News Nation Logo

पकड़ा गया साढ़े 7 लाख रुपये का था इनामी बदमाश, कई राज्यों में मचा रखा था आतंक

दिल्ली, पश्चिमी यूपी, राजस्थान के कुछ इलाके, हरियाणा और पंजाब में सूबे गुर्जर ने काफी दहशत फैलाई है. जिसकी वजह से वो हरियाणा, दिल्ली, यूपी, राजस्थान व पंजाब पुलिस के लिए सरदर्द बना हुआ था.

News Nation Bureau | Edited By : Karm Raj Mishra | Updated on: 03 May 2021, 06:11:39 PM
Gangster Sube Gurjar

Gangster Sube Gurjar (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • कई राज्यों में फैला रखी थी दहशत
  • 4 साल से पुलिस को दे रहा था चकमा
  • पहचान बदलकर दीपक बन गया था

नई दिल्ली:

हरियाणा की स्पेशल टास्क फोर्स ने 7.50 लाख के इनामी मोस्ट वॉन्टेड गैंगस्टर सूबे गुर्जर को पकड़ने में कामयाबी हासिल की है. एसटीएफ की टीम ने सूबे गुर्जर को दिल्ली एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया. गैंगस्टर सूबे गुर्जर का हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान, उत्तर प्रदेश और पंजाब सहित कई राज्यों में दबदबा था. वह 40 से ज्यादा मामलों में वॉन्टेड था. हरियाणा में 11 हत्या और 12 हत्या के प्रयास के मामलों में वह आरोपी है. पिछले 4 सालों से वो फरार चल रहा था. हत्या, हत्या का प्रयास, लूट व डकैती जैसे संगीन जुर्म करना गैंगस्टर सूबे गुर्जर का शौक बन चुका था.

ये भी पढ़ें- कोरोना का इलाज कर रहे डॉक्टर ने की खुदकुशी, पत्नी को भेजा खास संदेश

कई राज्यों में फैला रखी थी दहशत

गुरुग्राम, रेवाड़ी और उसके आसपास के इलाकों में पिछले काफी समय से हो रहीं वारदात के पीछे सूबे गुर्जर का ही हाथ बताया जा रहा है. दिल्ली, पश्चिमी यूपी, राजस्थान के कुछ इलाके, हरियाणा और पंजाब में सूबे गुर्जर ने काफी दहशत फैलाई है. जिसकी वजह से वो हरियाणा, दिल्ली, यूपी, राजस्थान व पंजाब पुलिस के लिए सरदर्द बना हुआ था. गुरुग्राम पुलिस ने सूबे पर 7.50 लाख रुपये का इनाम घोषित कर रखा था.

पुलिस ने 7 दिन की रिमांड पर लिया

गिरफ्तारी के बाद उसे रेवाड़ी कोर्ट में पेश किया गया. जहां पुलिस ने उसे रेवाड़ी के पुष्पाजंलि अस्पताल में गोली चलाकर रंगदारी मांगने के मामले में पूछताछ के लिए 7 दिन की रिमांड पर ले लिया. रिमांड के दौरान एसटीएफ टीम सभी मामलों में पूछताछ करेगी. वह चार साल से किसके संपर्क में रहा और कहां-कहां पर रहा, इसकी जानकारी जुटाई जाएगी. 

पहचान बदलकर दीपक बन गया था

एसटीएफ के डीआईजी सतीश बालान ने बताया कि वह गैंगस्टर सूबे गुर्जर को पकड़ने के लिए दो सालों से काम कर रहे थे. जांच में सामने आया कि आरोपी ने अपना नाम बदल लिया है और दीपक के नाम से नई पहचान बनाई. गैंगस्टर के बारे में दो दिन पहले शनिवार तड़के दिल्ली आने की सूचना मिली. उसमें यह भी बताया कि वह गोवा या चेन्नई की फ्लाइट से आएगा. जब एयरपोर्ट पर जाकर पता किया तो वहां बताया गया कि यहां से कोई फ्लाइट नहीं आ रही. 

ये भी पढ़ें- शहाबुद्दीन के खौफ की कहानी, चंदा बाबू के दो बेटों को तेजाब से नहला दिया था

फ्लाइट में ही पुलिस ने कर ली पहचान

पुणे और मुंबई से फ्लाइट आ रही थी. उसके बाद दोनों फ्लाइट के सदस्यों की जानकारी जुटाई गई. पुणे से दिल्ली आने वाली फ्लाइट में दीपक नाम से एक टिकट बुक मिली. उसके बाद टीम के दो सदस्यों ने भी उसी फ्लाइट में टिकट बुक करवाई. फ्लाइट के टेक ऑफ करने के बाद फ्लाइट में ही सूबे गुर्जर की पहचान की गई. दिल्ली में फ्लाइट के लैंड करते ही टीम ने सूचना दी और एयरपोर्ट से उसे गिरफ्तार कर लिया.

नेपाल में भी रहकर आया

गैंगस्टर ने बताया कि वह पुलिस और एसटीएफ से बचने के लिए बंगाल, गुजरात, राजस्थान, चेन्नई और महाराष्ट्र के शहरों में रहा. सबसे ज्यादा वह पुलिस से छुपने के लिए चेन्नई में रह रहा था. इस दौरान वह नेपाल में भी कुछ दिन रहकर आया. वह अपनी गैंग को चेन्नई में रहकर ही चला रहा था. गैंगस्टर काफी शातिर है और वह अपने गुर्गों से सिर्फ फोन पर ही बात करता था. उनसे मिला भी नहीं करता था. फोन पर ही उनको ऑर्डर देता था.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 03 May 2021, 06:11:39 PM

For all the Latest Crime News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.