News Nation Logo
Banner

आयकर विभाग की वेबसाइट में आए छोटी रकम जमा करने वालों के भी नाम, पर न हो परेशान

नोटबंदी के दौरान बैंकों में जमा कराए गई राशि वाले 18 लाख संदिग्ध खातों की पड़ताल कर रही है सरकार, छोटी रकम जमा करने वालों के भी नाम आयकर विभाग की वेबसाइट में आए सामने।

News Nation Bureau | Edited By : Shivani Bansal | Updated on: 11 Feb 2017, 08:04:04 PM
आयकर विभाग (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

जिन लोगों ने नोटबंदी के दौरान छोटी राशि ही बैंक में जमा कराई है और ऐसे में अगर उन्हें अपना नाम भी इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की वेबसाइट पर जारी लिस्ट में दिखाई देता है तो घबराने की ज़रुरत नहीं।

दरअसल सरकार नोटबंदी के दौरान बैंकों में जमा कराई गई राशि वाले उन 18 लाख संदिग्ध खातों की पड़ताल कर रही है जिन्हें आयकर विभाग की तरफ से ईमेल या नोटिस मिला है। इसके लिए सरकार बिग डेटा एनालिसिस की मदद ले रही है। इस डेटा एनालिसिस के तह्त बैंकों में जमा राशि और टैक्स डिटेल की जानकारियों का मिलान किया जा रहा है।

इन खातों में काला धन जमा होने का अंदेशा है। आयकर विभाग पहले ही जमा राशि पर ऑनलाइन जानकारी देने का निर्देश दे चुका है। इसके लिए विभाग ने जमा राशि पर ऑनलाइन जवाब देने के लिए 15 फरवरी तक की छूट दी है।

और पढ़ें- बजट बैठक के बाद उर्जित पटेल का बयान 'जांच के बाद आरबीआई जारी करेगा नोटबंदी के आंकड़ें'

इनमें बहुत से ऐसे लोग हैं जिनके नाम 5 लाख से अधिक राशि जमा कराने वालों में शामिल हैं। उन्हें ऐसा लगता है कि यह डेटा गलत है। इस संबंध में इन लोगों ने आयकर विभाग से भी संपर्क किया है। बैंकों ने आयकर विभाग को जो डेटा सौंपा था उसके मुताबिक 18 लाख खातों में 4.2 लाख करोड़ रुपये की राशि जमा हुई है।

एक अधिकारी के मुताबिक, 'यह टैक्स नोटिस नहीं है। हम सिर्फ यह जानने की कोशिश कर रहे हैं कि बैंकों की ओर से जारी किए गए डेटा विश्वसनीय हैं या नहीं। सभी लोगों से जवाब देने के लिए अनुरोध भी किया है। यदि बैंकों की ओर से दी गई जानकारी गलत पाई जाती है तो किसी को भी परेशान नहीं किया जाएगा और उनका पीछा नहीं किया जाएगा।'

यह भी पढ़ें- पाकिस्तान क्रिकेट लीग में मैच फिक्सिंग, इरफान समेत जुल्फिकार बाबर और शाहजेब हसन से हुई पूछताछ

First Published : 11 Feb 2017, 07:32:00 PM

For all the Latest Business News, Economy News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

Related Tags:

Income Tax Demonetisation