News Nation Logo

गोरियाकोठी विधानसभा सीट : जहां हर बार होता है सत्ता का हस्तांतरण

सिवान जिले अंतर्गत महाराजगंज संसदीय क्षेत्र में आने वाले गोरियाकोठी विधानसभा सीट पर कभी भी किसी एक पार्टी का दबदबा नही रहा है.

News Nation Bureau | Edited By : Avinash Prabhakar | Updated on: 23 Oct 2020, 05:18:29 PM
goyroyogathi

Goreakoth (Photo Credit: News Nation)

गोरियाकोठी:

सिवान जिले अंतर्गत महाराजगंज संसदीय क्षेत्र में आने वाले गोरियाकोठी विधानसभा सीट पर कभी भी किसी एक पार्टी का दबदबा नही रहा है. वर्ष 2015के विधानसभा चुनाव में गोरियाकोठी सीट पर राष्ट्रीय जनता दल के सत्येन्द्र प्रसाद सिंह ने अपनी जीत दर्ज की थी. वर्ष 2015 के विधानसभा चुनाव में कुल मतों का लगभग 42.75 प्रतिशत मत सत्येन्द्र प्रसाद के पाले में गिरा था. वहीं इनके प्रतिद्वंद्वी भाजपा के देवेश कान्त को लगभग 38.14 मत मिला था. लेकिन वहीँ कुल मतों के संख्या की बात करें तो सत्येन्द्र प्रसाद मामूली कुछ हजार मत से ही जीत पाए थे. भाजपा के देवेश कान्त की तुलना में सत्येन्द्र प्रसाद सिंह को 7651 मत ही सिर्फ ज्यादा मिले थे.

वर्ष 2010 में महाराजगंज के गोरियाकोठी विधानसभा सीट पर भाजपा के भूपेंद्र नारायण सिंह ने अपनी जीत दर्ज करवाई थी. भाजपा के भूपेंद्र नारायण सिंह राष्ट्रीय जनता दल के इंद्रदेव प्रसाद को हरा कर इस सीट पर अपनी जीत दर्ज करवाई थी. वर्ष 2010 विधानसभा चुनाव में भूपेंद्र नारायण सिंह को कुल 42533 वोट मिले थे. वही अगर इनके प्रतिद्वंद्वी राष्ट्रीय जनता दल के इंद्रदेव प्रसाद, की बात करें तो उनको मात्र 28512 मत ही प्राप्त हुए थे. दोनों प्रत्याशी में 14021 मतों का अंतर था.

इससे पहले 2005 विधानसभा चुनाव में इंद्रदेव प्रसाद ही विजयी हुए थे. इस सीट पर कुल मतों की संख्या 2,38,290 है. इस सीट पर पुरुष मतदाता 1,26,839 हैं जबकि महिला मतदाता की संख्या है 111451 है. यह सीट इसलिए ज्यादा दिलचस्प है क्यूंकि हर विधानसभा चुनाव में यहाँ के जनता अपने प्रतिनिधि को बदल देती है. पिछले कई पंचवर्षीय चुनावों में परंपरागत रूप से एक बार राजद और एक बार भाजपा का इस सीट पर कब्ज़ा रहा है. देखना इस चुनाव में ऊंट किस करवट बैठती है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 23 Oct 2020, 05:18:29 PM

For all the Latest Elections News, Assembly Elections News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.