News Nation Logo
Banner

पोर्न देखने वालों को फर्जी पुलिस नोटिस भेजकर की ठगी, गैंग का पर्दाफाश

कुछ लोगों को इस ठगी वाले गिरोह ने पुलिस का फर्जी पुलिस नोटिस भेजकर पैसे ऐंठ लिए. आपको बता दें कि ऐसे गिरोह सोशल मीडिया के सभी प्लेटफॉर्म पर मौजूद रहते. पुलिस ने ऐसे ही एक गिरोह का पर्दाफाश किया है.

Written By : अवनीश चौधरी | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 26 Jul 2021, 07:58:17 PM
Imaginative Pic

सांकेतिक चित्र (Photo Credit: फाइल )

नई दिल्ली :

देश में चोरी-चुपके से इंटरनेट (Internet) पर पोर्न (Porn) देखने वालों की संख्या भरपूर है. ऐसे में इंटरनेट पर ऐसे लोगों के लिए ठगी करने के लिए कई गिरोह सक्रिय हैं. ऐसा ही एक मामला सामने आया है जहां कुछ लोगों को इस ठगी वाले गिरोह ने पुलिस का फर्जी पुलिस नोटिस भेजकर पैसे ऐंठ लिए. आपको बता दें कि ऐसे गिरोह सोशल मीडिया के सभी प्लेटफॉर्म पर मौजूद रहते. पुलिस ने ऐसे ही एक गिरोह का पर्दाफाश किया है. ये गिरोह कंबोडिया और तमिलनाडु से संचालित हो रहा था. हाई-टेक जबरन वसूली गिरोह के भारतीय मास्टरमाइंड समेत तीन को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. 

दिल्ली पुलिस की साइबर क्राइम यूनिट को सोशल मीडिया के माध्यम से इस तरह की धोखाधड़ी का पता चला और साइबर क्राइम टीम ने इस मामले को स्वत: संज्ञान में लेकर कार्रवाई शुरू कर दी. फर्जी पुलिस नोटिस प्रदर्शित करने के लिए एडवेयर और ब्राउजर पॉप-अप विंडो का इस्तेमाल किया जिसमें पीड़ितों को पोर्नोग्राफी देखने के लिए जुर्माना भरने का नोटिस दिया गया था. भोले-भाले पीड़ितों से जबरन वसूली के लिए यूपीआई भुगतान और क्यूआर कोड का इस्तेमाल भी किया जाता था.

यह भी पढ़ेंःCISF ने दिल्ली एयरपोर्ट पर रेमेडिसविर इंजेक्शन के साथ विदेशी महिला को हिरासत में लिया

दिल्ली पुलिस की साइबर क्राइम टीम ने 20 से भी अधिक बैंक खातों के माध्यम से इस मामले की धोखाधड़ी के लगभग 30 लाख रुपए बटोरे जाने का पता चला, भारतीय करेंसी के क्रिप्टोक्यूरेंसी के माध्यम से देश से बाहर जाने का संदेह भी जाहिर किया गया है. डीसीपी साइबर क्राइम यूनिट ने बताया की सोशल मीडिया पर नजर रखे जाने के दौरान एक नोटिस के बारे में रिपोर्ट किया गया जो लोगों को कथित तौर पर पुलिस से प्राप्त हुआ था.

यह भी पढ़ेंःऑन डिमांड लग्जरी कार चुराने वाला गिरोह नोएडा पुलिस के हत्थे चढ़ा, 17 वाहन बरामद

इस रिपोर्ट में उन्हें बताया जा रहा था कि चूंकि वे इंटरनेट पर पोर्नोग्राफी देख रहे थे जो एक इस देश में एक प्रतिबंधित गतिविधि है, इसलिए उनके कंप्यूटर की सभी फाइलों को ब्लॉक कर दिया गया है और उन्हें ऐसी अवैध गतिविधि करने के लिए 3 हजार रुपये का जुर्माना देना होगा. 

First Published : 26 Jul 2021, 07:44:18 PM

For all the Latest Crime News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.