News Nation Logo
Banner

नीतीश कुमार की शिकायत पर लालू यादव के वार्ड में छापेमारी, जानें क्‍या मिला

सिटी एसपी और सदर डीएसपी की अगुआई में पुलिस बल ने रिम्‍स में लालू के पेइंग वार्ड की घंटेभर गहन तलाशी ली.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 03 Apr 2019, 09:31:03 AM

रांची:

लोकसभा चुनाव 2019 (Loksabha Election 2019) को लेकर विपक्षी महागठबंधन की धुरी बने चारा घोटाले के चार मामलों के सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव के वार्ड में मंगलवार को एक बार फिर पुलिस ने छापेमारी की. इस बार बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के जेल से लालू प्रसाद यादव द्वारा चुनाव को प्रभावित करने के आरोप के बाद झारखंड पुलिस की रेड हुई. सिटी एसपी और सदर डीएसपी की अगुआई में पुलिस बल ने रिम्‍स में लालू के पेइंग वार्ड की घंटेभर गहन तलाशी ली.

यह भी पढ़ें- राजद के खिलाफ मोर्चा खोलने वाले तेजप्रताप को जान से मारने की धमकी, दर्ज कराई शिकायत

नीतीश कुमार के बयान के बाद रिम्स में जेल की अभिरक्षा में इलाजरत लालू प्रसाद यादव के पेइंग वार्ड का निरीक्षण किया गया. निरीक्षण करने झारखंड पुलिस के एसपी सुजाता वीणापाणि, सदर डीएसपी दीपक कुमार पांडेय, बरियातू थानेदार संजीव कुमार सहित अन्य पहुंचे थे. पूरे वार्ड को खंगाला गया, कोने-कोने की गहनता से तलाशी ली गई. हालांकि इस दौरान कहीं से न मोबाइल मिला, न कोई आपत्तिजनक सामान ही बरामद किया गया.

नीतीश कुमार ने लगाए थे लालू यादव पर आरोप

इससे पहले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा था कि लालू प्रसाद यादव रिम्स में जेल की अभिरक्षा में रहते हुए मोबाइल फोन का इस्तेमाल कर राजनीति कर रहे हैं. उनके इस बयान के बाद हरकत में आई पुलिस ने पूरे वार्ड को खंगाल लिया, लेकिन खाली हाथ लौटना पड़ा. बता दें कि लालू प्रसाद यादव चारा घोटाला के मामले में रांची के बिरसा मुंडा केंद्रीय जेल में सजा काट रहे हैं. वहां से उन्‍हें गंभीर बीमारियों के इलाज के लिए रांची के रिम्‍स में भर्ती कराया गया है. लालू प्रसाद यादव पहली बार लोकसभा चुनाव के प्रचार से दूर हैं.

यह भी पढ़ें- कांग्रेस के राफेल समेत 6 विज्ञापनों पर चुनाव आयोग ने जताई आपत्ति

झारखंड के जेल आईजी बोले- खाली हाथ लौटी पुलिस

इस छापेमारी को लेकर आईजी, जेल वीरेंद्र भूषण ने कहा, 'अफवाह भी खूब फैलाई जा रही हैं. मंगलवार को आधे घंटे तक लालू प्रसाद यादव का वार्ड खंगाला गया. वहां न मोबाइल मिला और न ही कोई आपत्तिजनक वस्तु मिली.'

यह भी पढ़ें- चुनावी हलचल LIVE: आज अपने जन्‍मदिन के दिन रामपुर से नामांकन दाखिल करेंगी जया प्रदा

झारखंड के जेल आईजी ने साफ कहा कि लालू प्रसाद यादव के पास जांच के दौरान कोई मोबाइल नहीं मिला. ऐसे में किन सबूतों के आधार पर नीतीश कुमार ऐसी बात कह रहे हैं. असल में यह प्लान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए तैयार किया गया. तय था कि अपनी गया की चुनावी सभा में इस पर कुछ बोलेंगे.

नीतीश बगैर आधार कह रहे लालू मोबाइल से दे रहे निर्देश- तेजस्वी
इधर, लालू प्रसाद यादव के बेटे, बिहार में नेता प्रतिपक्ष और पूर्व उपमुख्‍यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बगैर आधार के उनके पिता लालू प्रसाद यादव के बारे में वक्तव्य दे रहे हैं. इसके साथ ही तेजस्वी यादव ने लालू यादव द्वारा जेल में मोबाइल इस्तेमाल करने के नीतीश कुमार के आरोपों को निराधार बताया.

पहले भी हुई तलाशी, चुनाव प्रभावित करने का आरोप
रांची के रिम्‍स में अपनी गंभीर बीमारियों का इलाज करा रहे लालू प्रसाद यादव पर पहले भी लोकसभा चुनाव को लेकर रणनीति बनाने और जेल से ही नेताओं को निर्देश देने के आरोप लगे हैं. इससे पहले भी शनिवार को सदर डीएसपी दीपक पांडेय की अगुआई में पुलिस टीम ने उनके पेइंग वार्ड के कमरे ए-11 की गहन जांच की थी.

यह भी पढ़ें- अमित शाह ने कहा- NDA जयललिता और एमजीआर की तरह गरीब हितैषी सरकार बनाएगी

लालू को चेस्‍ट इंफेक्‍शन
रांची के रिम्‍स में गंभीर बीमारियों से जूझ रहे लालू प्रसाद यादव की देखरेख कर रहे डॉक्‍टर उमेश प्रसाद ने बताया कि लालू ब्रोंकाइटिस और चेस्‍ट इंफेक्‍शन से पीडि़त हैं. उन्‍हें सांस लेने में दिक्‍कत हो रही है. कफ की भी शिकायत है. सुरक्षा कारणों से उनका एक्‍स-रे नहीं कराया गया है. एंटीबायोटिक के साथ जरूरी दवाएं दी जा रही हैं. चिकित्‍सक ने बताया कि लालू प्रसाद का शुगर में उतार-चढ़ाव हो रहा है. हालांकि वे पहले की अपेक्षा अब स्‍वस्‍थ हैं. बताया गया है कि लालू प्रसाद की इको जांच व कार्डियक संबंधी परेशानी के बारे में बिरसा मुंडा जेल के सुपरिटेंडेंट को चिट्ठी लिखी गई है. सुरक्षा एहतियात को देखते हुए जल्‍द ही उनकी आवश्‍यक जांच कराई जाएगी.

First Published : 03 Apr 2019, 09:22:51 AM

For all the Latest Elections News, General Elections News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो