News Nation Logo
Banner

देर रात भोपाल की पुरानी जेल पहुंचीं साध्वी प्रज्ञा, EVM की सुरक्षा पर उठाए सवाल

साध्वी प्रज्ञा ने यहां जेल परिसर में ईवीएम की सुरक्षा का जायजा लिया और स्ट्रॉन्ग रूम भी चेक किया.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 15 May 2019, 08:37:32 AM
साध्वी प्रज्ञा ठाकुर

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर

highlights

  • देर रात अचानक पुरानी जेल पहुंचीं साध्वी प्रज्ञा
  • जेल परिसर में स्ट्रॉन्ग रूम का लिया जायजा
  • इशारों-इशारों में EVM की सुरक्षा पर उठाए सवाल
  • आज लिखित में चुनाव आयोग में देंगी शिकायत

नई दिल्ली:

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) की राजधानी भोपाल से बीजेपी उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा देर रात अचानक पुरानी जेल पहुंच गईं. यहां उन्होंने EVM को रखने के लिए बनाए गए स्ट्रांग रूम का जायजा लिया. पुरानी जेल में साध्वी प्रज्ञा करीब 40 मिनट तक रहीं. साध्वी प्रज्ञा ठाकुर (Sadhvi Pragya Thakur) ने यहां जेल परिसर में ईवीएम की सुरक्षा का जायजा लिया और स्ट्रॉन्ग रूम भी चेक किया. साथ ही उन्होंने स्ट्रांग रूम के बाहर तैनात कार्यकर्ताओं से की मुलाकात.

यह भी पढ़ें- MP Board 10th Result 2019: मध्य प्रदेश बोर्ड 10वीं (Class 10th) का रिजल्ट आज होगा घोषित, यहां करें चेक

भोपाल (Bhopal) में बनी पुरानी जेल ही वो जगह है जहां EVM को रखने के लिए स्ट्रांग रूम बनाया गया है. साध्वी प्रज्ञा करीब 40 मिनट तक इस पुरानी जेल परिसर में रहीं. इस दौरान उन्होंने सीसीटीवी से लेकर स्ट्रांग रूम ठीक से सील है या नहीं इसका जायजा लिया. उनके साथ शिवराज सरकार में मंत्री रहे उमाशंकर गुप्ता भी मौजूद थे. स्ट्रांग रूम के निरीक्षण के बाद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर गला खराब होने के कारण कुछ बोल नहीं पाईं. लेकिन उन्होंने इशारों-इशारों में ईवीएम की सुरक्षा पर सवाल उठाए. साध्वी ने इशारों में बताया कि वो ईवीएम की सुरक्षा से वो संतुष्ट नहीं और इस बारे में वो लिखित में अपनी बात कहेंगी.

यह भी पढ़ें- MP-CG Breaking News Live: दिनभर की हर बड़ी खबर के लिए बने रहिए न्यूज स्टेट के साथ

साध्वी प्रज्ञा की जगह उनके साथ आए पूर्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता ने मीडिया से बात की. उमाशंकर गुप्ता ने कहा कि मशीन पर संदेह नहीं, लेकिन कांग्रेस की सरकार होने के कारण निगरानी करनी पड़ रही है. उन्होंने कहा कि दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) का मानना है कि चुनाव मैनेजमेंट से जीते जाते हैं इसलिए कुछ भी हो सकता है. हमारा भविष्य भी ईवीएम में कैद है और वो यहां रखा हुआ है इसलिए हम निरीक्षण करने पहुंचे. यहां देखने के बाद लगा कि सुरक्षा और मजबूत होनी चाहिए. इसकी शिकायत वे बुधवार को जिला निर्वाचन अधिकारी और मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी से लिखित में करेंगी.

यह भी पढ़ें- MP Board 10th, 12th Results 2019: आज ही नोट कर लें ये दो नंबर, तब ही चेक कर पाएंगे MP बोर्ड 10वीं, 12वीं का रिजल्ट

गौरतलब है कि पुरानी जेल स्थित काउंटिंग हॉल में लोकसभा चुनाव के वोटों की काउंटिंग 23 मई को होगी. भोपाल संसदीय क्षेत्र में 8 विधानसभा आती है जिनमें से 7 विधानसभाओं की EVM इसी जेल में रखी हैं.

यह वीडियो देखें- 

First Published : 15 May 2019, 08:37:32 AM

For all the Latest Elections News, General Elections News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×