News Nation Logo

UP: पिता ने ही की थी बेटी की हत्‍या, दूसरों पर ऐसे मढ़ा था हत्‍या का आरोप

फिरोजाबाद नगर क्षेत्र के रसूलपुर थाना क्षेत्र में कक्षा 12वीं की छात्रा की हत्‍या के मामले को सुलझाने का पुलिस ने दावा किया है. पुलिस के अनुसार, छात्रा की हत्या उसके पिता ने ही की थी, लेकिन आरोप तीन युवकों पर लगाया था.

Bhasha | Updated on: 26 Oct 2020, 07:09:15 PM
murder

प्रेम संबंध के चलते पिता ने ही की थी बेटी की हत्‍या (Photo Credit: फाइल फोटो)

फिरोजाबाद:

फिरोजाबाद नगर क्षेत्र के रसूलपुर थाना क्षेत्र में कक्षा 12वीं की छात्रा की हत्‍या के मामले को सुलझाने का पुलिस ने दावा किया है. पुलिस के अनुसार, छात्रा की हत्या उसके पिता ने ही की थी, लेकिन आरोप तीन युवकों पर लगाया था. पुलिस के अनुसार छात्रा का पिता आरोपी युवकों में से एक से युवती के प्रेम संबंध के चलते नाराज था.  पुलिस महानिरीक्षक (आगरा परिक्षेत्र) सतीश गणेश ने सोमवार को संवाददाताओं को बताया कि हत्‍या के आरोपी पिता को पुलिस ने गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है. सतीश गणेश ने घटना का खुलासा करने वाली टीम को दस हजार रुपये का इनाम दिया है.

आईजी ने बताया कि लड़की के पिता के भाई से भी पुलिस ने पूछताछ की तो उन्होंने पुलिस को बताया कि लड़की के प्रेम संबंध से पिता नाराज थे, इसलिए उन्होंने तमंचे से उसकी गोली मारकर हत्या कर दी. आईजी ने बताया घटना के बाद पिता ने सुनियोजित साजिश के तहत छेड़छाड़ का विरोध करने पर लड़की की हत्या का आरोप लगाते हुए मामला दर्ज कराया. उन्‍होंने बताया कि पूर्व में नामजद आरोपियों को विवेचना के दौरान मुक्त करने की कार्रवाई की जाएगी.

पुलिस के अनुसार रसूलपुर क्षेत्र के प्रेमनगर डाक बंगला में रहने वाले अजय खटिक ने सूचना दी थी कि 23 अक्‍टूबर की अर्द्धरात्रि को तीन युवकों ने उसके घर में घुसकर उसकी 16 वर्षीया बेटी की गोली मारकर हत्‍या कर दी थी. पुलिस के अनुसार अजय खटिक की तहरीर पर पुलिस ने मनीष यादव, गौरव चक और सोपाली यादव के खिलाफ मामला दर्ज करके दो आरोपियों को हिरासत में ले लिया था. पिता के अनुसार आरोपियों ने उसकी बेटी को इसलिए मारा क्‍योंकि जब वह स्‍कूल से घर लौट रही थी तो तीनों द्वारा की गई छेड़खानी का उसने विरोध किया था.

पुलिस महानिरीक्षक ने बताया कि घटना की सूचना मिलने पर उन्‍होंने स्‍वयं घटनास्‍थल का निरीक्षण किया और कई लोगों के बयान भी लिए. गणेश के मुताबिक परिजनों द्वारा बार-बार बयान बदलने पर संदेह हुआ. उन्‍होंने सर्विलांस टीम, एसओजी टीम व नगर की पुलिस को इसकी जांच के लिए लगाया. उन्होंने बताया कि कॉल डिटेल रिकार्ड (सीडीआर) व अन्य बिंदुओं से जांच करने के बाद यह पाया गया कि युवकों द्वारा लड़की की हत्या नहीं की गई बल्कि लड़की का इन्हीं लड़कों में से एक से प्रेम संबंध था.

उन्होंने बताया कि युवकों की लोकेशन का भी पूरा प्रोफाइल बनाया गया जिसमें उनकी लोकेशन वहां नहीं पाई गई. यहीं से पुलिस ने प्राथमिकी में नामजद लोगों द्वारा हत्या न किए जाने की जानकारी पुख्ता हुई.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 26 Oct 2020, 07:09:15 PM

For all the Latest Crime News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.