश में 17 सीटे मिली

महराजगंज की नौतनवा सीट से विधायक रहे अमनमणि त्रिपाठी को टिकट न देकर उन्होंने अपने पुराने कार्यकर्ता पर दांव खेला है. इससे पहले कांग्रेस ने बीते शनिवार (23 मार्च) को यूपी के नौ उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की थी, जिसमें पार्टी ने वाराणसी से अजय राय को पीएम मोदी के खिलाफ चुनावी मैदान में उतारा था. इसके अलावा झांसी से प्रदीप जैन को टिकट दिया गया है. ज्ञात हो कि इंडिया गठबंधन के तहत कांग्रेस को प्रदेश में 17 सीटे मिली हैं. वहीं, कांग्रेस ने झारखंड की तीन लोकसभा सीटों हजारीबाग, खूंटी और लोहरदगा के लिए प्रत्याशियों के नाम का ऐलान कर दिया है. खूंटी सीट पर भाजपा प्रत्याशी केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा के मुकाबले में कांग्रेस ने कालीचरण मुंडा को प्रत्याशी बनाया है. झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष कालीचरण पिछले चुनाव में भी इस सीट पर कांग्रेस के उम्मीदवार थे और अर्जुन मुंडा से वह मात्र 1445 मतों के अंतर से पराजित हुए थे.

जयप्रकाश भाई पटेल को हजारीबाग सीट पर प्रत्याशी बनाया

खास बात यह कि कालीचरण मुंडा खूंटी क्षेत्र के मौजूदा भाजपा विधायक नीलकंठ सिंह मुंडा के सहोदर भाई हैं. हाल में भाजपा छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए मांडू विधानसभा क्षेत्र के विधायक जयप्रकाश भाई पटेल को हजारीबाग सीट पर प्रत्याशी बनाया गया है. उन्होंने मांडू क्षेत्र से लगातार तीन बार विधानसभा चुनाव में जीत दर्ज की है और पहली बार लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे. इस सीट पर पटेल का मुकाबला भाजपा के मनीष जायसवाल से होगा. मनीष जायसवाल फिलहाल हजारीबाग सदर सीट के विधायक हैं.

पार्टी ने इस सीट पर मौजूदा सांसद जयंत सिन्हा का टिकट काटकर उन्हें बीते 2 मार्च को प्रत्याशी घोषित किया था. पूर्व विधायक सुखदेव भगत को कांग्रेस ने लोहरदगा सीट से प्रत्याशी बनाया है. यहां उनका मुकाबला भाजपा के समीर उरांव से होगा. वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में भी वह कांग्रेस के उम्मीदवार थे, जिन्हें भाजपा के सुदर्शन भगत ने 10 हजार 363 मतों के अंतर से पराजित किया था. लोकसभा चुनाव में पराजय के कुछ महीने बाद सुखदेव भगत भाजपा में शामिल हो गए थे. भाजपा ने उन्हें विधानसभा चुनाव में लोहरदगा सीट से प्रत्याशी बनाया था, लेकिन उन्हें कांग्रेस के डॉ रामेश्वर उरांव के हाथों पराजित होना पड़ा था. बाद में सुखदेव फिर कांग्रेस में लौट आए.