News Nation Logo
Banner

लोकसभा चुनाव लड़ रहीं 15% महिला प्रत्याशी हैं अपराधी, 36% हैं करोड़पति

एडीआर की रिपोर्ट के अनुसार कुल 716 महिला उम्मीदवारों में से 255 करोड़पति हैं. सबसे रईस प्रत्याशी बीजेपी की हेमा मालिनी हैं, जो मथुरा से तुनाव लड़ रही हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 18 May 2019, 10:18:20 AM
सांकेतिक चित्र

highlights

  • 11% महिला उम्मीदवारों ने गंभीर आपराधिक मामले घोषित किए हैं.
  • 2014 के लोकसभा चुनावों में दागी महिला उम्मीदवारों की संख्या 8% थी.
  • उत्तर प्रदेश में मथुरा से बीजेपी की हेमा मालिनी की संपत्ति 250 करोड़ है.

नई दिल्ली.:  

एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) की एक रिपोर्ट के अनुसार 2019 के लोकसभा चुनावों में किस्मत आजमा रही 716 महिला उम्मीदवारों में से 100 (15%) ने अपने खिलाफ आपराधिक मामले घोषित किए हैं, जबकि 78 (11%) ने अपने खिलाफ गंभीर आपराधिक मामले घोषित किए हैं. कांग्रेस की 54 महिला उम्मीदवारों में से 14 (26%), बीजेपी की 53 में से 18(34%), बीएसपी की 24 में से (8%), तृणमलू कांग्रेस की 23 में से 6 (26%) और 222 निर्दलीय महिला उम्मीदवारों में से 22 (10%) ने अपने खिलाफ आपराधिक मामले घोषित किए हैं.

यह भी पढ़ेंः केदारनाथ पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी, करेंगे विशेष पूजा

गंभीर आपराधिक मामले हैं दर्ज
कांग्रेस की 54 में से 10 (19%), बीजेपी की 53 में से 13 (25%), बीएसपी के 24 में से 2 (8%), टीएमसी की 23 में से 4 (17%) और 222 निर्दलीय में से 21 (10%) महिला उम्मीदववारों ने अपने हलफनामों में खुद के खिलाफ गंभीर आपराधिक मामले घोषित किए हैं. नेशनल इलेक्शन वॉच और एडीआर ने लोकसभा चुनाव में प्रत्याशी 724 महिला उम्मीदवारों में से 716 के हलफनामों का विश्लेषण किया है.

यह भी पढ़ेंः आंध्र प्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू मिशन महागठबंधन पर निकले, गैर बीजेपी सरकार की कवायद शुरू

2014 में सिर्फ 8 फीसदी थीं अपराधी महिलाएं
716 महिला उम्मीदवारों में से 94 ने चुनाव के पहले चरण में, 124 ने दूसरे, 142 ने तीसरे, 96 ने चौथे, 80 ने पांचवें और 84 ने छठे चरण में भाग लिया. 96 महिला उम्मीदवार, जिन्होंने खुद के खिलाफ आपराधिक मामले घोषित किए हैं, चुनाव के अंतिम चरण में भाग ले रही हैं. इलेक्शन वाचडॉग की रिपोर्ट में कहा गया है कि 78 (11%) महिला उम्मीदवारों ने गंभीर आपराधिक मामले घोषित किए हैं, जिनमें रेप, हत्या, हत्या का प्रयास, महिलाओं के खिलाफ अपराध आदि मामले शामिल हैं. 2014 के लोकसभा चुनावों में ऐसी महिला उम्मीदवारों की संख्या 51 (8%) थी.

यह भी पढ़ेंः दिल्ली : फिल्मी अंदाज में कार ओवरटेक कर युवक को मारी चार गोलियां, फिर हुए फरार

दो तो हैं सजायाफ्ता
दो महिला उम्मीदवारों ने खुद के खिलाफ सजायाफ्ता मामलों की घोषणा की है, चार पर हत्या के आरोप हैं, 16 पर हत्या के प्रयास का आरोप है, 14 पर महिलाओं के खिलाफ अपराध के मामले, जैसे- महिला की सहमति के बिना गर्भपात, जबकि सात पर नफरत के मामले दर्ज हैं.

यह भी पढ़ेंः लोकसभा चुनाव 2019: आखिरी चरण 19 मई को, PM मोदी समेत इन दिग्गजों की साख दांव पर

255 महिला प्रत्याशी हैं करोड़पति
एडीआर के अनुसार कुल 716 महिला उम्मीदवारों में से 255 (36%) करोड़पति हैं. कांग्रेस की 54 में से कुल 44 (82%), बीजेपी ने 53 में से 44 (83%), टीएमसी के 23 में से 15 (65%), बीएसपी की 24 में से 9 (38%) और 222 निर्दलीय में से 43 (19%) महिलाओं उम्मीदवारों ने 1 करोड़ रुपये से अधिक संपत्ति की घोषित की है.

यह भी पढ़ेंः उन्नाव में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे पर दिखा रफ्तार का कहर, बस पलटने से 5 लोगों की मौत

कांग्रेस प्रत्याशियों की औसत संपत्ति 18.84 करोड़
कांग्रेस की 54 महिला उम्मीदवारों की औसत संपत्ति 18.84 करोड़ रुपये है. 53 बीजेपी महिला उम्मीदवारों के पास 22.09 करोड़ रुपये, 24 बीएसपी महिला उम्मीदवारों के पास 3.03 करोड़ रुपये, 23 टीएमसी महिला उम्मीदवारों के पास 2.67 करोड़ रुपये, 10 CPI (M) महिला उम्मीदवारों के पास 1.33 करोड़ रुपये, छह एसपी महिला उम्मीदवारों के पास 39.85 करोड़ रुपये, तीन आप महिला उम्मीदवारों के पास 2.92 करोड़ रुपये और 222 निर्दलीय उम्मीदवारों के पास 1.63 करोड़ रुपये की औसत संपत्ति है.

यह भी पढ़ेंः अपने से बड़े से व्यक्ति के साथ रोमांस करना गलत नहीं- रकुल प्रीत सिंह

हेमा मालिनी हैं सबसे अमीर
उत्तर प्रदेश में मथुरा लोकसभा सीट से बीजेपी की हेमा मालिनी (250 करोड़ रुपये), आंध्र प्रदेश के लोकसभा सीट से टीडीपी की डीए सत्यप्रभा (220 करोड़ रुपये) और पंजाब के भटिंडा से शिरोमणि अकाली दल की हरसिमरत कौर बादल (217 करोड़ रुपये) चुनाव लड़ने वाली तीन सबसे अमीर महिला उम्मीदवार हैं.

First Published : 18 May 2019, 10:18:20 AM

For all the Latest Elections News, General Elections News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.