News Nation Logo
Banner

CBSE Board Results 2019: CBSE के स्टूडेंट्स अफवाहों पर न दें ध्यान, इस डेट को डिक्लेयर होंगे 10th-12th के रिजल्ट

इस साल सीबीएसई एग्जाम में 31 लाख से अधिक स्टूडेंट्स ने एग्जाम दिए थे जिनमें 18.1 लाख, मेल स्टूडेंट्स थे, और फीमेल कैंडिडेट्स की संख्या 12.9 लाख थी.

News Nation Bureau | Edited By : Vikas Kumar | Updated on: 21 Apr 2019, 12:09:54 PM
CBSE Board 10th-12th Results

CBSE Board 10th-12th Results

नई दिल्ली:

CBSE 10th-12th Board Results 2019: CBSE के 10वीं और 12वीं के रिजल्ट की डेट को लेकर कई अफवाहें उडाई जा रही हैं कि इस डेट को CBSE रिजल्ट की घोषणा की जाएगी. इन अफवाहों का खंडन करने के लिए सीबीएसई बोर्ड की अध्यक्ष को खुद सामने आना पड़ा है. केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड या सीबीएसई (CBSE) की अध्यक्ष, अनीता करवाल ने कक्षा 10, 12 के रिजल्ट डिक्लेयर करने की सभी अफवाहों को खारिज करते हुए ये स्पष्ट किया है कि बोर्ड ने अभी तक रिजल्ट डिक्लेयर करने की डेट तय नहीं की है. जो भी डेट बताई जा रही है वो केवल अफवाह है और स्टूडेंट्स को उन पर ध्यान नहीं देना चाहिए.

यह भी पढे़ं: UP Board Result 2019: यूपी बोर्ड का रिजल्ट सबसे पहले यहां देखें

अनीता करवाल ने मीडिया से भी रिक्वेस्ट की है कि मीडिया इन रिजल्ट डेट को न प्रमोट करे क्योंकि अभी किसी भी तरह का ऑफिशियल नोटिफिकेशन नहीं जारी किया गया है क्योंकि रिजल्ट की डेट केवल ऑफिशियल नोटिफिकेशन के माध्यम से ही जारी की जाएगी. उन्होंने आगे बताया कि सभी अधिकारियों को कड़ाई से निर्देशित किया गया है कि वे मूल्यांकन की प्रक्रिया के बारे में मीडिया के साथ बात न करें और कहा कि तारीख की घोषणा करना जल्दबाजी होगी.

उन्होंने साफ किया कि रिजल्ट डिक्लेयर होने के 10 दिन पहले मीडिया को सूचित किया जाएगा. हालांकि, उसने संकेत दिया कि रिजल्ट मई के तीसरे सप्ताह (कभी भी 12 मई से 17 मई के बीच) में होगी, जो बदल भी सकती है.
स्टूडेंट्स को रिजल्ट पर लेटेस्ट अपडेट प्राप्त करने के लिए ऑफिशियल वेबसाइट को रेगुलर चेक करते रहने का सजेशन दिया है. स्टूडेंट्स को इन साइटों को रेगुलर चेक करते रहना चाहिए. परिणाम घोषित होने के बाद cbse.nic.in, cbseresults.nic.in.

यह भी पढे़ं: UP Board 10th Result 2019: हाईस्कूल का रिजल्ट यहां आएगा सबसे पहले, जानिए पिछले पांच साल का विश्लेषण

CBSE अधिसूचना के अनुसार, इस वर्ष के लिए अंकन योजना मुख्य रूप से रचनात्मकता, सटीकता और उत्तरों की प्रासंगिकता पर आधारित है. इसलिए, सभी मूल्यांकनकर्ताओं को नए अंकन मापदंडों का पालन करने का निर्देश दिया जाता है.

यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि इस साल सीबीएसई एग्जाम में  31 लाख से अधिक स्टूडेंट्स ने एग्जाम दिए थे जिनमें 18.1 लाख, मेल स्टूडेंट्स थे, और फीमेल कैंडिडेट्स की संख्या 12.9 लाख थी.

यह भी पढे़ं: HPBOSE 12th Results 2019: आज नहीं आएंगे हिमाचल प्रदेश 12वीं के रिजल्ट

एग्जाम प्रॉसेस की निगरानी के लिए इस वर्ष बोर्ड द्वारा ऐप लांच किया था. दिलचस्प बात यह है कि स्टूडेंट्स को समय पर एग्जाम सेंटर्स तक पहुंचने में मदद करने के लिए एग्जाम सेंटर लोकेटर (ईसीएल) ऐप डेवलप किया गया था.

एक अन्य पॉडकास्ट ऐप जिसे 'सीबीएसई-शिक्षा वाणी' के नाम से भी जाना जाता है. मूल्यांकन प्रक्रिया की निगरानी के लिए इसने हर सप्ताह विशेष प्रशिक्षण लेखा परीक्षा शुरू की. मुख्य परीक्षा से पहले, बोर्ड ने छात्रों को बेहतर वैचारिक समझ रखने और रटने-सीखने से संबंधित मुद्दों को दूर करने में मदद करने के लिए कई उपाय किए.

First Published : 21 Apr 2019, 12:07:07 PM

For all the Latest Education News, Exams Result News News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो