News Nation Logo
Banner

दिल्ली पुलिस की स्पेशल टीम ने एनकाउंटर के बाद बदमाशों को किया गिरफ्तार

पुलिस ने इस मुठभेड़ के दौरार एक 32 बोर की सेमीऑटोमेटिक पिस्टल और 32 जिंदा कारतूस बरामद किए.

By : Ravindra Singh | Updated on: 14 Oct 2019, 11:42:47 PM
सांकेतिक चित्र

सांकेतिक चित्र (Photo Credit: फाइल)

नई दिल्ली:

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल दो एनकाउंटर में प्रथम और तुषार नाम के दो बदमाशों को घायल कर गिरफ्तार कर लिया है. दोनों तरफ से फायरिंग हुई जिसमें पुलिस ने तुषार के पैर में गोली मारी जिससे वो घायल हो गया और पुलिस की गिरफ्त में आ गया. दिल्ली पुलिस की स्पेशल टीम जो कि सीनियर इंस्पेक्टर शिवकुमार द्वारा लीड की जा रही थी इस टीम को एसीपी अतर सिंह की देखरेख में कुख्यात अपराधी जिसका नाम तुषार (उम्र 32 वर्ष) है को 18 राम नगर तिलक नगर दिल्ली को भलस्वा लैंडफिल के पास रात के लगभग 9 बजे गिरफ्तार किया गया.

पुलिस ने इस मुठभेड़ के दौरार एक 32 बोर की सेमीऑटोमेटिक पिस्टल और 32 जिंदा कारतूस बरामद किए. स्पेशल टीम तुषार की हरकतों पर पिछले एक महीने से नजर रख रही थी जब से उसका महेंद्र पार्क इलाके के एक घर में गोलीबारी का वीडियो वायरल हुआ था. जैसे ही इंस्पेक्टर शिवकुमार को तुषार के आने की खबर मिली उन्होंने उसे पकड़ने के लिए भलस्वा लैंडफिल इलाके में जाल बिछाया.

मुखबिर की खबर पर रात लगभग 9 बजे बाइक पर आए युवक की पहचान तुषार के रूप में की गई. जैसे ही उसे पुलिस की पहचान हुई पुलिस ने उसे सरेंडर करने को कहा लेकिन तुषार ने पिस्टल निकाल ली और पुलिस टीम की ओर कई राउंड फायर कर दिया. तुषार की ओर से चलाई गई गोली से एचसी राकेश कुमार घायल हो गए वो बुलेटप्रूफ जैकेट पहने हुए थे लेकिन फिर भी गोली से बच नहीं पाए.

तुषार के गोली चलाने के बाद पुलिस टीम के सदस्यों ने आत्मरक्षा में जवाबी फायरिंग की जिसमें तुषार के दाहिने पैर में गोली लगी और वो घायल हो गया. पुलिस ने उसे तुरंत जगजीवन राम अस्पताल भर्ती करवाया. दोनों ओर से करीब एक दर्ज राउंड फायरिंग की गई जिसमें आरोपी की ओर से 6-7 गोलियां चलाईं गई तो वहीं पुलिस टीम ने 5 गोलियां चलाई अंत में पुलिस टीम तुषार पर हावी हो गई. गिरफ्तार अभियुक्त प्रथम आनंद और तुषार एक कुख्यात अपराधी है जो 25 से अधिक मारपीट, चोट, डकैती, स्नैचिंग, चोरी, आर्म्स एक्ट इत्यादि मामलों में शामिल है. इन बदमाशों को इनमें से कुछ मामलों में पीओ घोषित किया गया है।

प्रथम 23 मई 2019 को रात करीब 9 बजकर 30 मिनट प्रथम ने अपने गैंग के साथ मिलाकर नरेश नाम के एक दूसरे बदमाश पर तब हमला किया था जब वह जहांगीरपुरी अपने घर की तरफ जा रहा था. फायरिंग की पूरी वारदात भागते हुए सीसीटीवी कैमरे में आ गयी थी जिसके बाद से पुलिस इन पर नजरें बनाए हुए थी. आपको बता दें उगाही को लेकर प्रथम और नरेश के बीच लड़ाई चल रही थी. ये गैंग प्रथम का था जिसने नरेश पर गोली चलाई थी.

First Published : 14 Oct 2019, 11:42:47 PM

For all the Latest Crime News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×