News Nation Logo
Banner

एड-टेक बना रहा भारत के शिक्षा क्षेत्र को ज्यादा प्रभावी  

एड-टेक एजुकेशन को रोचक और आकर्षक दोनों बना रही है. वीडियो लेक्चर, रिकॉर्डेड लेक्चर, टेस्ट पेपर और क्विज के लिए आवश्यक बुनियादी तकनीक है. वर्तमान समय में इस क्षेत्र से जड़े अधिकांश लोग तकनीक का इस्तेमाल शिक्षा के क्षेत्र में कर रहे हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 09 Sep 2021, 07:20:35 AM
NITIN

एड-टेक बना रहा भारत के शिक्षा क्षेत्र को ज्यादा प्रभावी   (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

एड-टेक एजुकेशन को रोचक और आकर्षक दोनों बना रही है. वीडियो लेक्चर, रिकॉर्डेड लेक्चर, टेस्ट पेपर और क्विज के लिए आवश्यक बुनियादी तकनीक है. वर्तमान समय में इस क्षेत्र से जड़े अधिकांश लोग तकनीक का इस्तेमाल शिक्षा के क्षेत्र में कर रहे हैं. इसी क्षेत्र से जुड़े नितिन विजय का कहना है कि “एआई और मशीन लर्निंग से छात्रों को उनके ऑनलाइन इनपुट और फीडबैक से उनकी कमजोरी का विश्लेषण करने में मदद मिलेगी. महामारी के दौरान सबसे अच्छी बात यह हुई कि हम यह जानने के लिए विकसित हुए हैं कि आने वाले दस वर्षों में हमें क्या करना है. इसके अलावा, नितिन विजय सरकारी संसाधनों के इष्टतम उपयोग और निजी क्षेत्र की विशेषज्ञता के लिए सार्वजनिक और निजी संस्थानों के बीच बेहतर सहयोग का सुझाव देते हैं.

यह भी पढे़ंः नेशनल डिजिटल एजुकेशन आर्किटेक्चर खत्म करेगा शिक्षा में असमानता

नितिन विजय भारतीय छात्रों के आईक्यू स्तर और शिक्षा के प्रति उनके जुनून पर गर्व महसूस करते हैं. उनका मानना ​​है कि भारतीय छात्रों के पास बेहतर वैज्ञानिक स्वभाव है और वे प्रत्यक्ष और डिजिटल बुनियादी ढांचे सहित पर्याप्त सहायता प्रदान किए जाने पर रिसर्च और इनोवेशंस के साथ दुनिया को चकित कर सकते हैं. नितिन विजय के अनुसार, "गुणवत्तापूर्ण संस्थानों के अलावा, हमें शिक्षा के क्षेत्र में भारत को 'विश्वगुरु' बनाने के लिए अत्याधुनिक तकनीकों को अपनाना चाहिए. प्रौद्योगिकी ने इंडस्ट्री को छात्रों की व्यक्तिगत कमजोरियों की पहचान करने और उन विषयों का पता लगाने में मदद कर रही है जहां छात्र को मदद की आवश्यकता है. अब, इंडस्ट्री को हाइब्रिड मॉडल विकसित करने के लिए शिक्षा को कस्टमाइज करने की आवश्यकता है जो इस दिशा में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं.” 

यह भी पढे़ंः रेलवे में इन पदों पर नौकरियां, बिना परीक्षा के होगी भर्ती, जानें डिटेल्स

कोटा में जन्मे और पले-बढ़े, नितिन विजय ने आईआईटी से इंजीनियरिंग में डिग्री प्राप्त की, और 2003 से जेईई, एनईईटी और अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए युवा प्रतिभाओं को तैयार किया. नितिन विजय हमेशा शिक्षक बनना चाहते थे. यहां तक कि आईआईटी में सेमेस्टर ब्रेक के दौरान भी क्लासेस लेना शुरू कर दिया था. नितिन विजय कोटा के कोचिंग गलियारों में सफलता के पर्याय हैं. उन्होंने भारत में प्रतिष्ठित जेईई और एनईईटी परीक्षाओं के लिए छात्रों को तैयार करने में एक अलग मुकाम हासिल किया है. मोशन एजुकेशन, कोटा (राजस्थान) और देश के 45 से अधिक शहरों में इसकी शाखाओं के साथ नितिन विजय और उनकी टीमें 15 से अधिक वर्षों से हजारों महत्वाकांक्षी इंजीनियरों और डॉक्टरों की सफलता की कहानी लिख रही हैं.

 

First Published : 09 Sep 2021, 07:20:35 AM

For all the Latest Education News, More News News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

Related Tags:

Add Tech