News Nation Logo
Banner

महिला अपराध कम करने के बजाय ये क्‍या 'संकल्‍प' ले लिया BJP ने!

कई ट्विटर यूजर्स का मानना है कि मैनिफेस्टो में इतनी बड़ी गलती दिखाती है कि उसपर ध्यान नहीं दिया गया.

News Nation Bureau | Edited By : Sunil Mishra | Updated on: 09 Apr 2019, 10:06:19 AM
बीजेपी का संकल्‍प पत्र मंगलवार को जारी किया गया (PTI)

बीजेपी का संकल्‍प पत्र मंगलवार को जारी किया गया (PTI)

नई दिल्‍ली:

बीजेपी का संकल्‍प पत्र जारी होने के साथ ही गलतियों के चलते विवादों में घिर गया है. पहले संकल्‍प पत्र की जगह संकल्‍प पात्रा लिखा सामने आया था और अब जो चूक सामने आई है, उसके लिए विपक्षी दल बीजेपी को निशाने पर लेने लगे हैं. दरअसल बीजेपी के संकल्‍प पत्र में लिखा है: 'made strict provisions for transferring the laws in order to commit crimes against women (महिलाओं के खिलाफ अपराध करने के लिए कड़े कानून बनाने के प्रावधान). हालांकि इसे टाइपो एरर बताया जा रहा है, लेकिन इतने बड़े लेवल पर चुनाव लड़ने जा रही पार्टी के घोषणापत्र में इतनी भारी गलतियों को लेकर कई टि्वटर यूजरों ने निराशा जताई.

'महिलाओं सशक्‍तिकरण' टाइटल का 11वां प्वाइंट कहता है, ‘महिलाओं की सुरक्षा को ज्यादा प्राथमिकता दी जाएगी. हमने गृह मंत्रालय में महिला सुरक्षा डिविजन बनाया है और महिलाओं के खिलाफ अपराध करने के लिए कड़े कानून बनाने के प्रावधान बनाए जाएंगे.’

इसी वाक्‍य में, 'ट्रायल (trial) ऑफ रेप' को 'ट्रेल (trail) ऑफ रेप' लिखा गया है. कांग्रेस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल ने भी इस गलती को ट्वीट किया और लिखा, 'कम से कम बीजेपी मैनिफेस्टो में एक प्वाइंट उनके इरादों को दर्शाता है.'

कई ट्विटर यूजर्स का मानना है कि मैनिफेस्टो में इतनी बड़ी गलती दिखाती है कि उसपर ध्यान नहीं दिया गया.

First Published : 09 Apr 2019, 09:56:39 AM

For all the Latest Elections News, General Elections News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो