News Nation Logo
Banner

Tamil Nadu Assembly Elections 2021: तमिलनाडु विधानसभा चुनाव में इन पांच चेहरे पर है सबकी नजर

Tamil Nadu Assembly Elections 2021: 2016 के तमिलनाडु विधानसभा चुनाव में कुल 234 सीट में से डीएमके गठबंधन को 98 सीट पर जीत हासिल हुई थी. वहीं एआईएडीएमके (AIADMK) गठबंधन ने 134 सीटों पर जीत हासिल की थी.

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 02 May 2021, 04:30:00 AM
Tamil Nadu Assembly Elections 2021

Tamil Nadu Assembly Elections 2021 (Photo Credit: NewsNation)

highlights

  • ई के पलानीस्वामी (Edappadi K Palaniswami) अपने गृह जिले सेलम के इडाप्पडी विधानसभा क्षेत्र से मैदान में थे
  • एम के स्टालिन द्रमुक के अध्यक्ष और तमिलनाडु विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष कोलाथुर विधानसभा सीट से अपनी किस्मत आजमा रहे हैं

चेन्नई :

Tamil Nadu Assembly Elections 2021: तमिलनाडु विधानसभा चुनाव को लेकर हुए एग्जिट पोल इस बार प्रदेश में सत्ता परिवर्तन की ओर इशारा कर रहे हैं. कई सर्वे एजेंसियों ने इस बार के चुनाव में तमिलनाडु में डीएमके-कांग्रेस गठबंधन को भारी जीत का अनुमान लगाया है. एग्जिट पोल्स के मुताबिक डीएमके-कांग्रेस गठबंधन को 150-170 सीटें मिलने का अनुमान है. बता दें कि अगर एग्जिट पोल के नतीजे सही रहते हैं तो दस साल बाद डीएमके गठबंधन की सत्ता में वापसी होगी. वहीं सत्ताधारी एआईएडीएमके-बीजेपी गठबंधन 58-68 सीटों पर सिमट सकती है. बता दें कि तमिलनाडु विधानसभा के एग्जिट पोल में इस बार डीएमके के जीत का अनुमान लगाया जा रहा है. अब सभी की नजर अब नतीजों पर है, जो 2 मई को घोषित किए जाएंगे. बता दें कि बीते 6 अप्रैल को 234 विधानसभा सीट वाले तमिलनाडु में एक चरण में वोटिंग हुई थी और 71.79 फीसदी लोगों ने मतदान किया था. यहां मुख्य मुकाबला एआईएडीएमके-बीजेपी गठबंधन और कांग्रेस-डीएमके गठबंधन के बीच है. बता दें कि 2016 के तमिलनाडु विधानसभा चुनाव में कुल 234 सीट में से डीएमके गठबंधन को 98 सीट पर जीत हासिल हुई थी. वहीं एआईएडीएमके (AIADMK) गठबंधन ने 134 सीटों पर जीत हासिल की थी.

ई के पलानीस्वामी (मुख्यमंत्री)
तमिलनाडु के मुख्यमंत्री और अन्नाद्रमुक के संयुक्त समन्वयक ई के पलानीस्वामी (Edappadi K Palaniswami) अपने गृह जिले सेलम के इडाप्पडी विधानसभा क्षेत्र से मैदान में हैं. उनका मुकाबला द्रमुक के युवा नेता टी सम्पत कुमार (37) से था. बता दें कि पहली बार पहली बार 1989 में  पलानीस्वामी इडाप्पडी से विधायक चुने गए थे. पलानीस्वामी को यहां से चार बार जीत हासिल हुई है. वहीं दो बार हार का स्वाद भी चखना पड़ा है. पलानीस्वामी का जन्म 2 मार्च, 1954 को तमिलनाडु के सलेम जिले में हुआ था. छात्र राजनीति से शुरुआत करने वाले पलानीस्वामी 1974 में AIADMK से जुड़े.  2017 में पलानीस्वामी तमिलनाडु के मुख्यमंत्री बने थे.

ओ पन्नीरसेल्वम (उपमुख्यमंत्री)
ओ पन्नीरसेल्वम (O Panneerselvam) तमिलनाडु के उपमुख्यमंत्री हैं. पन्नीरसेल्वम बोडीनायकनुर विधानसभा सीट (Bodinayakanur Assembly Election) से अपनी किस्मत आजमा रहे हैं. पन्नीरसेल्वम अखिल भारतीय अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कझागम (AIDMK) के समन्वयक हैं. बता दें कि बोडीनायकनुर विधानसभा सीट तमिल नाडु की महत्वपूर्ण विधानसभा सीट है. बोडीनायकनुर विधानसभा सीट तमिल नाडुके थेनी जिले में आती है . साल 2016 में अखिल भारतीय अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम ने जीत दर्ज की थी.  2016 में बोडीनायकनुर में कुल 49.86 प्रतिशत वोट पड़े थे. उपमुख्यमंत्री पन्नीरसेल्वम बोडीनायकनुर विधानसभा सीट से अपनी किस्मत आजमा रहे हैं. पन्नीरसेल्वम जयललिता के विश्वासपात्र लोगों में से एक माने जाते थे. इसीलिए जयललिता के निधन के बाद उन्हें कार्यवाहक मुख्यमंत्री बनाया गया था. लेकिन बाद में पलानीस्वानी के साथ वर्चस्व की जंग में उन्हें मुख्यमंत्री की कुर्सी छोड़नी पड़ी थी. बोडीनायकनुर विधानसभा सीट पर ओ पन्नीरसेल्वम का मुकाबला द्रमुक के थंगा तमिलसेल्वन से है. पन्नीरसेल्वम 2011 और 2016 में इस सीट से चुनाव जीत चुके हैं.

एम के स्टालिन (नेता प्रतिपक्ष, द्रमुक)
मुथुवेल करुणानिधि स्टालिन-एम के स्टालिन (M K Stalin) द्रमुक के अध्यक्ष और तमिलनाडु विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष हैं. द्रमुक के दिवंगत नेता एम करुणानिधि के तीसरे पुत्र स्टालिन कोलाथुर विधानसभा सीट से अपनी किस्मत आजमा रहे हैं. अन्नाद्रमुक के अधिराजराम और एमएनएम के ए जगदीश से एम के स्टालिन का मुकाबला है. 2011 और 2016 में इस सीट से एम के स्टालिन चुनाव जीत चुके हैं. स्टालिन ने राजनीति में आने से पहले फिल्मों में काम किया है. 1980 के दशक के दौरान उन्होंने कुछ तमिल फिल्मों में काम किया है. 1990 के दशक में उन्होंने सन टीवी के टेलीविजन धारावाहिकों में भी अभिनय किया है. स्टालिन ने चेन्नई में मद्रास विश्वविद्यालय के नंदनम आर्ट्स कॉलेज से इतिहास में अपनी स्नातक स्तर की पढ़ाई पूरी की है. उनका राजनीतिक करियर 14 वर्ष की आयु में 1967 के चुनावों में प्रचार के साथ शुरू हुआ था. 1973 में स्टालिन को द्रविड़ मुनेत्र कझगम (डीएमके) की आम समिति में निर्वाचित किया गया था.

टीटीवी दिनाकरन 
शशिकला (T T V Dhinakaran) के भतीजे टीटीवी दिनाकरन अपनी पार्टी अम्मा मक्कल मुनेत्र कषगम (एएमएमके) के बैनर तले कोविलपट्टी सीट से चुनाव लड़ेंगे. वह राज्य के सूचना मंत्री व बाहुबली नेता कादंबर सी राजू  (C. Raju) के खिलाफ चुनाव लड़ेंगे. कोविलपट्टी विधानसभा सीट तमिल नाडु की महत्वपूर्ण विधानसभा सीट है, जहां 2016 में अखिल भारतीय अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम ने जीत दर्ज की थी. कोविलपट्टी विधानसभा सीट (Kovilpatti Assembly Seat)  तमिल नाडुके थूथुकुडी जिले में आती है. 2016 में कोविलपट्टी में कुल 39.52 प्रतिशत वोट पड़े 2016 में अखिल भारतीय अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम से सी. कदंबुर राजू ने द्रविड़ मुनेत्र कषगम के A.subramanian को 428 वोटों के मार्जिन से हराया था. कोविलपट्टी विधानसभा सीट थूथुकुडी के अंतर्गत आती है. इस संसदीय क्षेत्र से सांसद हैं ए कनिमोझी, जो द्रविदा मुनेत्रा कज़ागम से हैं.  उन्होंने भारतीय जनता पार्टीके डॉ तमिलिसाई साउंडराजन को 347209 से हराया था. 

कमल हासन (फिल्म अभिनेता, मक्कल निधि मय्यम, एमएनएम प्रमुख) 
मक्कल निधि मय्यम (MNM) पार्टी के संस्थापक और फिल्म अभिनेता कमल हासन (Kamal Haasan) तमिलनाडु विधानसभा चुनाव में कोयंबटूर दक्षिण विधानसभा सीट से चुनावी मैदान में हैं. कमल हासन का मुकाबला कांग्रेस के एस जयकुमार और भारतीय जनता पार्टी की वानथी श्रीनिवासन से है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 02 May 2021, 04:30:00 AM

For all the Latest Elections News, Assembly Elections News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.