News Nation Logo

खुशखबरी, अब एक साथ कई डिग्रियां हासिल कर सकेंगे छात्र, पढ़ें पूरी detail

News Nation Bureau | Edited By : Vikas Kumar | Updated on: 22 Jul 2019, 11:11:56 AM
अब छात्र ले सकेंगे एक से ज्यादा डिग्रियां

highlights

  • एक से ज्यादा डिग्रियां हासिल कर सकेंगे छात्र.
  • यूजीसी ने इस काम के लिए एक समिति बनाई है.
  • समिति की अध्यक्षता भूषण पटवर्धन कर रहे हैं.

नई दिल्ली:  

विश्वविद्यालयों में पढ़ने वाले छात्रों के लिए एक अच्छी खबर आई है. अब संभव है कि विश्वविद्यालयों के छात्रों को एक साथ एक से ज्यादा डिग्रियां हासिल कर सकेंगे. विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी- UGC) इस बारे में गंभीरता से सोच रही है. इसके लिए यूजीसी ने एक समिति का गठन भी किया है जो एक ही विश्वविद्यालय या अलग-अलग विश्वविद्यालयों के द्वारा एक ही समय में पत्राचार (Distance learnning) या ऑनलाइन माध्यम से छात्रों को एक से अधिक डिग्री देने के बारे में विचार कर रही है.

सामान्य शब्दों में समझें तो अब छात्र एक कोर्स में रेगुलर एनरोल होने के बाद भी दूसरी डिग्री भी ले सकते हैं. इसके लिए यूजीसी ने एक साथ दो डिग्रियों की पढ़ाई के परीक्षण के लिए जो समिति बनाई है उसकी अध्यक्षता भूषण पटवर्धन कर रहे हैं. आयोग के एक अधिकारी ने कहा, ‘पिछले माह यह समिति गठित की गई है और इसकी दो बैठकें भी हो चुकी हैं. अब विभिन्न पक्षों के साथ इस विचार की व्यावहारिकता पर गौर करने के लिए विचार-विमर्श चल रहा है.’

यह भी पढ़ें: सेना में महिलाओं को परमानेंट कमिशन मिलने में लगेगा वक्त, बन रही पॉलिसी

बता दें कि आयोग ने 2012 में भी एक समिति बनाई थी और जब समिति ने अपनी रिपोर्ट सौंपी तो उसकी सिफारिशों को नामंजूर कर दिया गया था. 2012 में बनी इस समिति का नाम फुरकान समिति था. समिति ने सिफारिश की थी कि नियमित तरीके (रेगुलर कोर्स)के तहत डिग्री कोर्स में दाखिला पाने वाले छात्रों को उसी या अन्य विश्वविद्यालय से मुक्त (ओपेन) या दूरस्थ (डिस्टेंस) शिक्षा के माध्यम से अधिकतम एक अतिरिक्त डिग्री की पढ़ाई की इजाजत दी जा सकती है.

फुरकान कमर समिति की सिफारिश ये थी कि यदि कोई छात्र रेगुलर कोर्स में किसी विश्वविद्यालय में पढ़ाई कर रहा है तो वह दूसरी डिग्री के लिए उस या अन्य किसी विश्वविद्यालय में रेगुलर कोर्स में दाखिला नहीं ले सकता.

यह भी पढ़ें: दिल्ली सरकार के स्कूलों में उर्दू शिक्षकों के 631 और पंजाबी के 716 पद खाली

उस छात्र को अपनी रेगुलर डिग्री के साथ उसी विश्वविद्यालय, किसी दूसरे विश्वविद्यालय या अन्य शिक्षण संस्थान से रेगुलर, ओपेन या डिस्टेंस मोड में सर्टिफिकेट, डिप्लोमा, एडवांस डिप्लोमा या पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा की अनुमति दी जा सकती है.

First Published : 22 Jul 2019, 11:07:39 AM

For all the Latest Education News, Higher Studies News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.