News Nation Logo

Puducherry Assembly Election2021: क्या पुडुचेरी में बीजेपी अगली सरकार का हिस्सा होगी?

पुडुचेरी में बीजेपी के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की जीत की भविष्यवाणी करने वाले जनमत सर्वेक्षण और एग्जिट पोल के अनुसार, क्या पुडुचेरी में बीजेपी अगली सरकार का हिस्सा होगी, इस बारे में जल्द ही पता चल जाएगा.

News Nation Bureau | Edited By : Vineeta Mandal | Updated on: 02 May 2021, 11:35:57 AM
bjp

Puducherry Assembly Election Result 2021 (Photo Credit: सांकेतिक चित्र)

highlights

  • 2016 के चुनाव में कांग्रेस ने 15 सीटों पर जीत दर्ज की थी. कांग्रेस ने डीएमके साथ मिलकर सरकार बनाई थी
  • 985 में  पहली बार एमओएच फारूक की कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में इसका इस्तेमाल किया गया था
  • पुडुचेरी में 6 अप्रैल को चुनाव हुआ था और मतदान का प्रतिशत 81.69 था

 

नई दिल्ली:

पुडुचेरी में बीजेपी के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की जीत की भविष्यवाणी करने वाले जनमत सर्वेक्षण और एग्जिट पोल के अनुसार, क्या पुडुचेरी में बीजेपी अगली सरकार का हिस्सा होगी, इस बारे में जल्द ही पता चल जाएगा. बीजेपी को इन सभी सालों में तमिलनाडु और पुडुचेरी में पहचान बनाने में मुश्किल हो रही है. पुडुचेरी में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) में अखिल भारतीय एनआर कांग्रेस (16 सीटों पर चुनाव), बीजेपी (9) और एआईएडीएमके(5) शामिल है. 30 सदस्यीय विधानसभा के लिए एनडीए की प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस गठबंधन में कांग्रेस (14 सीटें), डीएमके (13), सीपीआई (1), वीसीके (1) और एक निर्दलीय (1) शामिल हैं. यहां 6 अप्रैल को चुनाव हुआ था और मतदान का प्रतिशत 81.69 था.

और पढ़ें: रुझान से इन राज्यों में सत्ता बदलाव के आसार, यहां सत्ता पक्ष को बहुमत

राजनीतिक विश्लेषक कोलाहल श्रीनिवास ने बताया, "ऐसी सरकार को देखना दिलचस्प होगा, जिसका हिस्सा बीजेपी होगी. यह पहली बार होगा जब बीजेपी तमिल भाषी राज्य में सरकार का हिस्सा होगी." उन्होंने यह भी कहा कि बीजेपी अगली सरकार का हिस्सा होगी या नहीं, यह चुनाव परिणाम पर निर्भर करता है कि अखिल भारतीय एन आर कांग्रेस कैसा प्रदर्शन करती है.

पुडुचेरी में कुल 30 विधानसभा सीट

बता दें कि पुडुचेरी में कुल 30 विधानसभा सीट है. पुडुचेरी विधानसभा में तीन सदस्य को नामित किया जाता है. 1963 में तीन सदस्यों को नामित करने का प्रविधान किया गया था. 1985 में  पहली बार एमओएच फारूक की कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में इसका इस्तेमाल किया गया था और उस समय से अभी तक यह लगातार जारी है.

2016 के कांग्रेस को मिली थी 15 सीट

2016 के चुनाव में कांग्रेस ने 15 सीटों पर जीत दर्ज की थी. कांग्रेस ने डीएमके साथ मिलकर सरकार बनाई थी. मुख्य विपक्षी दल एआईएनआरसी को 8 सीटों पर जीत मिली थी. बता दें कि कांग्रेस और डीएमके गठबंधन सरकार के कई विधायकों के द्वारा इस्‍तीफा दिए जाने की वजह से सदन में वी. नारायणसामी के नेतृत्व वाली सरकार का संख्या बल सिर्फ 11 रह गया था. विपक्ष के पास मौजूदा समय में 14 विधायक थे.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 02 May 2021, 11:33:04 AM

For all the Latest Elections News, Assembly Elections News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.