News Nation Logo

BREAKING

धर्मांतरण करने वाले एक और शख्स को उत्तर प्रदेश एटीएस ने किया गिरफ्तार

गुजरात और उत्तर प्रदेश एटीएस ने मिलकर गुजरात से सलाउद्दीन नाम के एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया जिस पर धर्मांतरण के लिए फंडिंग इकट्ठा करने का आरोप है. बताया जा रहा है कि सलाउद्दीन को उत्तर प्रदेश की मिर्जापुर कोर्ट में पेश किया गया है.

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 30 Jun 2021, 08:05:08 PM
ADG Law and Order Prashant Kumar

एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार (Photo Credit: फाइल)

लखनऊ:

गुजरात और उत्तर प्रदेश एटीएस ने मिलकर गुजरात से सलाउद्दीन नाम के एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया जिस पर धर्मांतरण के लिए फंडिंग इकट्ठा करने का आरोप है. बताया जा रहा है कि सलाउद्दीन को उत्तर प्रदेश की मिर्जापुर कोर्ट में पेश किया गया है. उत्तर प्रदेश एटीएस की टीम के आधार पर गुजरात एटीएस ने सलाउद्दीन को पकड़कर पुलिस के हवाले किया है. धर्मांतरण मामले में UP ATS ने एक और संदिग्ध को वड़ोदरा से गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार किए गए शख्स का नाम उमर गौताम है जो कि पूछताछ के लिए लखनऊ लाया जाएगा.

इस बात का दावा किया जा रहा है कि आरोपी उमर गौतम औऱ सलाउद्दीन दोनों ही इस्लामिक दावा सेंटर के सम्पर्क में रहे हैं. ये आरोपी विदेशी फंडिंग से भी जुड़ा है गुजरात पुलिस की मदद से इस आरोपी की गिरफ्तारी की गई. इसके पहले धर्मांतरण मामले में उत्तर प्रदेश ATS ने तीन और लोगों को गिरफ्तार किया था. यूपी एडीजी प्रशांत कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया था कि धर्मान्तरण केस उमर गौतम और जहाँगीर आलम से पूछताछ के बाद 3 और लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

यह भी पढ़ेंःजमीन अधिगृहण को लेकर इलाहाबाद हाई कोर्ट का अहम फैसला, पढ़े पूरी खबर

मन्नू यादव उर्फ अब्दुल मन्नान, निवासी मकान नम्बर, 83 ग्राम बाबूपुर पोस्ट दौलताबाद, गुड़गांव हरियाणा,इरफान शेख़ पुत्र ख्वाजा खान,निवासी ग्राम सिरसाला, पोस्ट परली बैजनाथ, थाना सिरसाला, जिला बीड़, महाराष्ट्र, राहुल भोला, पुत्र प्रवीण भोला, निवासी- P 30, शीशराम पार्क, उत्तम नगर, नई दिल्ली को गिरफ्तार किया गया है. उत्तर प्रदेश एटीएस के अनुसार इरफान ख़्वाजा खान एक इंटरप्रेटर है, जो कि दिल्ली में मिनिस्ट्री ऑफ चाइल्ड वेलफेयर में इंटरप्रेटर का कार्य करता है.

यह भी पढ़ेंःकोविड से हुई मौतों पर मुआवजे को लेकर राहुल गांधी का मोदी सरकार पर हमला

जिस वजह से मूक बधिर लोगों में इसकी अच्छी पहुंच है, इरफान मूक बधिर लोगों को इस्लाम का ज्ञान देता है और दूसरे धर्मों की बुराई करता है. इरफान तरह तरह के प्रलोभन देकर लोगों को इस्लाम धर्म अपनाने के लिए तैयार करता है और इस्लामिक दावा सेंटर IDC में जाकर उमर गौतम के साथ और जहाँगीर आलम से मिलकर धर्मान्तरण के पेपर तैयार करवाता है.

First Published : 30 Jun 2021, 07:55:42 PM

For all the Latest Crime News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.