News Nation Logo

पहली से आठवीं के बच्चों का नहीं होगा कोई एग्जाम, 9वीं, 11वीं के स्टूडेंट्स असाइनमेंट के आधार पर होगा प्रमोट

9वीं और 11वीं के छात्र-छात्राओं को स्कूल द्वारा किए गए एग्जाम और अन्य प्रैक्टिकल असाइनमेंट आदि के आधार पर आगे प्रमोट किया जाएगा.

News Nation Bureau | Edited By : Sushil Kumar | Updated on: 29 Apr 2020, 04:22:26 PM
प्रतीकात्मक फोटो

प्रतीकात्मक फोटो (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

Coronavirus (Covid-19) : कोरोना महामारी के चलते देश लॉकॉउन में है. जिसके चलते सभी स्कूल-कॉलेज बंद कर दिए गए हैं. ऐसे में परीक्षा आयोजित कराना संभव नहीं है. बोर्ड ने कहा कि पहली से आठवीं क्लास के बच्चों का कोई एग्जाम नहीं होगा. उन्हें सीधे अगले क्लास में प्रमोट कर दिया जाएगा. 9वीं और 11वीं के छात्र-छात्राओं को स्कूल द्वारा किए गए एग्जाम और अन्य प्रैक्टिकल असाइनमेंट (Practical assignment) आदि के आधार पर आगे प्रमोट किया जाएगा. दसवीं तक के किसी भी छात्र-छात्रा (Students) का एग्जाम अखिल भारतीय स्तर पर नहीं होगा. सिर्फ दिल्ली दंगा के प्रभावित क्षेत्रों के दसवीं के बच्चों के 6 विषय के एग्जाम होंगे. 19 और 31 मार्च के बीच होने वाले 12वीं के 12 एग्जाम को आगे भी कंडक्ट करवाया जा सकता है.

यह भी पढ़ें- लॉकडाउन के बाद बचे हुए विषयों की परीक्षा होगी आयोजित: CBSE

बचे हुए विषयों की होगी परीक्षा 

बचे हुए बोर्ड परीक्षा को लेकर सीबीएसई (CBSE) ने सर्कुलर जारी किया है. सर्कुलर सीबीएसई के वेबसाइट पर उपलब्ध है. सीबीएसई 1 अप्रैल 2020 का सरकुलेशन कहता है कि परीक्षा और इवोल्यूशन का निर्णय लॉकडाउन (Lockdown) खत्म होने के बाद लिया जाएगा. सर्कुलर में यह भी कहा गया है कि दिल्ली के नॉर्थ ईस्ट डिस्ट्रिक्ट के 10वीं की परीक्षा, जो टल गई थी, उन बच्चों की परीक्षा लेने का प्रयास किया जाएगा. सीबीएसई की 12वीं की बचे हुए विषयों की परीक्षाओं को भी कराने का प्रयास किया जाएगा. सभी बचे और टली हुई परीक्षाएं लॉकडाउन खत्म होने के बाद आयोजित की जाएगी. बता दें कि 12वीं के कुछ विषयों की परीक्षा होने को थी, लेकिन लॉकडाउन के चलते रह गई. साथ ही उत्तर पूर्वी दिल्ली में हिंसा के चलते परीक्षा स्थगित कर दी गई थी. लॉकडाउन के बाद सभी परीक्षाओं की आयोजित की जाएगी.

यह भी पढ़ें- आगरा में फिर फटा 'कोरोना बम', बढ़ता आंकड़ा स्वास्थ्य अधिकारियों की लापरवाही का नतीजा

CBSE की अध्यक्ष अनिता करवाल शिक्षा एवं साक्षरता विभाग की सचिव नियुक्त

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) की अध्यक्ष अनिता करवाल (Anita Karwal) रविवार को शिक्षा एवं साक्षरता विभाग की सचिव नियुक्त की गईं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime minister Narendra Modi) की अध्यक्षता वाली मंत्रिमंडलीय नियुक्ति समिति ने अनिता की नियुक्ति का अनुमोदन किया. यह समिति ने केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव प्रीति सूदन का कार्यकाल भी तीन महीने के लिए बढ़ा दिया है. आंध्र प्रदेश कैडर की 1983 बैच की आईएएएस अधिकारी (IAS) प्रीति सूदन 30 अप्रैल को सेवानिवृत्त होने वाली थीं.

First Published : 29 Apr 2020, 03:45:34 PM

For all the Latest Education News, Board Exams News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.