News Nation Logo
Banner

BSNL, MTNL को संकट से उबारने के लिए मोदी सरकार ने उठाया ये बड़ा कदम

दूरसंचार विभाग (डीओटी) द्वारा जारी एक ज्ञापन में कहा गया है कि भारत सरकार ने अपने सभी मंत्रालयों/ विभागों, सीपीएसई, केंद्रीय स्वायत्त निकायों द्वारा BSNL और MTNL की सेवाओं के अनिवार्य रूप से इस्तेमाल की मंजूरी दी है.

Bhasha | Updated on: 14 Oct 2020, 10:34:32 AM
BSNL-MTNL

BSNL-MTNL (Photo Credit: newsnation)

नई दिल्ली:

केंद्र की नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सरकार ने अपने सभी मंत्रालयों, सार्वजनिक विभागों और सार्वजनिक क्षेत्र की इकाइयों के लिए सरकारी दूरसंचार कंपनियों भारत संचार निगम लिमिटेड (BSNL) और महानगर संचार निगम लिमिटेड (MTNL) की सेवाओं के उपयोग को अनिवार्य कर दिया है. दूरसंचार विभाग (डीओटी) द्वारा जारी एक ज्ञापन में कहा गया है कि भारत सरकार ने अपने सभी मंत्रालयों/विभागों, सीपीएसई, केंद्रीय स्वायत्त निकायों द्वारा बीएसएनएल और एमटीएनएल की सेवाओं के अनिवार्य रूप से इस्तेमाल की मंजूरी दी है. 

यह भी पढ़ें: अगर आपके पास कोरोना कवच हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी है तो यह खबर जरूर पढ़ लीजिए

वित्त मंत्रालय से परामर्श के बाद जारी किया गया निर्देश
इस ज्ञापन पर 12 अक्टूबर की तारीख अंकित है और इसे वित्त मंत्रालय से परामर्श के बाद केंद्र सरकार के सभी सचिवालयों और विभागों को जारी किया गया. ज्ञापन में कहा गया कि बीएसएनएल और एमटीएनएल की दूरसंचार सेवाओं के इस्तेमाल को अनिवार्य करने का निर्णय मंत्रिमंडल ने लिया है. दूरसंचार विभाग ने सभी मंत्रालयों, विभागों, सीपीएसई और केंद्रीय स्वायत्त संगठनों से कहा है कि वे इंटरनेट, ब्रॉडबैंड, लैंडलाइन और लीज्ड लाइन जरूरतों के लिए बीएसएनएल या एमटीएनएल नेटवर्क का अनिवार्य रूप से उपयोग करें. 

यह भी पढ़ें: सोने-चांदी में आज गिरावट पर दिख सकती है खरीदारी, जानें टॉप ट्रेडिंग कॉल्स

सरकार का यह आदेश सरकारी दूरसंचार कंपनियों के घाटे को कम करने के लिए किया गया है, जो तेजी से अपने ग्राहक आधार को खो रहे हैं। बीएसएनएल को 2019-20 में 15,500 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था, जबकि इस दौरान एमटीएनएल का घाटा 3,694 करोड़ रुपये रहा.

First Published : 14 Oct 2020, 10:33:23 AM

For all the Latest Business News, Telecom News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो