News Nation Logo

मजदूरी के पैसे मांगने पर दलित मजदूर को दी खौफनाक सजा, पुलिस ने उठाया ये कदम

मध्य प्रदेश के रीवा से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है. रीवा में एक दलित मजदूर का हाथ दबंगों ने सिर्फ इसलिए काट दिया. क्योंकि उसने मजदूरी के पैसे मांग लिए थे. मजदूर का निकटवर्ती अस्पताल में उपचार कराया जा रहा है.

News Nation Bureau | Edited By : Sunder Singh | Updated on: 25 Nov 2021, 08:23:04 PM
craim

file photo (Photo Credit: social media)

highlights

  • मध्यप्रदेश के रीवा से आई दिल दहला देने वाली घटना सामने 
  • मजदूर रखता है अनुसूचित जाति से संबंध 
  • आलाधिकारियों के आदेश पर तीन लोगों को किया गया गिरफ्तार 

नई दिल्ली :

मध्यप्रदेश के रीवा से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है. रीवा में एक दलित मजदूर का हाथ दबंगों ने सिर्फ इसलिए काट दिया. क्योंकि उसने मजदूरी के पैसे मांग लिए थे. मजदूर का निकटवर्ती अस्पताल में उपचार कराया जा रहा है. पीड़ित के परिजनों ने घटना की रिपोर्ट दर्ज कराने की कोशिश की. लेकिन लंबे समय तक पुलिस ने मामला दर्ज नहीं किया. हालाकि घटना दलित से जुड़ी होने के चलते आग की तरह देश में फैल गई. इसके बाद आलाधिकारियों के आदेश पर पुलिस ने मामला दर्ज कर तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है. पुलिस अधिकारियों के मुताबिक आरोपियों को जेल भेज दिया गया है. घटना में संलिप्त अन्य लोगों की भी तलाश जारी है.

यह भी पढें :पिता को 19 साल बाद मिला न्याय, बेटियों की हत्या के आरोप में मिली थी सजा

धारदार हथियार से काट दिया हाथ 
रीवा के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शिव कुमार वर्मा ने बताया कि डोलमऊ गांव में मजदूरी के रुपए मांगने पर नियोक्ता गणेश मिश्रा ने अपने साथियों के साथ मिलकर श्रमिक अशोक साकेत के एक हाथ को धारदार हथियार से काट दिया. उन्होंने कहा कि साकेत पड़री गांव का निवासी है. पुलिस के मुताबिक साकेत ने डोलमऊ गांव में मिश्रा के लिए निर्माण कार्य में मजदूर के रूप में काम किया था. मिश्रा उसे मेहनताना देने में कथित रूप से आनाकानी कर रहा था. उन्होंने कहा कि मामले को सुलझाने के लिए साकेत और एक अन्य व्यक्ति ने शनिवार को मिश्रा से मुलाकात की. इस दौरान उनमें विवाद हो गया, जिसके बाद कथित तौर पर मिश्रा और अन्य लोगों ने साकेत पर धारदार हथियार से हमला कर दिया और उसका एक हाथ काट दिया.

कटे हुए हाथ को छिपाने की कोशिश 
वर्मा ने बताया कि आरोपियों ने कटे हाथ को पास ही छिपाने की कोशिश भी की, लेकिन बाद में उसे बरामद कर लिया गया. उन्होंने कहा कि पुलिस साकेत को संजय गांधी मेमोरियल अस्पताल ले गई, जहां चिकित्सकों के एक दल ने ऑपरेशन के बाद कटे हाथ को फिर से जोड़ दिया है. वर्मा ने चिकित्सकों के हवाले से बताया कि अत्यधिक खून बहने के कारण साकेत की हालत नाजुक है. घटना पर विपक्षी दलों ने सरकार पर निशाना साधा है. कई लोगों ने प्रदेश में गुंड़ाराज कायम होने का आरोप लगाया है.

First Published : 25 Nov 2021, 08:23:04 PM

For all the Latest Crime News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.