News Nation Logo
Banner

योगी के गढ़ गोरखपुर में बीजेपी को मात देने वाले MP प्रवीण निषाद BJP में शामिल

समाजवादी पार्टी से रिश्ता तोड़ने के बाद अब निषाद पार्टी (Nishad Party) के नेता प्रवीण निषाद ने बीजेपी का दामन थाम लिया है.

News Nation Bureau | Edited By : Drigraj Madheshia | Updated on: 04 Apr 2019, 01:43:35 PM
प्रवीण निषाद

प्रवीण निषाद

नई दिल्‍ली:

समाजवादी पार्टी से रिश्ता तोड़ने के बाद अब निषाद पार्टी (Nishad Party) के नेता प्रवीण निषाद ने बीजेपी का दामन थाम लिया है. पहले ऐसा कयास लगाया जा रहा था कि निषाद पार्टी का बीजेपी में विलय होगा, लेकिन जेपी नड्डा ने कहा कि राष्ट्रीय निषाद पार्टी NDA गठबंधन में हमारी सहयोगी बनी है. इसके साथ ही निषाद पार्टी के संस्थापक संजय निषाद के बेटे प्रवीण निषाद (Praveen Nishad) ने भारतीय जनता पार्टी की प्राथमिक सदस्यता हासिल की है. अब यह लगभग तय है कि प्रवीण निषाद के ऊपर गोरखपुर सीट से कमल खिलाने की जिम्‍मेदारी है. 

यह भी पढ़ेंः अखिलेश यादव के खिलाफ BJP का मास्‍टर स्‍ट्रोक, दिनेश लाल यादव 'निरहुआ' ठोकेंगे ताल, रायबरेली में सोनिया गांधी की घेराबंदी

बीजेपी के यूपी प्रभारी जेपी नड्डा ने संकेत दिए हैं कि प्रवीण निषाद बीजेपी के गोरखपुर से उम्मीदवार हो सकते हैं. जेपी नड्डा ने कहा कि निषाद पार्टी से गठबंधन होने से पूर्वांचल में बीजेपी और मजबूत होगी. उधर पार्टी के संस्थापक अध्यक्ष संजय निषाद मे कहा कि उत्‍तर प्रदेश में रामराज के साथ निषाद राज होगा. 

यह भी पढ़ेंः बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती ने दिया संकेत, वह भी प्रधानमंत्री पद की दावेदार

बता दें, प्रवीण निषाद ही जिन्होंने यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ की गोरखपुर सीट पर कब्जा जमाया था. योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद गोरखपुर सीट खाली हो गई थी. जिसके बाद इस सीट पर उपचुनाव हुए थे. उपचुनाव में समाजवादी पार्टी ने अपनी पार्टी चिन्ह्न पर प्रवीण निषाद को उतारा था. प्रवीण निषाद ने यहां से जीत हासिल की थी.

यह भी पढ़ेंः Loksabha Election 2019 : राजस्थान में नए सियासी गठबंधन का हुआ उदय, RLP अब BJP के साथ

लोकसभा उपचुनाव में गोरखपुर सीट पर बीजपी के उपेंद्र शुक्ला को 26000 वोटों से हराकर एक बड़ा उलटफेर किया था. गोरखपुर संसदीय सीट के लिए निषाद पार्टी इसलिए भी अहम है क्योंकि गोरखपुर में निषाद करीब 3.5 लाख है जो किसी भी पार्टी की हार जीत का फैसला करने में अहम है.

First Published : 04 Apr 2019, 01:43:19 PM

For all the Latest Elections News, General Elections News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो