News Nation Logo
Banner

पीएम नरेंद्र मोदी के बनारस में दांव पर है कांग्रेस के 25 हज़ार, जानें कैसे

अगर पिछले चुनाव की बात करें तो कुल 42 प्रत्‍याशियों में से 40 की जमानत जब्‍त हो गई थी. इससे पहले 2009 में भी कांग्रेस उम्‍मीदवार के रूप में चुनाव लड़ चुके अजय राय अपनी जमानत जब्‍त करा चुके हैं.

By : Drigraj Madheshia | Updated on: 29 Apr 2019, 02:54:35 PM
चुनाव प्रचार के दौरान राहुल और प्रियंका

चुनाव प्रचार के दौरान राहुल और प्रियंका

नई दिल्‍ली:

इस बार काशी यानी बनारस का चुनाव बिना रस है. पिछली बार लोकसभा चुनाव 2014 में नरेंद्र मोदी के खिलाफ ताल ठोक कर आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल ने मुकाबले को रोचक बना दिया था. गठबंधन व कांग्रेस के प्रत्‍याशियों के कद को देखें तो लगता है की पीएम को वॉक ओवर दे दिया गया है. शुरू में प्रियंका गांधी के चुनाव लड़ने की चर्चाओं से लग रहा था कि इस बार भी मुकाबला रोचक होगा. लेकिन कांग्रेस ने एक बार फिर अजय राय को उतार कर 25000 दांव पर लगा दिया है.

जी हां, 25000. दरअसल ये वोट नहीं बल्‍कि जमानत राशि है जो कांग्रेस उम्‍मीदार अजय राय जमा करेंगे. अगर पिछले चुनाव की बात करें तो कुल 42 प्रत्‍याशियों में से 40 की जमानत जब्‍त हो गई थी. इससे पहले 2009 में भी कांग्रेस उम्‍मीदवार के रूप में चुनाव लड़ चुके अजय राय अपनी जमानत जब्‍त करा चुके हैं. 

2014 में बनारस में 58.3 % वोटिंग हुई थी

पार्टी उम्‍मीदवार वोट वोट%
बीजेपी नरेंद्र मोदी 581022 42.6
आप अरविन्द केजरीवाल 209238 20.3
कांग्रेस अजय राय 75614 7.4 ज़मानत ज़ब्त
बीएसपी विजय प्रकाश जायसवाल 60579 5.9 ज़मानत ज़ब्त

क्या होती है जमानत

चुनाव लड़ने के लिए हर प्रत्याशी को जमानत के रूप में चुनाव आयोग के पास एक निश्चित राशि जमा करनी होती है. जब प्रत्याशी निश्चित मत हासिल नहीं कर पाता तो उसकी जमानत जब्त हो जाती है. अर्थात वह राशि आयोग की हो जाती है. लोकसभा चुनाव में सामान्य उम्मीदवारों के लिए जमानत राशि 25 हजार तथा अनुसूचित जाति एवं जनजाति के लिए 12 हजार 500 रुपये जमानत की राशि निर्धारित है.

कब होती है जब्‍त

  • चुनाव लड़ रहे किसी उम्मीदवार को कुल पड़े वैध मतों का छठा हिस्सा हासिल करना ज़रूरी है
  • कुल पड़े वैध मतों का छठा हिस्सा 16.6 फीसदी होता है
  • अगर किसी उम्मीदवार को कुल मतों का 16.6 % वोट नहीं मिला तो ज़मानत ज़ब्त हो जाती है
  • यह राशि उम्मीदवार को लौटाने की बजाय राजकोष में जमा कर दी जाती है.



2009 का चुनाव परिणाम

पार्टी उम्‍मीदवार वोट वोट%
बीजेपी डॉ मुरली मनोहर जोशी 203,122 30.52
BSP मुख्तार अंसारी 185,911  27.94
SP  अजय राय 123,874 18.61
कांग्रेस डॉ राजेश कुमार मिश्रा  66,386 9.98 ज़मानत ज़ब्त

2004 में कांग्रेस की टिकट पर डॉ राजेश कुमार मिश्रा चुनाव लड़े और 32.68 % वोट पाकर जीते भी. बीजेपी के शंकर प्रसाद जैसवाल 23.61% वोट पाकर दूसरे स्‍थान पर रहे जबकि एडी के अतहर जमाल लारी ने 14.73% वोट बटोरे.

1999 में बीजेपी के शंकर प्रसाद जायसवाल 33.95 %, कांग्रेस के राजेश कुमार मिश्रा 25.48% और निरंजन राजभर ने 13.34 % वोट हासिल की

1998 में बीजेपी के शंकर प्रसाद जायसवाल 42.98% वोट पाकर जीते और CPM के दीनानाथ सिंह यादव 19.42% वोट पाकर दूसरे स्‍थान पर रहे. बीएसपी के डॉ अवधेश सिंह 15.66 % वोट पाकर अपनी जमानत नहीं बचा सके. कांग्रेस के डॉ रत्‍नाकर पांडेय को 9.95 फीसद वोट मिले और उनकी भी जमानत जब्‍त हो गई.

First Published : 27 Apr 2019, 06:56:22 PM

For all the Latest Elections News, General Elections News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो