News Nation Logo
अनन्या पांडे से सोमवार को फिर पूछताछ करेगी NCB अभिनेत्री अनन्या पांडे एनसीबी कार्यालय से रवाना हुईं, करीब 4 घंटे चली पूछताछ DRDO ने ओडिशा के चांदीपुर रेंज से हाई-स्पीड एक्सपेंडेबल एरियल टारगेट (HEAT) का सफल परीक्षण किया कल जम्मू-कश्मीर जाएंगे गृहमंत्री अमित शाह दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की बैठक 27 अक्टूबर को, छठ पूजा उत्सव के लिए ली जाएगी अनुमति 1971 के भारत-पाक युद्ध ने दक्षिण एशियाई उपमहाद्वीप के भूगोल को बदल दिया: सीडीएस जनरल बिपिन रावत माता वैष्णों देवी मंदिर में तीर्थयात्रियों के बीच कोरोना का प्रसार रोकने के लिए नए दिशा-निर्देश जारी दिल्ली जा रही फ्लाइट में एक आदमी की अचानक तबीयत ख़राब होने पर फ्लाइट की इंदौर में इमरजेंसी लैंडिंग 1971 का युद्ध, इसमें भारतीयों की जीत और युद्ध का आधार बेहद खास है: राजनाथ सिंह केंद्र सरकार की टीम उत्तराखंड में आपदा से हुई क्षति का आकलन कर रही है: पुष्कर सिंह धामी रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने आज बेंगलुरु में वैमानिकी विकास प्रतिष्ठान का दौरा किया शिवराज सिंह चौहान ने शोपियां मुठभेड़ में शहीद जवान कर्णवीर सिंह को सतना में श्रद्धांजलि दी मुंबई के लालबाग इलाके में 60 मंजिला इमारत में लगी भीषण आग उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव: कल शाम छह बजे सोनिया गांधी के आवास पर कांग्रेस सीईसी की बैठक

बिहार बोर्ड इंटरमीडिएट परीक्षा का मूल्यांकन अतिथि शिक्षक भी करेंगे, निर्देश जारी

विभाग के माध्यमिक शिक्षा निदेशक गिरिवर दलाय सिंह ने इस बावत सभी जिलों को शनिवार को पत्र जारी किया है.

News Nation Bureau | Edited By : Sushil Kumar | Updated on: 01 Mar 2020, 04:42:56 PM
bihar board

प्रतीकात्मक फोटो (Photo Credit: न्यूज स्टेट)

पटना:

Bihar Board Intermediate Exam: बिहार बोर्ड इंटरमीडिएट वार्षिक परीक्षा की कॉपी अब अतिथी शिक्षक भी मूल्यांकन करेंगे. बिहार शिक्षा विभाग ने जिला शिक्षा पदाधिकारियों को निर्देश दिया है कि इंटरमीडिएट (Intermediate) की वार्षिक परीक्षा की कॉपियों के मूल्यांकन कार्य में माध्यमिक विद्यालयों में अतिथि शिक्षक के रूप में कार्यरत अतिथि शिक्षकों की सेवा ली जाए. विभाग के माध्यमिक शिक्षा निदेशक गिरिवर दलाय सिंह ने इस बावत सभी जिलों को शनिवार को पत्र जारी किया है.

यह भी पढ़ें- महाराष्ट्र सरकार शिक्षा में मुस्लिमों को देगी 5 प्रतिशत आरक्षण, नवाब मलिक का बड़ा बयान

शिक्षकों की कमी 

पत्र में उन्होंने कहा है कि वीडियो कांफ्रेंसिग के माध्यम से हुई समीक्षा में कुछ जिलों के जिलाधिकारी और शिक्षा पदाधिकारी ने जानकारी दी है कि कुछ विषयों के समय पर मूल्यांकन पूरा करने के लिए शिक्षकों की कमी है. इसलिए अतिथि शिक्षकों को भी इस कार्य में लगाने का निर्णय हुआ है. अतिथि शिक्षकों की यह सेवा तदर्थ रूप से होगी और इसके लिए बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा निर्धारित पारिश्रमिक उन्हें दिया जाएगा.

प्राथमिकी दर्ज करना मान्य नहीं

गौरतलब हो कि शिक्षकों की हड़ताल के कारण मूल्यांकन में कुछ जगहों पर उनकी कमी महसूस की जा रही है. उधर बिहार शिक्षा परियोजना परिषद (बीईपी) ने सीवान जिले को पत्र लिखा है कि संविदा कर्मियों द्वारा सरकारी कार्य के निष्पादन के क्रम में प्राथमिकी दर्ज करना मान्य नहीं है.

First Published : 01 Mar 2020, 04:42:56 PM

For all the Latest Education News, Board Exams News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.