News Nation Logo
Banner

कर्नाटक में सीएम एचडी कुमारस्वामी के नजदीकियों के यहां आयकर विभाग की छापेमारी

आयकर विभाग की मंगलवार सुबह हुई छापेमारी में बड़ी मात्रा में अघोषित आय, बेनामी संपत्ति समेत भारी मात्रा में नगदी बरामद हुई है. हालांकि अभी इसका खुलासा नहीं किया गया है, क्योंकि कार्रवाई अभी जारी है.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 16 Apr 2019, 11:28:59 AM

बेंगलुरु.:

कर्नाटक में मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी और उनके मंत्रियों के नजदीकियों के यहां आयकर विभाग की छापेमारी का सिलसिला जारी है. इस कड़ी में आईटी विभाग ने मंगलवार को हासन में पांच और बेंगलुरु व मांड्या में एक-एक ठिकानों पर छापेमारी की. आईटी विभाग ने संबंधित लोगों के घरों के अलावा व्यावसायिक प्रतिष्ठानों पर भी छापे मारे. विभाग की मंगलवार हुई छापेमारी में अघोषित आय, बेनामी संपत्ति समेत भारी मात्रा में नगदी बरामद हुई है. हालांकि अभी इसका खुलासा नहीं किया गया है, क्योंकि कार्रवाई अभी जारी है. जाहिर है मुख्यमंत्री और उनके मंत्रिमंडल के वरिष्ठ सदस्यों के नजदीकियों के यहां से मिल रही अघोषित संपत्ति ने राज्य बीजेपी ईकाई को हमलावर होने का मौका उपलब्ध करा दिया है.

आयकर विभाग ने मंगलवार सुबह कुमारस्वामी मंत्रिमंडल में मंत्री पुत्तराजू के नजदीकी थिम्मेगौड़ा के घर, पेट्रोल पंप औऱ व्यापारिक प्रतिष्ठानों पर छापा मारा. आईटी की यह छापेमारी मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के थिम्मेगौड़ा के घर पर कुछ दिन पहले मुलाकात के बाद की गई है. इसके अलावा आयकर विभाग थिम्मेगौड़ा के अन्य नजदीकियों की कुंडली भी खंगाल रहा है.

इसके अलावा मांड्या के मद्दुर में जिला पंचायत अध्यक्ष और जेडीएस नेता नगारत्ना स्वामी के अलग-अलग ठिकानों पर आयकर विभाग की छापेमारी जारी है. हासन में लोक निर्माण मंत्री एचडी रेवन्ना के सहयोगियों के ठिकानों पर भी आयकर विभाग की छापेमारी हुई है, दूसरे चरण के चुनाव से दो दिन पहले आयकर विभाग की छापेमारी से राज्य में हड़कंप मचा हुआ है.

आईटी विभाग का कहना है कि मनी लॉन्ड्रिंग की शिकायत पर सार्वजनिक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) के इंजीनियरों और ठेकेदारों के घरों पर छापा मारा गया. छापेमारी की यह कार्रवाई पुख्ता सूचना मिलने के बाद की गई. विभाग को सूचना मिली थी कि इन सभी ने अपनी पूरी संपत्ति की घोषणा नहीं कर बारी मात्रा में कर चोरी की है. मंगलवार को आईटी की जद में आए लोग रियल एस्टेट, स्टोन क्रशिंग, सरकारी ठेकेदार और पेट्रोल पंप के धंधे से जुड़े हुए हैं. कुछ के संबंध कॉपरेटिव बैंकों से भी है.

बीजेपी ने कांग्रेस-जेडीएस पर ठेकेदारों के प्रवक्ता बनने का आरोप लगाया है. इससे पहले भी आईटी विभाग ने प्रदेश के कुल 24 ठिकानों पर छापेमारी की कार्रवाई की थी और इन ठिकानों से करीब 1.66 करोड़ की नकदी जब्त हुई थी.

First Published : 16 Apr 2019, 11:15:00 AM

For all the Latest Elections News, General Elections News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो