News Nation Logo
Banner

बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी की चुनाव आयोग से अपील, पश्चिम बंगाल में लगे राष्ट्रपति शासन

सुब्रमण्यम स्वामी ने न्यूज नेशन पर बयान दिया कि पश्चिम बंगाल में हालात खराब हैं. निष्पक्ष और शांत चुनाव के लिए चुनाव प्रक्रिया तक राष्ट्रपति शासन जरूरी है.

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 18 Apr 2019, 01:00:17 PM
सुब्रमण्यम स्वामी (फाइल फोटो)

सुब्रमण्यम स्वामी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

पश्चिम बंगाल में 6 चरण में मतदान हो रहे हैं. शुरुआती चरणों में सबसे ज्यादा हिंसा की घटनाएं पश्चिम बंगाल में हो रही हैं. आज भी वामपंथी नेता मोहम्मद सलीम पर हमला हुआ है. बीजेपी (BJP) से राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी का कहना है की चुनाव आयोग को पश्चिम बंगाल के हालात देखने चाहिए और वहां राष्ट्रपति शासन लगा देना चाहिए. निष्पक्ष और शांत चुनाव के लिए कम से कम चुनाव प्रक्रिया तक पश्चिम बंगाल में ममता सरकार की जगह राष्ट्रपति शासन जरूरी है.

यह भी पढ़ें: मथुरा: शादी के मंडप से दुल्हन को घर ले जाने की बजाय यहां लेकर पहुंचा दूल्हा, पढ़ें पूरी खबर

राम मंदिर का ना बनना, यूपी में करेगा नुकसान
सुब्रमण्यम स्वामी ने न्यूज नेशन पर बयान दिया कि उत्तर प्रदेश की जनता इस बात से जरूर दुखी होगी कि 5 साल सरकार रहने के बावजूद राम मंदिर का निर्माण नहीं हुआ. लेकिन मैं यूपी की जनता से यह कहना चाहता हूं कि बीजेपी को एक मौका और दीजिए इस बार राम मंदिर का निर्माण जरूर होगा. अगर बीजेपी अपने दम पर सत्ता में नहीं आ पाई तो एनडीए की सरकार बनेगी. शिवसेना जैसे गठबंधन के दलों की विचारधारा हमसे मिलती है और राम मंदिर बनाने में कोई समस्या नहीं आएगी.

यह भी पढ़ें: PM मोदी के बाद राहुल गांधी ने की वोटिंग की अपील, कहा- 'Nyay' के लिए करें Vote

20 हजार बेरोजगारों के लिए एक ही विकल्प है जेट एयरवेज राष्ट्रीयकरण
मैंने ही जेट एयरवेज के खिलाफ कोर्ट में याचिका दायर की थी और अब यह लगभग तय हो गया है कि मैं केस जीतने वाला हूं. पुरानी सरकार तो एयर इंडिया को बंद कराना चाहती थी, लेकिन अगर जेट एयरवेज में काम करने वाले 20,000 लोगों के लिए कुछ करना है, तो जेट का एयर इंडिया में विलय करके राष्ट्रीयकरण करना ही एकमात्र विकल्प है.

यह भी पढ़ें: बुलंदशहर में बीजेपी सांसद भोला सिंह नजरबंद, नहीं जा पाएंगे किसी बूथ पर

राहुल गांधी के पास ही रहे सत्ता
सोनिया गांधी इटली की मां है और इटली की मां हमेशा चाहती है कि उसके बेटे के पास ही शासन की शक्ति रहे. शायद इसीलिए ही प्रियंका को सिर्फ पूर्वी उत्तर प्रदेश का प्रभारी बनाया गया और वाराणसी से चुनाव लड़ने से रोका गया.

यह भी पढ़ें: Uttar Pradesh News Live: सुल्तानपुर से मेनका गांधी ने नामांकन दाखिल किया

First Published : 18 Apr 2019, 01:00:07 PM

For all the Latest Elections News, General Elections News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो