News Nation Logo

आदमपुर सीट: पूर्व सीएम भजनलाल की विरासत को चुनौती दे रहीं हैं टिक-टॉक स्टार सोनाली फोगाट

कभी हरियाणा की राजनीति में भजनलाल की तूती बोलती थी. दो बार राज्‍य के मुख्‍यमंत्री रहे भजनलाल के परिवार में ही हिसार जिले के आदमपुर सीट रही.

न्‍यूज स्‍टेट ब्‍यूरो | Edited By : Drigraj Madheshia | Updated on: 16 Oct 2019, 04:17:44 PM
कुलदीप विश्‍नोई Vs सोनाली फोगाट

नई दिल्‍ली:  

Assembly Election 2019 Adampur Seat: कभी हरियाणा की राजनीति में भजनलाल की तूती बोलती थी. दो बार राज्‍य के मुख्‍यमंत्री रहे भजनलाल के परिवार में ही हिसार जिले के आदमपुर सीट रही. उनके परिवार को 1968 के बाद से कभी हार सा सामना नहीं करना पड़ा. अब इनके खिलाफ टिक-टॉक स्टार सोनाली फोगाट को बीजेपी ने मैदान में उतारा है. विधानसभा चुनाव में अपना पारिवारिक गढ़ बचाने के लिए भजनलाल के पुत्र कुलदीप विश्नोई कांग्रेस प्रत्याशी के तौर पर मैदान में उतरे हैं.

कुलदीप बिश्नोई का जन्म साल 1968 में आदमपुर गांव में हुआ था. पूर्व सीएम भजनलाल के बेटे कुलदीप बिश्नोई एक वक्त अपने आप को सीएम के दावेदार के तौर पर पेश किया करते थे. 1998 में कुलदीप बिश्नोई ने राजनीति में कदम रखा और पिता की विरासत को आगे बढ़ाते हुए आदमपुर से विधायक चुने गए. 2004 में कुलदीप बिश्नोई पहली बार संसद में पहुंचे. 2005 में उनके पिता भजनलाल मुख्‍यमंत्री नहीं बन पाए तो कुलदीप बिश्नोई बगावत पर उतर आए.

यह भी पढ़ेंः हरियाणा विधानसभा चुनाव: टिक-टॉक (TikTok) स्‍टार सोनाली फोगाट (Sonali Phogat) ने इन नेताओं को पीछे छोड़ा, गूगल सर्च में निकलीं आगे

दो साल बाद कुलदीप बिश्नोई ने हरियाणा में हरियाणा जनहित कांग्रेस पार्टी बनाई. 2009 के विधानसभा चुनाव में हरियाणा जनहित कांग्रेस पार्टी को 6 सीटें मिलीं. 40 सीट पाकर कांग्रेस बहुमत से दूर रही और सत्‍ता की चाबी कुलदीप बिश्नोई के हाथ में आ गई. लेकिन उनकी पार्टी के 5 विधायकों ने कांग्रेस का हाथ थाम लिया.

यह भी पढ़ेंः Haryana Assembly Election: तो क्‍या इस बार ताऊ देवीलाल का रिकॉर्ड तोड़ देगी बीजेपी

पिछले चुनाव हरियाणा जनहित कांग्रेस पार्टी के तले चुनाव लड़े कुलदीप 17 हजार 249 वोटों से चुनाव जीते थे और उनकी पत्नी हांसी सीट से विधायक निर्वाचित हुई थीं। पार्टी को प्रदेश की 89 सीटों पर कुल 3.6 फीसदी वोट मिले थे और वह भाजपा, इनेलो, कांग्रेस के बाद चौथे नंबर पर रही थी।

कुलदीप का सफर

  • 2011 में भजनलाल के निधन के बाद हिसार लोकसभा सीट खाली हो गई.
  • कुलदीप बिश्नोई ने उप चुनाव में जीत हासिल की और दूसरी बार लोकसभा पहुंचने में कामयाब हुए.
  • कुलदीप बिश्नोई को 2014 के लोकसभा चुनाव में भी हार का सामना करना पड़ा.
  • 2014 के विधानसभा चुनाव में कुलदीप बिश्नोई की पार्टी सिर्फ दो सीटों पर जीत दर्ज कर पाई.
  • 2016 में कुलदीप बिश्नोई ने अपनी पार्टी हरियाणा जनहित कांग्रेस का इंडियन नेशनल कांग्रेस में विलय कर दिया. 2019 के लोकसभा चुनाव में कुलदीप बिश्नोई के बेटे भव्य बिश्नोई हिसार से तीसरे नंबर पर रहे.

सोनाली फोगाट

सोनाली फोगाट पहली बार चुनाव लड़ रही हैं. उन्‍होंने बताया कि वह अभिनय की वजह से राजनीति में आईं. उन्होंने कहा, 'मैं दिल्ली में जब काम कर रही थी, उस समय बीजेपी के ऐसे कुछ लोगों से मुलाकात हुई, जिनसे मैं बहुत प्रभावित हुई. सुमित्रा महाजन, सुषमा स्वराज के काम को लेकर अच्छा लगा. मुझे भी लगा कि ऐसा काम करना चाहिए.' सोनाली अभिनेत्री भी हैं और उन्होंने छोटे पर्दे पर कई धारावाहिकों में भी काम किया है.वह हरियाणा के फतेहाबाद की रहने वाली हैं. उनके पति संजय फोगाट की मृत्यु साल 2016 में हो गई थी.सोनाली की एक बेटी है, जो स्कूली पढ़ाई कर रही है.

First Published : 16 Oct 2019, 04:17:44 PM

For all the Latest Elections News, Assembly Elections News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.