News Nation Logo

बीजेपी ने फिर छोड़ा सिख दंगों का एक और जिन्न, जानें कांग्रेस की कैसे बढ़ी मुसीबत

बीजेपी ने पार्टी के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से राजीव गांधी का वह भाषण शेयर किया गया है जिसमें वह कहते पाए गए हैं, 'जब कोई बड़ा पेड़ गिरता है तो धरती हिलती ही है.'

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 11 May 2019, 08:11:14 AM
पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी

highlights

  • बीजेपी ने राजीव गांधी का वह भाषण शेयर किया है जिसमें वह कहते हैं, 'जब कोई बड़ा पेड़ गिरता है तो धरती हिलती ही है.'
  • यह तीसरा मौका है जब बीजेपी ने चुनाव के बीच पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को घसीटा है.
  • राजनीतिक गलियारे में 84 के सिख दंगों के बाद बोट क्लब पर राजीव गांधी की रैली भी दर्ज है.

नई दिल्ली.:

लोकसभा चुनाव के छठे चरण के मतदान से कुछ घंटों पहले 84 के सिख दंगों का जिन्न कांग्रेस के पीछे हाथ धोकर पड़ गया है. स्थिति यहां तक आन पड़ी की कांग्रेस विदेश सेल के सर्वेसर्वा सैम पित्रौदा के बयान से पार्टी को किनारा करना पड़ा. इसके बाद सैम पित्रौदा को सफाई देकर माफी मांगनी पड़ी. इसके बावजूद मामला ठंडा पड़ता नहीं प्रतीत हो रहा है. बीजेपी ने पार्टी के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से राजीव गांधी का वह भाषण शेयर किया गया है जिसमें वह कहते पाए गए हैं, 'जब कोई बड़ा पेड़ गिरता है तो धरती हिलती ही है.'

यह भी पढ़ेंः चीन को जवाब देने के लिए दक्षिण चीन सागर में उतरी Indian Navy, पढ़ें पूरी खबर

बीजेपी ने तीसरी बार राजीव गांधी पर हमला बोला
गौरतलब है कि राजीव गांधी का यह बयान 84 के सिख दंगों से जोड़ कर देखा जाता है. देश भर में सिख दंगे तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद भड़के थे. दिल्ली में दंगों को भड़काने के पीछे जगदीश टाइटलर से लेकर सज्जन कुमार, कमलनाथ और एचकेएल भगत तक के नाम आए. इन नेताओं का जिक्र बीजेपी की ओर से जारी वीडियो में भी किया गया है. यह तीसरा मौका है जब बीजेपी ने चुनाव के बीच पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को घसीटा है.

यह भी पढ़ेंः PepsiCo ने किसानों के खिलाफ दायर याचिका को बिना शर्त लिया वापस, पढ़ें पूरी खबर

वीडियो बना कांग्रेस के गले की फांस
गौरतलब है कि बीते हफ्ते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक रैली में कहा था कि राजीव गांधी की मौत 'भ्रष्टाचारी नंबर-1' के रूप में हुई है. उनके इस बयान की राहुल और प्रियंका गांधी सहित कई विपक्षी नेताओं ने निंदा की थी. इसके बाद पीएम मोदी ने दिल्ली के रामलीला मैदान में पीएम मोदी ने फिर राजीव गांधी पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि नेवी के युद्धपोत में आईएनएस विराट का इस्तेमाल पर्सनल टैक्सी के तौर पर किया गया. अब इस वीडियो के जरिये यह तीसरा हमला है.

यह भी पढ़ेंः सैम पित्रौदा ने सिख दंगों पर सफाई में अपनी कमजोर हिंदी को जिम्मेदार ठहरा मांगी माफी

बोट क्लब की रैली से भी बढ़ी राजीव के प्रति नाराजगी
राजनीतिक गलियारे में 84 के सिख दंगों के बाद बोट क्लब पर तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी की रैली भी दर्ज है. उस दिन राजीव गांधी ने इंदिरा गांधी की जयंती पर बोट क्लब पर अपना पहला भाषण दिया था, जिसमें उन्होंने सिख दंगों पर एक शब्द भी नहीं बोला. इसके बाद सिख समुदाय में राजीव गांधी के प्रति नाराजगी बढ़ती गई. माना गया कि राजीव की दंगाइयों के प्रति हमदर्दी थी और उन्होंने सिखों के कत्लेआम को गंभीरता से नहीं लिया.

First Published : 11 May 2019, 08:11:14 AM

For all the Latest Elections News, General Elections News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.