News Nation Logo
Banner

ITBP Constable Recruitment 2021: आईटीबीपी में कॉन्‍स्‍टेबल भर्ती के लिए 'DME' प्रक्रिया 13 सितंबर से 17 सितंबर तक  

आईटीबीपी की अधिकांश सीमा चौकियां 9,000 फीट से 18,800 फीट तक की ऊंचाइयों पर स्थित हैं जहां तापमान शून्‍य से 45 डिग्री सेल्शियस तक नीचे चला जाता है.

News Nation Bureau | Edited By : Pradeep Singh | Updated on: 05 Sep 2021, 04:28:02 PM
ITBP

आईटीबीपी (Photo Credit: New Nation)

highlights

  • ITBP कुल 374 भर्तियां करने जा रही है
  • भर्ती विभाग ने डीएमई के लिए चयनित सभी उम्‍मीदवारों को जारी किए एडमिट कार्ड  
  • आईटीबीपी भारत-चीन अंतर्राष्‍ट्रीय सीमा की सुरक्षा संभालती है

नई दिल्ली:

इंडिया तिब्‍बत बार्डर पुलिस (आईटीबीपी-ITBP)में कॉन्‍स्‍टेबल पद (ड्राइवर) पद के लिए भर्ती प्रक्रिया शुरू कर दी है. ITBP कुल 374 भर्तियां करने जा रही है. जिसमें 189 भर्तियां अनारक्षित श्रेणी के लिए हैं, ओबीसी के लिए 101 पद, अनसूचित जाति के लिए 56 और अनसूचित जनजाति के लिए 28 पद आरक्षित हैं. इस भर्ती प्रकिया के तहत, चयनित उम्‍मीदवारों का डिटेल मेडिकल एग्‍जामिनेशन (डीएमई) की प्रक्रिया 13 सितंबर को शुरू होने जा रही है. डीएमई की यह प्रक्रिया 17 सितंबर तक चलेगी. आईटीबीपी के भर्ती विभाग ने डीएमई के लिए चयनित सभी उम्‍मीदवारों को एडमिट कार्ड जारी कर दिए हैं. उम्‍मीदवार अपने रजिस्‍टर्ड ईमेल से अपने एडमिट कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं.

आईटीबीपी भारत-चीन अंतर्राष्‍ट्रीय सीमा की सुरक्षा संभालती है. आईटीबीपी ने कॉन्‍स्‍टेबल (ड्राइवर) भर्ती के लिए दो सूचियां निकाली हैं. इसमें पहली मेन लिस्‍ट है और दूसरी एक्‍सटेंडेड लिस्‍ट है. मेन लिस्‍ट में कुल 257 अभ्‍यर्थियों को जगह दी गई है. जबकि एक्‍सटेंडेड लिस्‍ट में 214 अभ्‍यर्थियों को जगह दी गई है.

यह भी पढ़ें:बिहार लोक सेवा आयोग:  बीपीएससी एपीओ प्रीलिम्स रिजल्ट 2021 जारी, ऐसे करें चेक


कॉन्‍स्‍टेबल (चालक) पद के लिए होने वाली डीएमई में पूर्व सैनिकों को सामान्‍य श्रेणी के पदों में भागीदारी दी है. मेन लिस्‍ट में अनारक्षित श्रेणी में 60, पूर्व सैनिकों को 39, अनसूचित जाति को 53, अनसूचित जनजाति को 49 और ओबीसी को 56 सीटें दी हैं. वहीं, एक्‍सटेंडेट लिस्‍ट में अनारक्षित श्रेणी को 58, अनसूचित जाति को 52, अनसूचित जनजाति को 48 और ओबीसी को 56 सीटें दी गई हैं.

भारत तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) बल की स्थापना 24 अक्टूबर, 1962 को हुई थी. वर्तमान में आईटीबीपी प्राथमिकत: लद्दाख में काराकोरम दर्रे से अरुणाचल प्रदेश में जाचेप ला तक 3,488 किमी. लंबी भारत-चीन सीमा की सुरक्षा के लिए तैनात है. इसके अलावा बल कई आंतरिक सुरक्षा कर्तव्‍यों एवं छत्‍तीसगढ में वामपंथी उग्रवाद के विरूद्ध अभियानों में भी महत्‍वपूर्ण भूमिका निभा रहा है.

बल की अधिकांश सीमा चौकियां 9,000 फीट से 18,800 फीट तक की ऊंचाइयों पर स्थित हैं जहां तापमान शून्‍य से 45 डिग्री सेल्शियस तक नीचे चला जाता है.

आईटीबीपी राष्‍ट्र का एक विशेष सशस्‍त्र पुलिस बल है जो अपने जवानों को गहन सामरिक प्रशिक्षण के अलावा पर्वतारोहण और स्कीइंग समेत अन्‍य कई विधाओं में प्रशिक्षित करता है जिससे बल की एक विशिष्‍ट छवि है.

आईटीबीपी हिमालय क्षेत्र में प्राकृतिक आपदाओं के लिए 'फर्स्‍ट रेस्‍पोंडर' के रूप में राहत व बचाव अभियानों का संचालन भी करती है. बल का पिछले 6 दशकों का स्‍वर्णिम इतिहास रहा है जिसमें बल के जवानों ने विभिन्‍न कर्तव्‍यों के दौरान देश सेवा में अनेकों बलिदान दिए हैं.

First Published : 05 Sep 2021, 04:28:02 PM

For all the Latest Education News, Jobs News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो