News Nation Logo
Banner

Lok Sabha Election 2019 : ऐसी लहर 2014 में भी नहीं थी, फर्स्‍ट टाइम वोटर मजबूत सरकार की ओर जा रहा : पीएम नरेंद्र मोदी

लोकसभा चुनाव के पहले चरण में अब एक हफ्ते का ही समय रह गया है. इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक निजी चैनल को अपना इंटरव्‍यू दिया है.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 05 Apr 2019, 10:11:04 AM
पीएम नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो)

पीएम नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

लोकसभा चुनाव के पहले चरण में अब एक हफ्ते का ही समय रह गया है. इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक निजी चैनल को अपना इंटरव्‍यू दिया है. पीएम ने कहा, मैं देश के मतदाताओं का धन्‍यवाद करता हूं. मैंने पिछली बार मतदाताओं से 60 माह मांगा था. उन्होंने कहा, पॉलिसी पैरालाइसिस से देश परेशान हो गया था, लेकिन अब देश के लोगों में इच्‍छाएं पैदा हो रही हैं. मुझे संतोष है कि देश के सामने एक नया वर्क कल्‍चर डेवलप हुआ है. देश ने एक काम करने वाली सरकार देखी है.

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, अटल बिहारी वाजपेयी और नरेंद्र मोदी कांग्रेस गोत्र के प्रधानमंत्री नहीं हैं. राहुल गांधी का 6000 रुपये देने के वादे पर मोदी ने कहा, अच्‍छा होता कि वे बीजेपी से भी अच्‍छी चीजें लेकर आते, लेकिन वे शॉर्टकट लेकर आए. कांग्रेस ने नौजवानों से कई वादे किए हैं. 2004 में कांग्रेस ने हर घर में बिजली पहुंचाने की बात कही थी, वो काम मैंने किया, कुछ काम बाकी है. उन्‍होंने डायरेक्‍ट बेनिफिट ट्रांसफर करने की बात कही थी पर नहीं किया.

पीएम ने कहा, कांग्रेस जैसी पार्टी राष्‍ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर ऐसी बात कर रही है, सेना पर लांछन लगा रही है. संयुक्‍त राष्‍ट्र में दुनिया भर में सबसे अधिक भारत के सुरक्षाकर्मी काम कर रहे हैं. कई गरीब देशों में जाकर सेना काम कर रही है, लेकिन उनकी एक भी शिकायत दुनिया भर में कहीं से नहीं आई है. उन्होंने कहा, भारत के सैनिकों के अनुशासन की दुनिया भर में चर्चा होती है, दुनिया में कोई ये नहीं चाहेगा कि देश को जेलखाना बना दो, लेकिन हालात सुधारने चाहिए, लेकिन कानून खत्‍म कर देना, यह टुकड़े-टुकड़े गैंग की भाषा है.

यह भी पढ़ें ः चुनाव आयोग ने कांग्रेस के 9 में से 6 विज्ञापन वीडियो किए खारिज, जानें क्या है कारण

अफस्‍पा को खत्‍म करना चाहिए या नहीं, इस सवाल के जवाब में पीएम मोदी ने कहा- जो अलगाववादी बोलते हैं, सेना के लिए बोलते हैं, उसी भाषा को कांग्रेस के घोषणापत्र में कहा जाता है तो जानते हैं कि इससे कितना नुकसान हुआ. उन्होंने कहा, हमने करीब 1400 कानून खत्‍म किए हैं, सामान्‍य मानवी की जिंदगी सरल करने के लिए हमने संसद में चर्चा करके हमने इन कानूनों को खत्‍म किया है. जिन कानूनों को हमने खत्‍म किया है, उस पर कोई विवाद नहीं है. इसका मतलब यह देश की जरूरत थी.

पीएम ने कहा, क्‍या आप चाहते हैं कि देश के टुकड़े-टुकड़े हों, बाबा साहब के संविधान को न मानें. जो लोग राष्‍ट्रद्रोह करें उन पर मुकदमा चलना चाहिए. हमें न्‍यायपालिका पर भरोसा करना चाहिए, अगर कानून ही नहीं होगा तो हम करेंगे क्‍या. पीडीपी के साथ एलायंस पर उन्होंने कहा, हमने जब एलायंस किया तब मुफ्ती मोहम्‍मद सईद साहब थे, वे मैच्‍योर थे. तब कोई सिचुएशन ही नहीं थी कि सरकार बन पाए. हम ऐसी पोजिशन में नहीं थे कि हम सरकार बनाएं, ऐसी स्‍थिति में कश्‍मीर में हम न्‍यूनतम एजेंडा पर सरकार चलाने की सोची पर हो नहीं पाया.

यह भी पढ़ें ः Lok Sabha Election 2019 : गजियाबाद में आज प्रियंका गांधी करेंगी रोड शो, जानें रूट चार्ट

पीएम मोदी ने कहा- हमारा मानना था कि पंचायतों को सीधे पैसे जाने चाहिए, ताकि वे अपना फैसला ले सकें, लेकिन पीडीपी ऐसा नहीं चाहती थी, उन्‍होंने डर पैदा करने की कोशिश की. तब हमने कहा- चुनाव नहीं कराएंगे तो सरकार नहीं चलेगी. कश्‍मीर को बेहतर ढंग से हैंडल किया जा सकता था क्‍या, इस सवाल पर पीएम ने कहा- मैं बहुत सालों तक यहां पार्टी के संगठन का काम करता था. मैं वहां बस में बैठकर दौरा करता था. हमें जम्‍मू, लद्दाख और कश्‍मीर सबकी चर्चा करनी चाहिए.

पीएम मोदी ने कहा, जम्‍मू-कश्‍मीर में विकास रुका हुआ था, वहां अब हर घर में बिजली पहुंच गई, शौचालय बनाने में हम सफल रहे, आज वहां से निर्यात बढ़ रहा है, कृषि क्षेत्र में बड़ा बदलाव आ रहा है, खादी को लेकर प्रगति हुई है, अमरनाथ यात्रियों की संख्‍या बढ़ रही है, वैष्‍णो देवी जाने वालों की संख्‍या बढ़ रही है, स्‍पोर्टस में बच्‍चे आगे बढ़ रहे हैं. उन्होंने कहा, अलगाववादियों पर अब नरमी नहीं बरती जाएगी.

पीएम मोदी ने पाकिस्‍तान के पीएम इमरान खान को लेकर एक सवाल पर कहा- यह पाकिस्‍तान की जनता पर छोड़ दीजिए, अभी तक मैंने दुनिया के कई नेताओं से पूछा है, जो मैंने सुना है कि पाकिस्‍तान में पता ही नहीं चलता कि सरकार कौन चलाता है, सेना चलाती है, आईएसआई चलाती है या आतंकवादी चलाते हैं. उन्होंने कहा, पाकिस्‍तान ने स्‍वयं ट्वीट करके एयर स्‍ट्राइक के बारे में जानकारी दी, कितने मरे, कितने नहीं मरे, यह विवाद जिसको करना है वो करे, अगर हमने सेना पर किया होता, नागरिकों पर किया होता तो पाकिस्‍तान हमें बदनाम करता. मैं इस बात से हैरान हूं कि भारत में पाकिस्‍तान की भाषा बोली जा रही है.

यह भी पढ़ें ः Lok Sabha Election 2019 : आइए जानते हैं केंद्रीय संस्कृति मंत्री महेश शर्मा के संसदीय क्षेत्र गौतमबुद्ध नगर के बारे में

सर्जिकल स्‍ट्राइक में आप इन्‍वॉल्‍व थे, इस सवाल पर पीएम मोदी ने कहा- मुझे पता चलता है कि टूरिस्‍टों की बस खाई में गिर गई तो मैं अधिकारियों से सवाल पूछता रहता हूं. सर्जिकल स्‍ट्राइक तो बहुत बड़ा काम था. मैंने इसमें बहुत बड़ी तीसमारी कर दी, ऐसा नहीं है. 3:40 बजे मुझे पता चल गया कि सर्जिकल स्‍ट्राइक सफल रही है. पुलवामा में हमले के समय आप पर गंभीर आरोप लगे, इस सवाल के जवाब में पीएम मोदी ने कहा- कोई इन आरोपों पर विश्‍वास नहीं करेगा. यह आधार हीन आरोप हैं. पटना की मेरी रैली में विस्‍फोट हुआ, तब मैं कुछ भी बोलता तो भगदड़ मच जाती और न जाने क्‍या हो जाता. मैंने बहुत सलीके से उसे हैंडल किया.

आपको गांधी-नेहरू परिवार से निजी दिक्‍कतें हैं, इस सवाल पर पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा- मैं चाहूंगा कि इस प्रकार की सहानुभूति पाने के लिए वे सबूत बताएं कि मोदी ने ऐसा क्‍या किया है. लालूजी जेल में हैं, यह केस कांग्रेस के जमाने में शुरू हुआ था. अब मेरे जमाने में सजा हुई तो मैं क्‍या करूं. उन्होंने आगे कहा, गांधी नेहरू परिवार पर हरियाणा के एक आईएएस अफसर ने सवाल उठाए थे. मेरी सरकार बनी तो मैंने उसकी जांच कराई, नेशनल हेराल्‍ड केस मेरे जमाने में हुआ था क्‍या, आपने सत्‍ता में रहते हुए इन केसों को क्‍यों दबाया? उन्होंने कहा, देश के एक वित्‍त मंत्री हैं, उन्‍हें राहत पर राहत मिल रही है, क्‍या आम लोगों को इतनी राहत मिलती है क्‍या.

राहुल गांधी और प्रियंका गांधी में बेहतर कौन ? इस सवाल पर पीएम मोदी ने कहा- सवा सौ साल की पार्टी में नेतृत्‍व उभरकर नहीं आ रहा है. व्‍यक्‍तिगत रूप से मैं उनके साथ नहीं बैठा हूं तो मैं जज नहीं कर सकता. प्रियंका गांधी वाराणसी से चुनाव लड़ेगी, इस पर उन्होंने कहा- बनारस का लोकसभा का चुनाव ऐसा था कि वहां मुझे एक भी पब्‍लिक मीटिंग नहीं करनी पड़ी थी. प्रशासन ने वहां मुझे अनुमति नहीं दी थी. फिर भी जनता ने स्‍वीकार किया.

यह भी पढ़ें ः उत्तर प्रदेश में योगी सरकार का प्रदर्शन औसत से भी कम : सर्वेक्षण

बनारस को ही क्‍यों चुना, इस सवाल के जवाब में पीएम ने कहा- यह मेरा फैसला नहीं था, संगठन ही सब कुछ तय करता है. डॉ. मुरली मनोहर जोशी जी ने बहुत अच्‍छा काम किया था, उनका भी आशीर्वाद मिला था. राहुल गांधी दो सीटों से चुनाव लड़ रहे तो बवाल क्‍यों, इस पर मोदी ने कहा- जिस कांग्रेस ने देश के टुकड़े किए हों, जिसने आंध्र और तेलंगाना में ऐसा झगड़ा करवाया, चुनाव वो कहां से लड़ें कहां से न लड़ें यह मेरा विषय नहीं है, लेकिन जिस तरीके से जाना पड़ा है, मीडिया ने यह उठाया है कि अमेठी में वो कमजोर हो रहे हैं.

आपका गठबंधन सचबंधन और उनका मिलावटी, इस सवाल के जवाब में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा- जम्‍मू-कश्‍मीर में हमारा गठबंधन भी मिलावटी था. हम सरकार में थे पर साथ-साथ नहीं थे. हमारे गठबंधन में कोई विरोध नहीं है, हम एक दूसरे के पूरक होते हैं. उन्होंने कहा, उत्‍तर प्रदेश में दो साल पहले दो लड़के काला कपड़े पहने साथ घूम रहे थे, अब एक साथ घूम रहे हैं. उमर अब्‍दुल्‍ला दो प्रधानमंत्री की बात करते हैं, उनकी पार्टी के उम्‍मीदवार पाकिस्‍तान के पक्ष में बोल रहे हैं, यह महामिलावट है.

गांधी परिवार का ही वंशवाद क्‍यों, इस सवाल पर पीएम मोदी ने कहा- अगर भारतीय जनता पार्टी ही गलत रास्‍ते पर हो तो बीजेपी कैसे किसी को नसीहत दे सकती है. आंबेडकर साहब ने वंशवाद को बहुत बड़ा खतरा बताया था, उस अर्थ में वंशवाद उचित नहीं है. मैंने किसी का नाम नहीं लेता. उन्होंने कहा, किसी नेता का बेटा चुनाव लड़ा है तो वह वंशवाद नहीं है, यह गंभीर चर्चा का विषय है, यह तू-तू-मैं-मैं का विषय नहीं है.

आप राहुल गांधी का नाम क्‍यों नहीं लेते, इस सवाल पर प्रधानमंत्री ने कहा- आपको पीड़ा क्‍यों हो रही है? मैं बहुत सामान्‍य परिवार से हूं, चाय बेचने वाले परिवार से, हम उनका नाम लेने की हिम्‍मत ही नहीं कर सकते, वो नामदार परिवार से हैं, हम वो हिम्‍मत नहीं कर सकते. आप इसलिए मजबूत हैं क्‍योंकि विपक्ष कमजोर है, इस पर पीएम ने कहा- आम तौर पर मनुष्‍य को अपनी कमजोरी का पता चल जाता है तो मैं उससे दूर होने की कोशिश करता हूं और गाली को गहना बनाना मेरी ताकत है, वो मेरी कमजोरी नहीं है.

पीएम मोदी ने कहा- मुझे सच्‍चाई के प्रति भरोसा है, चालाकी से गहने नहीं बनते. लोकतंत्र में चुनौती होनी चाहिए, हर राजनीतिक दल को कसना चाहिए, लोकतंत्र बहुत ही वायब्रेंट होना चाहिए, चुनौतियां और बढ़े. पीएम मोदी ने कहा- मैं कहीं एंटी इन्‍कमबेंसी फैक्‍टर नहीं देख रहा हूं, मैं भी जनता के पास जाता हूं, एक लहर है, मैं जनता के बीच रहने वाला इंसान हूं, मैं लोगों से मिलता हूं. उन्होंने कहा, इस देश में 450 से अधिक जिलों में मैंने रात में काम किया है. इससे हिन्‍दुस्‍तान के हर कोने के बारे में जानकारी हो गई, तब भी मैं ऐसे ही परिश्रम करता था. मैं भी थकता हूं पर मेरा कमिटमेंट ऐसा है कि मैं थकान हो हावी नहीं होने देता.

बीजेपी ने राम मंदिर आंदोलन को बड़ा मुद्दा बनाया, इन 5 सालों में आप वादा पूरा नहीं कर पाए, इस सवाल के जवाब में पीएम मोदी ने कहा- हम संविधान को सुप्रीम मानते हैं, हम इंतजार कर रहे हैं कि जितना जल्‍द हो सके, न्‍यायिक प्रक्रिया पूरी हो.

नरेंद्र मोदी का हिन्‍दुस्‍तान के मुसलमानों का क्‍या रिश्‍ता है, क्‍यों वे भरोसा नहीं करते हैं, इस सवाल के जवाब में पीएम मोदी ने कहा- मनमोहन सिंह जी ने सच्‍चर कमेटी बनाई थी, कमेटी की टीम गुजरात आई थी और मुझसे पूछा- आपकी सरकार ने मुसलमानों के लिए क्‍या किया है, तो मैंने कहा- कुछ नहीं किया है. मेरी सरकार गुजरात के सभी नागरिकों के लिए काम करती है और आगे भी करती रहेगी.

पीएम मोदी ने कहा, मैंने वादा किया है कि 2022 तक सभी परिवार को छत मिलेगी, बिजली मिलेगी, तब मैं यह नहीं देखता कि कितने मुसलमान हैं, कितने यादव हैं, कितने ब्राह्मण हैं, मेरी सारी योजनाएं सबका साथ सबका विकास पर आधारित हैं. दुनिया भर के मुसलमान आपको गले लगाते हैं, पर यहां क्‍यों नहीं के जवाब में पीएम नरेंद्र मोदी बोले- देश में राजनीतिक माहौल ऐसा पैदा किया गया है कि ऐसा हो गया है. हम इस तरह के विचारों को बल देना नहीं चाहते. जहां तक दुनिया का सवाल है कि इस्‍लामी ऑर्गनाइजेशन ने हमारे नेताओं को बाहर निकाल दिया था, लेकिन इस बार विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज वहां गईं और संबोधन करके आईं.

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा- मैं कभी भी 'पाकिस्‍तान चले जाना चाहिए' वाली भाषा से सहमत नहीं हूं, मेरी पार्टी इस पर कार्रवाई करती है. हमने अब्‍दुल कलाम साहब को राष्‍ट्रपति बनाया था, सैयद शाहनवाज हुसैन की सीट गठबंधन के चलते साझीदार दल के पास चली गई. उन्होंने नोटबंदी को लेकर कहा, इस देश में अनौपचारिक अर्थव्‍यवस्‍था बहुत बढ़ गई थी, हजारों करोड़ों में बेनामी संपत्‍ति कब्‍जाई गईं, टैक्‍स देने वालों की संख्‍या में बेतहाशा वृद्धि हुई, 3 लाख फर्जी कंपनियों में ताले लग गए. नोटबंदी के फायदों को पहले भी समझाया, आगे भी समझाऊंगा.

पीएम मोदी ने रोजगार के आंकड़ों पर कहा- हमारे देश में मुद्रा योजना में 4 करोड़ से अधिक लोगों ने रोजगार शुरू किया, पेंशन स्‍कीम में 55 लाख लोग रोजगार पाकर आए हैं, पहले से सड़क, रेल परियोजनाओं पर काम हुआ है, उसमें भी रोजगार मिले हैं. रोड पहले से डबल बन रहे हैं, पहले से अधिक रेलवे काम कर रही है, बिना रोजगार ऐसा हो पाएगा क्‍या. अटल बिहारी वाजपेयी पर भी कांग्रेस ने ऐसे ही आरोप लगाया था, जार्ज फर्नांडीस पर ऐसे ही रक्षा घोटाला करने का आरोप लगाया था. उन्होंने नमो टीवी पर कहा- कुछ लोग चला रहे हैं.

पीएम मोदी ने कहा- हर आदमी का एक्‍सपायरी डेट होता है, मेरी एक्‍सपायरी डेट सवा सौ करोड़ देशवासी तय करेंगे. उन्होंने कहा, अमित शाह वर्षों तक विधानसभा में जीतते रहे हैं. वे गुजरात में सबसे अधिक वोटों से जीतकर आए थे, उनका लोकसभा चुनाव लड़ना बड़ी बात नहीं है. उनको गृहमंत्री बनाने के सवाल पर पीएम ने कहा- वे पहले भी मंत्री बन सकते थे.

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, मैंने ऐसी लहर 2014 में भी नहीं देखी थी. फर्स्‍ट टाइम वोटर मजबूत सरकार की ओर जा रहा है. मैं मानता हूं कि देश में पूर्ण बहुमत वाली सरकार का होना जरूरी है. निष्‍पक्ष मीडिया को भी यही बात कहनी चाहिए. बीजेपी की अपनी टैली पहले से बहुत अधिक होती, एनडीए की भी टैली बढ़ेगी. नीरव मोदी और मेहुल चोकसी के सवाल पर उन्होंने कहा, जो हमने कदम उठाए हैं, उसी के चलते भागने वालों को वहां की जेलों में जाना पड़ रहा है, देश पूरी तरह देख रहा है कि हम एक के बाद एक कानूनी हथियार उठा रहे हैं.

पीएम मोदी ने कहा, भगोड़ों को पता भी नहीं था कि कोई ऐसी भी सरकार आएगी कि लेने के देने पड़ जाएंगे. भागने का दूसरा नाम वारेन एंडरसन था. उसको सरकारी विमान में लाकर देश से बाहर भगाया गया था. उसे भगाना कहते हैं. उन्होंने कहा, लुटियंस दिल्‍ली ने मुझे स्‍वीकार नहीं किया तो मैंने उसे स्‍वीकार नहीं किया. मैंने पूरे हिन्‍दुस्‍तान को अपना बना लिया है. मैं दिल्‍ली को ही पूरे देश में ले गया हूं. हर सरकारी स्‍कीम को देश के कोने-कोने में लांच किया.

पीएम मोदी ने कहा, इस नवरात्रि में भी व्रत रहूंगा, कठिन है पर मामला जमा लूंगा. शारदीय नवरात्र अधिक कठिन होता है, इसमें मुझे उतना समय नहीं देना होता हैं, शारदीय नवरात्र में मैं पानी लेता हूं. उन्होंने वोटरों से अपील की कि मतदान करने जाते वक्‍त पानी की बोतल जरूर लेकर जाएं. दो टर्म हो या दस टर्म, आखिरी समय तक जनता के लिए लगा रहूंगा. नई सरकार बनेगी, मैं फिर आपकी आशा-आकांक्षाओं के लिए जी-जान से लगा रहूंगा.

First Published : 05 Apr 2019, 09:04:00 AM

For all the Latest Elections News, General Elections News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो