logo-image
लोकसभा चुनाव

राजस्थान: चुनावी महासंग्राम में बीजेपी-कांग्रेस के बीच सोशल मीडिया पर हुए तेज हमले

चुनावी जंग जीतने के लिए कांग्रेस-बीजेपी शब्दों के हथियार से लैस हो चुकी हैं. एक दूसरे के खिलाफ शब्दों की ताबड़तोड़ मिसाइल दागी जा रही हैं.

Updated on: 04 May 2019, 08:55 AM

नई दिल्ली:

राजस्थान (Rajasthan) में लोकसभा की चुनावी जंग जीतने के लिए कांग्रेस-बीजेपी शब्दों के हथियार से लैस हो चुकी हैं. एक दूसरे के खिलाफ शब्दों की ताबड़तोड़ मिसाइल दागी जा रही हैं. खासकर दोनों ही दल ट्विटर पर एक-दूसरे के खिलाफ धारदार शब्दों से प्रहार करके जनता के बीच खुद को सही साबित करने में जुटे हैं. इस जंग में बीजेपी (BJP) कांग्रेस के मुकाबले काफी आगे निकलती दिख रही हैं. जहां बीजेपी हर घंटे वार कर रही हैं, वहीं कांग्रेस (Congress) चंद ट्वीट के जरिए ही अपना काम चला रही है.

दोनों ही दलों के पिछले 6 दिनों के ट्विटर हैंडल चेक किए तो इसमें कुछ तथ्य सामने आए. बीजेपी राजस्थान के ट्विटर हैंडल पर केंद्र सरकार की तमाम उपलब्धियों को गिनाया जा रहा है. किसान सम्मान निधि, अटल पेंशन योजना सहित तमाम योजनाओं का प्रचार किया जा रहा है. 55 साल बनाम 55 महीने की बात की जा रही है.

यह भी पढ़ें- वंशवाद की राजनीति में गरमाया राजस्थान, सीएम गहलोत ने कहा- पिता धर्म नहीं जानते पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi), गृह मंत्री राजस्थान सिंह, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, वित्त मंत्री अरुण जेटली, बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष अमित शाह के ट्वीट को रिट्विट करने सहित प्रत्याशियों के चुनाव प्रचार को भी ट्विटर हैंडल पर डाला जा रहा है. इतना ही नहीं बल्कि बीजेपी सरकार की ओर से प्रदेश सरकार की नाकामियों को गिनाया जा रहा है. पेयजल संकट, सीएम के क्षेत्र में एसिड अटैक से अन्य प्रमुख घटनाओं पर भी कांग्रेस को घेरा जा रहा है.

जबकि कांग्रेस के राजस्थान पीसीसी ट्विटर हैंडल पर प्रदेश सरकार के चार महीने में किए गए काम को ट्विटर पर शेयर किया जा रहा है. राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के ट्वीट को भी रिट्वीट किया जा रहा है. साथ ही राहुल की सभाओं के वीडियो अपलोड किए जा रहे है. इसके अलावा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट (Sachin Pilot) की सभाओं के फोटो भी प्रमुखता से ट्वीट किये जा रहे हैं.

यह भी पढ़ें- राजपूत समाज ने प्रशासन को दी चेतावनी, बोले राजपूतों ने हथियार को घर में रखा है, चलाना नहीं भूले हैं

गौरतलब है कि राजस्थान की 13 लोकसभा सीटों पर पहले चरण में मतदान हो चुका है, जबकि दूसरे चरण में प्रदेश की 12 सीटों पर मतदान 6 मई को होना है. ऐसे में सोशल मीडिया (Social Media) पर लगातार दोनों पार्टियां हमले तेज कर रही है, इसका मकसद जनता के बीच खुद को सही साबित करना है.

यह वीडियो देखें-