News Nation Logo
Banner

जम्‍मू-कश्‍मीरः मोदी सरकार में मंत्री डॉ. ज‍ितेंद्र स‍िंह और नेशनल कॉन्फ्रेंस पार्टी के मुख‍िया फारूक अब्दुल्ला की प्रतिष्‍ठा दांव पर

जम्मू और श्रीनगर की दो सीटों पर 18 अप्रैल को दूसरे फेज में मतदान होना है. जम्मू-कश्मीर देश का इकलौता ऐसा राज्य है, जहां दो किस्म की सियासत सांस लेती है.

News Nation Bureau | Edited By : Drigraj Madheshia | Updated on: 14 Apr 2019, 07:43:26 PM
प्रतिकात्‍मक चित्र

प्रतिकात्‍मक चित्र

नई दिल्‍ली:

जम्मू और श्रीनगर की दो सीटों पर 18 अप्रैल को दूसरे फेज में मतदान होना है. जम्मू-कश्मीर देश का इकलौता ऐसा राज्य है, जहां दो किस्म की सियासत सांस लेती है. एक जम्मू की और दूसरी घाटी, यानी कश्मीर की. एक ही राज्य के ये दो इलाके हैं, जो अपनी राजधानी छह-छह महीने साझा करते हैं. इस बार पुल‍वामा अटैक के बाद उठी राष्ट्रवाद की लहर से कश्मीर घाटी में बीजेपी भी कमाल दिखा सकती है.

लोकसभा सीट BJP INC PDP
उधमपुर डॉ. जितेंद्र सिंह व‍िक्रमाद‍ित्य स‍िंह  
श्रीनगरः शेख खाल‍िद जहांगीर फारूक अब्दुल्ला (NC) आगा सैयद मोहस‍िन

श्रीनगरः रोचक मुकाबला होने के आसार

जम्मू और श्रीनगर की श्रीनगर संसदीय सीट पर इस बार रोचक मुकाबला होने के आसार हैं. लोकसभा चुनाव 2019 के लिए नेशनल कॉन्फ्रेंस पार्टी के मुख‍िया और वर्तमान सांसद फारूक अब्दुल्ला फ‍िर से ताल ठोंक रहे हैं. बीजेपी ने उनके मुकाबले शेख खाल‍िद जहांगीर को उतारा है. वहीं पीडीपी ने आगा सैयद मोहस‍िन को उतारकर यहां का चुनावी दंगल रोचक बना द‍िया है.

यह भी पढ़ेंः मुरादाबाद: पीएम मोदी ने पाकिस्तान को कहा- तीसरी गलती की तो लेने के देन पड़ जाएंगे

इन तीनों के अलावा नेशनल पैंथर्स पार्टी, जनता दल (युनाइटेड), श‍िवसेना, पीपुल कॉन्फ्रेंस, राष्ट्रीय जनक्रांत‍ि पार्टी, मानवाध‍िकार नेशनल पार्टी के उम्मीदवारों के साथ 3 न‍िर्दलीय भी ताल ठोंक रहे हैं.

यह भी पढ़ेंः कश्‍मीर से कन्‍याकुमारी तक मोदी-मोदी की गूंज, ओडिशा के क्‍योंझर में बोले बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह

करीब 90 फीसदी से अधिक मुस्लिम आबादी वाले इस सीट पर 2017 में हुए उपचुनाव में फारूक अब्दुल्ला करीब 10 हजार वोटों से जीते थे. 2014 के आम चुनाव के दौरान फारूक अब्दुल्ला को पीडीपी के तारिक हमीद कर्रा ने करारी शिकस्त दी थी. 2016 में आतंकी बुरहान वानी की हत्या के बाद भड़की हिंसा के दौरान लोगों पर हुए कथित अत्याचार के विरोध में हामिद कर्रा ने इस्तीफा दे दिया था.

उधमपुर ः इजरायल के बराबर है इस सीट का क्षेत्रफल

उधमपुर संसदीय सीट से लोकसभा चुनाव 2019 में मोदी सरकार के मंत्री डॉ. ज‍ितेंद्र स‍िंह एक बार बीजेपी के उम्मीदवार हैं. कांग्रेस ने कर्ण स‍िंह के बेटे व‍िक्रमाद‍ित्य स‍िंह पर दांव लगाया है. इसके अलावा नवरंग कांग्रेस पार्टी, बहुजन समाज पार्टी, डोगरा स्वाभ‍िमान संगठन पार्टी, जम्मू और कश्मीर नेशनल पैंथर्स पार्टी, श‍िवसेना सह‍ित 5 निर्दलीय उम्मीदवार भी मैदान में जीत के ल‍िए पसीना बहा रहे हैं.

यह भी पढ़ेंः Assembly Elections: जम्‍मू-कश्‍मीर में अमरनाथ यात्रा से पहले हो सकते हैे विधानसभा चुनाव

क्षेत्रफल की लिहाज से सूबे की दूसरी बड़ी सीट है उधमपुर लोकसभा सीट. इस सीट का कुल क्षेत्र करीब 20,230 वर्ग किलोमीटर है और यह इजरायल के बराबर है.
2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी के डॉ. जितेंद्र सिंह ने कांग्रेस के दिग्गज नेता और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री गुलाम नबी आजाद को करीब 60 हजार वोटों से हराया था. डॉ. जितेंद्र सिंह को 4.87 लाख और गुलाम नबी आजाद को 4.26 लाख वोट मिले थे. तीसरे नंबर पर पीडीपी के मोहम्मद अरशद मलिक (30 हजार वोट) और चौथे नंबर पर नेशनल कॉन्फ्रेंस के भीम सिंह (25 हजार वोट) पाकर रहे.

First Published : 14 Apr 2019, 07:43:19 PM

For all the Latest Elections News, General Elections News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो