News Nation Logo
Banner

पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर जुल्म, नेपाल के रास्ते पैदल भारत पहुंचा हिंदू परिवार  

पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर जुल्म का दौर जारी है. ऐसा ही एक उदाहरण पाकिस्तानी हिंदू परिवार का सामने आया है,​जो बीते दिनों राजस्थान के बाड़मेर में पहुंचा है.

News Nation Bureau | Edited By : Mohit Saxena | Updated on: 10 May 2022, 03:28:45 PM
pakistan

hindu family from pakistan (Photo Credit: social media)

highlights

  • परिवार का कहना है कि पाकिस्तान में उन्हें रोज धमकी मिल रही थी
  • विभिन्न सुरक्षा एजेंसियों ने पाकिस्तान से आए परिवार के सदस्यों  से पूछताछ की है

नई दिल्ली:  

पाकिस्तान (Pakistan) में अल्पसंख्यकों पर जुल्म का दौर जारी है. ऐसा ही एक उदाहरण पाकिस्तानी हिंदू परिवार का सामने आया है,​जो बीते दिनों राजस्थान (Rajasthan) के बाड़मेर (Barmer) में पहुंचा है. उसका कहना है कि पाकिस्तान में बच्चियों और औरतों पर जुल्म ठहाये जा रहे हैं. बच्चियों का अपहरण कर उनका जबरन विवाह किया जा रहा है. ऐसे में परेशान परिवार पाकिस्तान को छोड़ अन्य देशों में शरण लेने को मजबूर है. पाकिस्तान के हालात इतने खराब हो चुके हैं कि परिवार बिना वीजा भारत आ रहे हैं. ऐसा ही दस लोगों का एक परिवार सोमवार को बाड़मेर में पहुंचा. ये करीब तीस दिनों से बाड़मेर के धोरीमन्न इलाके रोहिला गांव में अपने रिश्तेदार के घर बसेरा बनाए हुए है. परिवार का कहना है कि पाकिस्तान में उन्हें रोज धमकी मिल रही थी. इससे वे बेहद परेशान थे. 

दरअसल, यह पाकिस्तानी परिवार नेपाल के रास्ते भारत पहुंचा है. वे करीब डेढ माह पहले आ गए थे. पाकिस्तान के मीरपुर में रहने वाले परिवार के राजेश मेघवाल अपने घर की महिलाओं सहित बच्चों को लेकर पाकिस्तान से दुबई पहुंचे. यहां पर नेपाल होते हुए भारत में प्रवेश किया. भारत में लखनऊ होते जोधपुर तक सड़क से यहां पहुंचे. जोधपुर के सालुड़ी गांव में वे करीब दस दिनों तक रिश्तेदारों के पास रहे. जोधपुर से 16 अप्रैल को  यह परिवार धोरीमन्ना के रोहिला गांव पहुंच गया था. वह अपने रिश्तेदार के साथ रह रहे हैं. 

ये भी पढ़ें: चक्रवाती तूफान 'असानी' की बढ़ेगी रफ्तार, बंगाल और ओडिशा के इलाकों में अलर्ट जारी

सुरक्षा एजेंसियों ने की पूछताछ

इनके रिश्तेदार अभी भी पाकिस्तान में रह रहे हैं. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, विभिन्न सुरक्षा एजेंसियों ने पाकिस्तान से आए परिवार के सदस्यों  से पूछताछ की है, इनकी तलाशी ली गई है. परिवार ने जोधपुर या बाड़मेर में बसने की इच्छा व्यक्त की है. वे बाड़मेर सीआईडी ऑफिस में पेश हुए और अपनी मांग रखी. सीआईडी आफिस ने गृह मंत्रालय को एक पत्र लिखकर इस मामले से अवगत कराया है. अभी मंत्रालय की ओर से कोई जवाब नहीं मिला है. 

बेटे का हुआ अपहरण

पाकिस्तान में लगातार अत्याचार को सहता परिवार बीते काफी समय से सुरक्षित ठिकाने की तलाश कर रहा था. पाकिस्तान से भारत आई महिला राणी का कहना है कि मेरे बेटे का पाकिस्तान में अपरहण हो गया था. बाद में मारपीट कर उसे छोड़ दिया गया. परिवार को धमकी दी गई कि तुम्हारी बच्चियों व महिलाओं को उठाकर ले जाएंगे. वीजा का लंबे समय तक इंतजार करने के बाद परिवार ने नेपाल जाने का मन बनाया. उन्होंने सोचा कि नेपाल में वीजा मिल जाएगा. मगर ऐसा नहीं हुआ. ऐसे में वीजा नहीं मिलने पर सड़क मार्ग से वे भारत की सीमा में घुस गए.

कोई संदिग्ध सामान नहीं मिला

एसपी दीपक भार्गव के अनुसार, अभी तक कोई सूचना या कागज बाड़मेर पुलिस को नहीं मिला है. पाकिस्तानी परिवार बिना वीजा के यहां रह रहा है. इस परिवार ने दुबई व नेपाल में वीजा पाने की कोशिश की थी. मगर नाकाम रहे. जोधपुर व बाड़मेर सीआईडी के समक्ष पेश हुए थे. विभिन्न सुरक्षा एजेंसियों ने पूछताछ की लेकिन अभी तक किसी तरह की कोई संदिग्ध चीज बरामद नहीं हुई है. संज्ञान में आने के बाद पुलिस जांच कर रही है. भारत गृह मंत्रालय से सब चीजें स्पष्ट होगी.

First Published : 10 May 2022, 10:20:03 AM

For all the Latest Crime News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.