News Nation Logo

नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता का हत्यारोपी गिरफ्तार, हत्या की बताई ये वजह

हरमीत सिंह को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने रविवार को गिरफ्तार किया. पुलिस के मुताबिक वो जम्मू बॉर्डर के पास से छुपने के लिए नया ठिकाना ढूंढ रहा था. गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने वो सुसाइड नोट और पैन भी रिकवर कर लिया है.

Written By : अपूर्व श्रीवास्तव | Edited By : Apoorv Srivastava | Updated on: 20 Sep 2021, 08:33:59 PM
trilochan 56565656

murder (Photo Credit: News Nation)

नई दिल्ली :

जम्मू कश्मीर के पूर्व MLC और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता त्रिलोचन सिंह वज़ीर की हत्या के आरोप में एक मुख्य आरोपी हरमीत सिंह को जम्मू बॉर्डर से गिरफ्तार कर लिया गया है. उसकी गिरफ्तारी के साथ ही हत्याकांड से रहस्य की चादर हट गई है. अब इस मामले में दूसरे मुख्य आरोपी हरप्रीत की तलाश है. फिलहाल सेल ने हरमीत को क्राइम ब्रांच को सौंप दिया है. क्राइम ब्रांच ने उसे 6 दिन की रिमांड पर लिया है. पूछताछ में हत्या की वजह का भी खुलासा हुआ है. हरमीत ने पुलिस पूछताछ में बताया कि करीब तीन साल पहले स्टेट गुरुद्वारा कमेटी के कैलेंडर छपने को लेकर उसका और त्रिलोचन सिंह वजीर का विवाद हुआ था. वो अगस्त महीने में जम्मू से दिल्ली आया था और दिल्ली में हरप्रीत सिंह के किराए के घर रुका था. उसके बाद 3 सितंबर को त्रिलोचन सिंह भी कनाडा जाने से पहले वीजा बनवाने के लिए हरप्रीत के घर आ गया. 

इसे भी पढ़ेंः मिलिंद सोमन की पत्नी अंकिता ने बयां किया दर्द, बोलीं- लोगों ने दिया धोखा...

तब हरमीत वजीर से दूरी बनाने के लिए खुद नजदीक एक होटल में शिफ्ट हो गया. साजिश में हरप्रीत भी शामिल था, हरप्रीत ने उसे बताया कि त्रिलोचन सिंह ने उसकी और उसके बेटे की हत्या की सुपारी पंजाब हरियाणा के एक गैंगस्टर को दी थी. वो उसे बार बार डरा रहा था की वजीर कनाडा जाते जाते इधर उसके पूरे परिवार को खत्म करवा देगा. उसे पिस्टल लाकर दी. खुद अपने साथ हरमीत को अपने फ्लैट पर ले गया, एक अलग कमरे में रखा, मौका लगते ही हरमीत ने त्रिलोचन सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी. फिलहाल पुलिस की कई टीम हरप्रीत की तलाश में हैं. 

हरप्रीत ने खुद को बचाने और पुलिस को गुमराह करने के लिए सुसाइड लेटर लिखवाया था. दिल्ली पुलिस के मुताबिक, हरमीत के फेसबुक अकाउंट पर 5 पन्नों का कबूल नामा और सुसाइड नोट उसने हरप्रीत के कहने पर ही अपलोड किया था. उसे खुद लिखा था और अंगूठे के निशान भी लगाए थे. इस हत्याकांड के कुछ दिनों बाद हरमीत के सोशल मीडिया अकाउंट पर ये कबूल नामा पोस्ट किया गया था, जिसमें हरमीत ने हत्या की जिम्मेदारी लेकर हरप्रीत को बेगुनाह बताया था और सुसाइड करने की बात लिखी थी, ये सब उसने पुलिस को गुमराह करने के लिय किया था. 

हरमीत सिंह को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने रविवार को गिरफ्तार किया. पुलिस के मुताबिक वो जम्मू बॉर्डर के पास से छुपने के लिए नया ठिकाना ढूंढ रहा था. गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने वो सुसाइड नोट और पैन भी रिकवर कर लिया है. हरमीत से पिस्टल भी रिकवर हुई है. गौरतलब है कि त्रिलोचन सिंह की दिल्ली के मोती नगर इलाके के एक फ्लैट में गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी. इस हत्याकांड का खुलासा 9 सितंबर को उस वक़्त हुआ जब परिवार के शक जताने के बाद जम्मू कश्मीर पुलिस ने दिल्ली पुलिस से संपर्क साधा और फिर जब पुलिस ने मोती नगर इलाके के इस फ्लैट की तलाशी ली तो फ्लैट के अंदर बाथरूम से त्रिलोचन सिंह की सड़ी गली लाश मिली. 

First Published : 20 Sep 2021, 08:31:52 PM

For all the Latest Crime News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.