News Nation Logo
Banner

लोकसभा चुनाव: 91 सीटों पर हुई वोटिंग, प.बंगाल और त्रिपुरा में पड़े सबसे ज्यादा वोट

लोकसभा चुनाव के पहले चरण का मतदान गुरुवार को शाम 6 बजे समाप्‍त हो गया. देश के 18 राज्‍यों और दो केंद्र शासित प्रदेशों की 91 सीटों पर सुबह सात बजे से वोटिंग का सिलसिला शुरू हो गया था.

PTI | Updated on: 11 Apr 2019, 11:34:26 PM
पहले चरण का मतदान संपन्न (फोटो:IANS)

पहले चरण का मतदान संपन्न (फोटो:IANS)

नई दिल्ली:

लोकसभा चुनाव के पहले चरण का मतदान गुरुवार को शाम 6 बजे समाप्‍त हो गया. देश के 18 राज्‍यों और दो केंद्र शासित प्रदेशों की 91 सीटों पर सुबह सात बजे से वोटिंग का सिलसिला शुरू हो गया था. कुछ सीटों पर शाम 4 बजे तक, कुछ पर 5बजे तक और कुछ जगह शाम 6 बजे तक मतदान हुआ. आंकड़ों के अनुसार सबसे हुआ कम बिहार में 53 प्रतिशत और पश्चिम बंगाल में 81 प्रतिशत मतदान.

सामान्य रूप से मतदान रहा शांतिपूर्ण

उप चुनाव आयुक्त उमेश सिंहा ने संवाददाता सम्मेलन में बताया कि पहले चरण के चुनाव में मतदान का स्तर सामान्य रहा. सिंहा ने कहा कि अंतिम आंकड़े आने तक यह स्तर पिछले चुनाव की तुलना में लगभग बराबर ही होगा. उन्होंने कहा कि सभी 20 राज्यों की मतदान वाली सीटों पर सामान्य रूप से शांतिपूर्ण मतदान रहा. कुछ इलाकों में हिंसा और बाधा पहुंचाने की शिकायतें जरूर मिली जिन्हें तत्काल दूर कर दिया गया.

और पढ़ें:प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी फेसबुक पर विश्व के सबसे लोकप्रिय नेता : रिपोर्ट

1239 उम्मीदवारों की किस्मत ईवीएम में कैद

उन्होंने बताया कि पहले चरण में 91 सीटों पर कुल 1239 उम्मीदवार चुनाव मैदान में है. इनमें जिन राज्यों की सभी लोकसभा सीटों पर मतदान हुआ उनमें आंध्र प्रदेश की 25 सीटों पर 66 प्रतिशत और तेलंगाना की 17 सीटों पर 60 प्रतिशत मतदान हुआ. जबकि संयुक्त आंध्र प्रदेश में 2014 के चुनाव में 76.64 प्रतिशत मतदान हुआ था.

इसके अलावा उत्तराखंड की पांच सीटों पर 57.85 प्रतिशत मतदान हुआ. राज्य में 2014 में 62.15 प्रतिशत मतदान हुआ था. अरुणाचल प्रदेश की दो सीटों पर 66 प्रतिशत मतदान रहा. राज्य में 2014 में मतदान का स्तर 80 प्रतिशत था. मेघालय की दो सीटों पर शाम छह बजे तक 67.1 प्रतिशत हुआ और पिछली बार 68 प्रतिशत मतदान हुआ था.

यूपी में हुआ 63.69 प्रतिशत वोटिंग

पहले चरण के मतदान वाले अन्य प्रमुख राज्यों में उत्तर प्रदेश की आठ सीटों पर 63.69 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया. छत्तीसगढ़ की बस्तर सीट पर 56 प्रतिशत मतदान हुआ. पिछले चुनाव में इस सीट पर 69.39 प्रतिशत मतदान हुआ था.

सिंहा ने बताया कि बस्तर इलाके में दंतेवाड़ा और नारायणपुर क्षेत्र में हिंसा और मतदान में बाधा पहुंचाने की कोशिश की गयीं लेकिन सुरक्षा बलों ने इन्हें नाकाम कर दिया। उन्होंने बताया दंतेवाड़ा के श्यामगिरि मतदान केन्द्र पर 77.7 प्रतिशत मतआन हुआ. इस इलाके में ही मंगलवार को नक्सली हमले में स्थानीय विधायक सहित पांच लोगों की मौत हो गयी थी.

इसके अलावा जम्मू कश्मीर की दो सीटों बारामूला और जम्मू पर मतदान शांतिपूर्ण रहा. जम्मू सीट पर 72.16 प्रतिशत और बारामूला पर 35.01 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया.

महाराष्ट्र में 56 प्रतिशत मतदान

पहले चरण में महाराष्ट्र की सात लोकसभा सीटों पर शाम पांच बजे तक 56 प्रतिशत मतदान हुआ. राज्य में गढ़चिरौली सीट पर चार मतदान केन्द्रों पर मतदानकर्मियों के नहीं पहुंच पाने के कारण मतदान स्थगित करना पड़ा.

इसे भी पढ़ें: पहला चरणः सियासत के इन दिग्‍गजों की किस्‍मत का वोटरों ने कर दिया फैसला

इसके अलावा उड़ीसा की चार लोकसभा सीटों पर शाम पांच बजे 68 प्रतिशत मतदान हुआ. सिंहा ने बताया कि इन सभी सीटों पर मतदान के अंतिम आंकड़े अभी आने बाकी हैं. इसके बाद ही इन सीटों पर पिछले चुनाव की तुलना में मतदान के स्तर का आकलन किया जा सकेगा.

मिजोरम, नगालैंड में इतन प्रतिशत हुए वोटिंग

सिंहा ने कहा कि एक एक सीट वाले राज्य मिजोरम में 60 प्रतिशत (2014 में 61.95प्रतिशत), नगालैंड में 78 प्रतिशत (2014 में 87.91 प्रतिशत), सिक्किम 69 प्रतिशत (2014 में 83.64प्रतिशत) और लक्षदीप में 66 प्रतिशत (2014 में 86 प्रतिशत) मतदान रहा. उल्लेखनीय है कि इन सभी राज्यों में पिछले चुनाव की तुलना में मतदान का स्तर कम रहा.

ईवीएम में आई शिकायतें की खबरें

ईवीएम में गड़बड़ी के बारे में उन्होंने बताया कि सभी 91 सीटों पर मतदान के दौरान तकनीकी बाधाओं के कारण 1.7 प्रतिशत ईवीएम मशीनों को बदलना पड़ा. जबकि 1.04 प्रतिशत कंट्रोल यूनिट और 1.61 प्रतिशत वीवीपेट मशीनें बदली गयीं.

शिकायतों पर होगी समीक्षा

उन्होंने कहा कि मतदान के दौरान गड़बड़ी से जुड़ी विभिन्न राजनीतिक दलों की शिकायतों की आयोग शुक्रवार को दिन में 11 बजे समीक्षा करेगा. इस दौरान राजनीतिक दलों को अपना पक्ष रखने का मौका दिया जायेगा.

सिंहा ने कहा कि मतदान के दौरान ईवीएम को क्षतिग्रस्त करने के कुल 15 मामले सामने आये. इनमें छह आंध्र प्रदेश और एक एक बिहार एवं पश्चिम बंगाल में रहा. इनमें आयोग ने कानूनी कार्रवाई की है.

First Published : 11 Apr 2019, 11:32:10 PM

For all the Latest Elections News, General Elections News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो