News Nation Logo
Banner

बिहारः पहले चरण में गठबंधनों के बीच होगी सियासी जंग, इन चेहरों की प्रतिष्‍ठा दांव पर

लोकसभा चुनाव 2019 में बिहार की सियासी लड़ाई दो गठबंधनों के बीच है. पहले चरण में बिहार की नवादा, गया, जमुई और औरंगाबाद सीट पर 11 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे.

By : Drigraj Madheshia | Updated on: 09 Apr 2019, 07:52:48 AM

नई दिल्‍ली:

लोकसभा चुनाव 2019 में बिहार की सियासी लड़ाई दो गठबंधनों के बीच है. पहले चरण में बिहार की नवादा, गया, जमुई और औरंगाबाद सीट पर 11 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे. पहले चरण में NDA और महागठबंधन की प्रतिष्ठा भी दांव पर है. कांग्रेस इस फेज में किसी भी सीट पर चुनाव नहीं लड़ रही है.

झारखंड से लगी हुई बिहार की इन चार सीटों पर पहले चरण में चुनाव हो रहे हैं. ये सभी सीटों पर नक्सलियों का प्रभाव है. 2014 के लोकसभा चुनाव में सभी सीटें एनडीए (NDA) के खाते में गई थीं. वह तब जब जदयू (JDU) अलग चुनाव लड़ रही थी . बीजेपी (BJP) ने गया, नवादा और औरंगाबाद सीट पर जीत हासिल की थी. जबकि एलजेपी (LJP) ने जमुई सीट पर कब्‍जा जमाया.

लोकसभा चुनाव 2019 में एनडीए की ओर से नवादा और जमुई सीट पर एलजेपी चुनावी मैदान में है. गया सीट पर जेडीयू और औरंगाबाद सीट पर बीजेपी चुनाव लड़ रही है.
महागठबंधन की ओर से औरंगाबाद और गया सीट पर जीतन राम मांझी की पार्टी हिंदुस्तान आवाम मोर्चा चुनाव लड़ रही है. जबकि नवादा सीट पर आरएलडी और जमुई सीट पर आरएलएसपी चुनावी मैदान में है.

नवादा

नवादा सीट पर एनडीए की ओर से एलजेपी ने बाहुबली सूरजभान सिंह के भाई चंदन सिंह वहीं महागठबंधन की ओर से आरजेडी ने राजबल्लभ यादव की पत्नी विभा देवी पर दांव लगाया है. हालांकि इस सीट पर और भी उम्मीदवार हैं, लेकिन एलजेपी और आरजेडी के बीच सीधी लड़ाई होने के साथ-साथ दो बाहुबलियों के बीच भी वर्चस्व की जंग है.

2014 का परिणाम

बीजेपी के गिरिराज सिंह ने आरजेडी के राजवल्लभ यादव को 1 लाख 40 हजार मतों से मात दी थी. वहीं जेडीयू के कौशल यादव को 1 लाख 68 हजार 217 वोट मिले थे. इस बार के रण में यादव समुदाय से इकलौते उम्मीदवार हैं. ऐसे में यादव वोटों के बिखराव की बहुत कम संभावना मानी जा रही है. जबकि गिरिराज सिंह की जगह चंदन सिंह मैदान में है.

  • BJP के गिरिराज सिंह को कुल 390,248 वोट मिले और 23% मतों पर कब्‍जा जमाया
  • RJD के राज बल्लभ प्रसाद को 250,091 वोट मिले और यह कुल पड़े मतों का 14% था
  • JDU के कौशल य़ादव को 168,217 वोट मिले और यह कुल पड़े मतों का 9% था
  • महिला मतदाता 797,019
  • पुरुष मतदाता 897,821
  • कुल मतदाता 1,694,895

औरंगाबाद

राजपूत बहुल कांग्रेस की परंपरागत सीट औरंगाबाद लोकसभा सीट पर बीजेपी ने अपने मौजूदा सांसद सुशील कुमार को उतारा है. जबकि महागठंबन की ओर से हिंदुस्तान आवाम मोर्चा (HAM) ने उपेंद्र प्रसाद पर दांव लगाया है. हालांकि इस सीट पर 9 प्रत्याशी मैदान में हैं, लेकिन मुख्य मुकाबला बीजेपी बनाम हम के बीच है.

इस बार गठबंधन में मांझी के पार्टी के खाते में गई है. ऐसे में महागठबंधन को इस सीट पर कांग्रेस की नाराजगी उठानी पड़ सकती है. जबकि बीजेपी इस बार जेडीयू के साथ गठबंधन होने के नाते बड़ी जीत की उम्मीद लगाए हुए हैं. लेकिन महागठबंधन ने जिस तरह राजनीतिक समीकरण सेट किए हैं, ऐसे सीधी लड़ाई दिखाई दे रही है.

2014 का परिणाम: पिछले चुनाव में बीजेपी के सुशील कुमार सिंह को 307,941(20%), कांग्रेस के निखिल कुमार को 241,594 (15%) और JDU से बागी कुमार वर्मा को 136,137 (8%) वोट मिले थे.

  • महिला मतदाता 710,533
  • पुरुष मतदाता 825,574
  • कुल मतदाता 1,536,153

जमुई

जमुई लोकसभा सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है. एनडीए की ओर से इस पर एलजेपी ने रामविलास पासवान के बेटे चिराग पासवान को दूसरी बार मैदान में उतरा है. जबकि, महागठबंधन की ओर से आरएलएसपी ने अपने प्रदेश अध्यक्ष भूदेव सिंह को उतारा है.

2014 का परिणाम

2014 के लोकसभा चुनाव में चिराग पासवान ने 85 हजार 945 मतों से जीत हासिल की थी. आरएलएसपी कुशवाहा, यादव, निषाद, मुस्लिम मतों के साथ-साथ दलितों को अपने पाले में लाकर चिराग को मात देना चाहती है. हालांकि एलजेपी के पास अपने परंपरागत वोट होने के साथ-साथ बीजेपी और जेडीयू के वोटबैंक भी हैं.

  • LJP के चिराग पासवान को कुल 285,354 वोट मिले जो कुल पड़े वोटों का 18% था.
  • RJD के सुधांशु शेखर भास्कर ने 199,407 वोट हासिल किए जो कुल पड़े वोटों का 12% था
  • JDU के उदय नारायण चौधरी 198,599 वोट पाकर तीसरे स्‍थान पर रहे जो कुल पड़े वोटों का 12% था
  • महिला मतदाता 722,499
  • पुरुष मतदाता 828,406
  • कुल मतदाता 1,550,936

गया

गया लोकसभा सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है. ये सीट एनडीए के तहत जेडीयू के खाते में गई है और विजय कुमार मांझी मैदान में हैं. महागठबंधन की ओर इस सीट पर हिंदुस्तान आवाम मोर्चा के जीतन राम मांझी खुद मैदान में हैं.

2014 का परिणाम

2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी के हरी मांझी ने जीत हासिल की थी और जीतन राम मांझी तीसरे नंबर पर रहे थे. लेकिन इस बार उन्हें आरजेडी का समर्थन हासिल है. ऐसे में वो यादव, मुस्लिम और अपने मुसहर जाति के वोटों के सहारे जीतना चाहते हैं. बीजेपी के परंपरागत वोटों के सहारे जेडीयू के विजय मांझी जीत की उम्मीद लगाए हुए हैं.

  • BJP के हरी मांझी को कुल 326,230 वोट मिले और 21% मत पाए
  • RJD के रामजी मांझी को कुल 210,726 और 14% मत मिले
  • JDU के जीतन राम को कुल मांझी 131,828 मत मिले और 8% वोट शेयर किए
  • महिला मतदाता 702,311
  • पुरुष मतदाता 799,210
  • कुल मतदाता 1,501,521

पहले चरण में एनडीए के तीनों पार्टियां जहां चुनावी मैदान में हैं. वहीं, महागठबंधन के सहयोगी दलों में आरजेडी, आरएलएसपी और हिंदुस्तान आवाम मोर्चा चुनावी लड़ रही हैं, लेकिन कांग्रेस और वीआईपी पार्टी पहले दौर में किसी भी सीट पर नहीं है. हालांकि उनका समर्थन महागठबंधन को है.

First Published : 03 Apr 2019, 01:36:57 PM

For all the Latest Elections News, Election Analysis News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो