News Nation Logo

CBSE ने परीक्षा केंद्रों से छात्रों को पर्याप्त दूरी पर बैठाने की व्यवस्था करने को कहा

बोर्ड ने परीक्षा केंद्रों पर कक्ष निरीक्षकों को परीक्षा के दौरान मास्क, रूमाल से चेहरे को ढंककर रखने की सलाह दी.

Bhasha | Edited By : Sushil Kumar | Updated on: 18 Mar 2020, 03:55:36 PM
cbse

प्रतीकात्मक फोटो (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए एहतियात के तौर पर बोर्ड परीक्षा केंद्रों को छात्रों को पर्याप्त दूरी पर बैठाने की व्यवस्था सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है. इसके अलावा बोर्ड ने परीक्षा केंद्रों पर कक्ष निरीक्षकों को परीक्षा के दौरान मास्क, रूमाल से चेहरे को ढंककर रखने की सलाह दी. सीबीएसई के परीक्षा नियंत्रक संयम भारद्वाज ने एक परामर्श में कहा, ‘‘परीक्षा केंद्रों पर यह सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी होगी कि बोर्ड परीक्षा के परीक्षार्थियों को एक मीटर की दूरी पर बैठाया जाए. जहां कमरे के आकार इस व्यवस्था के अनुकूल नहीं है, वहां परीक्षार्थियों को अन्य कमरों में बैठाने की व्यवस्था की जा सकती है.’’ परामर्श में कहा गया, ‘‘परीक्षा के दौरान कक्ष निरीक्षकों को मास्क पहनना चाहिए या रूमाल से चेहरा ढंकना चाहिए.

यह भी पढ़ें- JAC Board Result 2020: झारखंड 10वीं के परीक्षार्थियों के लिए बड़ी खबर, इस दिन आ सकता है बोर्ड रिजल्ट

8वीं तक के सभी छात्र बिना परीक्षा के ही उत्तीर्ण घोषित होंगे

कोरोना (Corona) ने पूरी दुनिया में कहर बरपा रहा है. भारत के लोग भी अब दहशत में हैं. इसको लेकर कई राज्यों सरकारों ने अपने प्रदेश में बंद घोषित कर दिया है. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने दो अप्रैल तक सभी स्कूल और कॉलेजों को बंद कर दिया है. साथ ही हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की कॉपियों का मूल्यांकन 2 अप्रैल तक बंद कर दिया है. उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा (Dr Dinesh Sharma) ने यह आदेश देते हुए कहा कि 8वीं तक के सभी छात्र बिना परीक्षा के ही उत्तीर्ण घोषित होंगे.

यह भी पढ़ें- उत्तर प्रदेश 12वीं के परीक्षार्थियों के लिए बड़ी खबर, इस दिन आ सकता है बोर्ड रिजल्ट

कोरोना के डर से शिक्षक कॉपियों को जांचने से डर रहे थे

उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा कि 2 अप्रैल के बाद जब स्कूल खुलेंगे, तब बोर्ड की कॉपियों के मूल्यांकन की नई तारीख तय की जाएगी. बता दें 16 मार्च से यूपी बोर्ड परीक्षाओं की कॉपियों का मूल्यांकन शुरू हुआ था, लेकिन कई केन्द्रों पर कोरोना वायरस के डर से शिक्षक कॉपियों को जांचने से डर रहे थे. इसके बाद बोर्ड ने कॉपी जांचने वाले परीक्षकों के लिए गाइडलाइन्स जारी किए थे. जिसके तहत दो परीक्षकों के बीच की दूरी कम से कम एक मीटर होगी और साफ़ सफाई का विशेष ध्यान रखा जाएगा.

First Published : 18 Mar 2020, 03:50:16 PM

For all the Latest Education News, Board Exams News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो