News Nation Logo
Banner

साध्वी प्रज्ञा के बाद सुमित्रा महाजन ने हेमंत करकरे पर दिया आपत्तिजनक बयान

सुमित्रा महाजन ने कहा कि हेमंत करकरे ड्यूटी के दौरान निधन हुआ था, इसलिए उन्हें शहीद माना जाएगा लेकिन एक एटीएस चीफ के तौर पर उनकी भूमिका ठीक नहीं थी.

News Nation Bureau | Edited By : Vineeta Mandal | Updated on: 30 Apr 2019, 12:58:03 PM
सुमित्रा महाजन ने शहिद हेमंत करकरे पर दिया विवादित बयान

सुमित्रा महाजन ने शहिद हेमंत करकरे पर दिया विवादित बयान

नई दिल्ली:

भोपाल से बीजेपी उम्मीदरवार और मालेगांव ब्लास्ट आरोपी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के बाद अब लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने भी शहीद हेमंत करकरे पर विवादित बयान दिया है. जिसके बाद एक बार फिर सियासी गलियारों में भूचाल सा आ गया है. वहीं विपक्षी पार्टियों ने भी बीजेपी और सुमित्रा महाजन पर निशाना साधना शुरू कर दिया है. सुमित्रा महाजन ने कहा कि हेमंत करकरे ड्यूटी के दौरान निधन हुआ था, इसलिए उन्हें शहीद माना जाएगा लेकिन एक एटीएस चीफ के तौर पर उनकी भूमिका ठीक नहीं थी.

एक अंग्रेजी अखबार से किए गए बातचीत के दौरान लोकसभा स्पीकर ने कहा, 'हेमंत करकरे के दो रूप थे. उनकी ड्यूटी के दौरान मौत हुई इसलिए वह शहीद हैं लेकिन एक पुलिस अधिकारी के तौर पर उनकी भूमिका सही नहीं थी.' इसके साथ ही उन्होंने कहा, ' उनके पास इस बात का सबूत नहीं लेकिन पता चला है कि उनका कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के साथ काफी अच्छे संबंध थे.

और पढ़ें: जब उमा भारती से मिली तो ऐसे फूट-फूटकर रोने लगी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर, देखें VIDEO

महाजन के इस बयान का जवाब देते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा है, 'सुमित्रा ताई, मुझे गर्व है कि अशोक चक्र विजेता शहीद हेमंत करकरे के साथ आप मुझे जोड़ती हैं। आपके साथी उनका अपमान भले ही करें, मुझे गर्व है कि मैं सदैव देशहित, राष्ट्रीय एकता और अखंडता की बात करने वालों के साथ रहा हूं.'

उन्होंने यह भी कहा, 'सुमित्रा ताई, मैं धार्मिक उन्माद फैलाने वालों के हमेशा खिलाफ रहा हूं. मुझे गर्व है कि मुख्यमंत्री रहते हुए मुझमें सिमी और बजरंगदल दोनों को बैन करने की सिफारिश करने का साहस था। मेरे लिए देश सर्वोपरि है, ओछी राजनीति नहीं.'

गौरतलब है कि इससे पहले  साध्वी प्रज्ञा ने मुंबई हमले में शहीद हुए हेमंत करकरे को लेकर कहा था, 'हेमंत करकरे ने मुझे गलत तरीके से फंसाया, मैंने कहा बताया था कि सर्वनाश होगा और ठीक सवा महीने बाद आतंकियों ने मार दिया. हेमंत करकरे मुझे यातनाएं देते थे. मुझसे कुछ भी पूछते थे. मैंने कहा कि तेरे सर्वनाश होगा और ठीक सवा महीने बाद आतंकियों ने मार दिया. जिस दिन मैं गई थी उस दिन सूतक लग गया था.' हालांकि अपने बयान के बाद हर तरफ से घिरने के बाद प्रज्ञा ठाकुर ने माफी मांग ली थी.

ये भी पढ़ें: साध्वी प्रज्ञा ने दिग्विजय सिंह पर साधा निशाना, कहा- कांग्रेसी आतंकियों के सामने... लगाते हैं

बता दें कि हिंदू आतंकवाद शब्द के जरिए देश की सियासत में खलबली मचा देने वाले कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) के खिलाफ बीजेपी ने कट्टर हिंदूवादी छवि वाली नेता साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को चुनावी मैदान में उतारा है. 

First Published : 30 Apr 2019, 10:59:29 AM

For all the Latest Elections News, General Elections News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो