News Nation Logo
Banner

बेटे को इंसाफ दिलवाने के लिए धरने पर बैठी 85 साल की बूढ़ी मां

अपने प्रोफेसर बेटे को इंसाफ दिलवाने के लिए 85 साल की बूढ़ी मां ने धरना प्रदर्शन की शुरुआत कर दी है। कुछ नकल माफियाओं के गुंडों ने उनके बेटे पर जानलेवा हमला कर दिया था और पुलिस ने अब तक किसी आरोपी को नहीं पकड़ पाई थी।

News Nation Bureau | Edited By : Vineeta Mandal | Updated on: 13 Oct 2017, 07:59:47 PM
(सांकेतिक चित्र)

(सांकेतिक चित्र)

highlights

  • 26 सितंबर को नकल माफियाओं के गुंडे ने प्रोफेसर प्रेम शंकर पर किया था जानलेवा हमला 
  • घटना के 18 दिन बाद भी आरोपी को नहीं पकड़ पाई है पुलिस 
  • पीड़ित की मां ने अपने पूरे परिवार के साथ शहीद स्मारक में किया धरना प्रदर्शन 

नई दिल्ली:

अपने प्रोफेसर बेटे को इंसाफ दिलवाने के लिए 85 साल की बूढ़ी मां ने धरना प्रदर्शन की शुरुआत कर दी है। कुछ नकल माफियाओं के गुंडों ने उनके बेटे पर जानलेवा हमला कर दिया था और पुलिस ने अब तक किसी आरोपी को नहीं पकड़ पाई थी।

मामला 26 सितंबर के है जब नकल माफियाओं के गुर्गों ने नकल रोकने पर आर बी एस कालेज के प्रोफेसर प्रेम शंकर तिवारी पर गुंडो ने जानलेवा हमला किया था।

इस मामले की रिपोर्ट थाना सिकंदरा में दर्ज है लेकिन पुलिस अब तक प्रोफेसर आरोपियों को गिरफ्तार नही कर पाई है। पुलिस की देरी से परेशान प्रोफेसर प्रेम शंकर तिवारी की मां लालमुखी तिवारी ने पूरे परिवार के साथ शहीद स्मारक में धरना प्रदर्शन की शुरुआत कर दी है।

यह भी पढ़ें: बिहार: महिला का रेप नहीं कर सका तो प्राइवेट पार्ट में डाल दी लोहे की रॉड, आरोपी गिरफ्तार

उनका कहना है कि अगर पुलिस ने हमलावरों को जल्दी गिरफ्तार नही किया गया तो पूरा परिवार अनिश्चितकालीन हड़ताल करने को मजबूर होगा।

इस मामले पर सीओ हरीपर्वत श्लोक कुमार का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है और जल्दी ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

प्रोफेसर प्रेम शंकर तिवारी पर हुए जानलेवा हमले को करीब 18 दिन बीत चुके है और हमलावर पुलिस की पकड़ से दूर है। अगर आरोपी जल्द नहीं पकड़े गए तो प्रोफेसर की मां ने अनिश्चित आमरण अनशन करने की बात कही है।

यह भी पढ़ें: बिहार : भारत-नेपाल सीमा से 8 किलोग्राम चरस के साथ तस्कर गिरफ्तार

First Published : 13 Oct 2017, 07:47:43 PM

For all the Latest Crime News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.