News Nation Logo
Breaking
Banner

पाकिस्तान पर हवाई कार्रवाई का श्रेय किसी को नहीं लेना चाहिए : नितिन गडकरी

लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Election 2019) को लेकर पार्टियों के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर चल रहा है.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 27 Mar 2019, 09:16:07 AM
केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Election 2019) को लेकर पार्टियों के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर चल रहा है. केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी का कहना है कि पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकियों के खिलाफ भारतीय वायुसेना की कार्रवाई को आम चुनाव से नहीं जोड़ा जाना चाहिए और न ही किसी को इसका इसका राजनीतिक लाभ या श्रेय लेना चाहिए. आईएएनएस से बातचीत में सड़क परिवहन व राजमार्ग, जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्री ने कहा कि वे न तो किसी पद के दावेदार हैं और न ही प्रधानमंत्री पद की दौड़ में शामिल हैं.

यह भी पढ़ें ः Goa में रातभर चला 'हाई वोल्टेड ड्रामा', सहयोगी दल का बीजेपी में हुआ विलय

गडकरी ने कहा, नरेंद्र मोदी की भारी जनादेश के साथ प्रधानमंत्री के रूप में वापसी होगी और इस बार उन्हें 2014 लोकसभा चुनाव के मुकाबले विशाल जनादेश मिलेगा. पाकिस्तान के खिलाफ हवाई कार्रवाई को चुनाव से नहीं जोड़ा जाना चाहिए. इसे चुनावी मुद्दा नहीं बनाया जाना चाहिए और न ही किसी को इसका श्रेय लेना चाहिए. उन्होंने कहा कि अगर विपक्षी दलों को इस पर कोई संदेह है तो ये उनकी दिक्कत है, लेकिन मैं उनसे अनुरोध करूंगा कि उन्हें इस पर राजनीति नहीं करनी चाहिए.

यह भी पढ़ें ः राहुल गांधी का चुनावी दांव, अर्थव्यवस्था के साथ कितना 'न्याय' कर पाएगी न्यूनतम आय योजना

यह पूछने पर कि क्यों प्रचार अभियान में सत्तारूढ़ दल इस मुद्दे को उठा रहा है, जिस पर उन्होंने कहा, सुरक्षा हमारे लिए सर्वोपरि है. इस मुद्दे का राजनीतिकरण नहीं किया जाना चाहिए. भारत में अगर किसी को भी हमारे जवानों की शहादत पर संदेह है, अगर कोई पाकिस्तान की भाषा में बोलता है तो ये सभी देश के हितों के खिलाफ जाता है. ये राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे हैं और सभी को एक सुर में बोलना चाहिए. इस तरह के मुद्दों पर राजनीति नहीं होनी चाहिए.

ऐसी अटकलें लगाई जा रही हैं कि चुनाव के बाद सरकार बनाने के लिए अन्य राजनीतिक दलों के समर्थन की जरूरत पड़ने पर उन्हें अगले प्रधानमंत्री के रूप में पेश किया जा सकता है. इस पर उन्होंने कहा कि वह खंडित जनादेश मिलने पर भी प्रधानमंत्री पद की दौड़ में नहीं हैं.

यह भी पढ़ें ः Jammu Kashmir: PDP अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने बैन कश्मीरी संगठनों पर दिया ये बड़ा बयान

गडकरी ने कहा, न तो मेरी ऐसी कोई मंशा है और न ही आरएसएस की ऐसी कोई योजना है. ऐसा कुछ भी नहीं है. मेरे बयान को मीडिया द्वारा तोड़-मरोड़ कर पेश किया गया. आप यू-ट्यूब पर जा सकते हैं और मेरा बयान सुन सकते हैं. मैंने ऐसा कभी नहीं कहा. मंत्री ने कहा, न तो मैं किसी पद का दावेदार हूं और न ही मैं किसी दौड़ में शामिल हूं. गौर करने वाली बात ये है कि मैं आश्वस्त हूं कि हमें 2014 के मुकाबले विशाल जनादेश मिलेगा और मोदी जी फिर से प्रधानमंत्री बनेंगे.

First Published : 27 Mar 2019, 09:16:00 AM

For all the Latest Elections News, General Elections News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.