News Nation Logo

हर आदमी तक इंटरनेट की पहुंच बनाने के लिए मोदी सरकार ने लिया बड़ा फैसला

मोदी सरकार द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक वर्ष 2020 तक 50 लाख सार्वजनिक वाई फाई हॉट स्पॉट स्थापित किए जाएंगे.

न्यूज स्टेट ब्यूरो | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 17 Dec 2019, 12:30:51 PM
हर आदमी तक इंटरनेट की पहुंच बनाने के लिए मोदी सरकार ने लिया बड़ा फैसला

नई दिल्ली:

केंद्र की नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सरकार (Government) ने देश के हर नागरिक तक इंटरनेट (Internet) को पहुंचाने के लिए बड़ी घोषणा की है. सरकार ने इस मिशन को आगे बढ़ाने के लिए राष्ट्रीय ब्रॉडबैंड मिशन नीति का ऐलान किया है. मोदी सरकार द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक वर्ष 2020 तक 50 लाख सार्वजनिक वाई फाई हॉट स्पॉट स्थापित किए जाएंगे. वहीं आजादी के 75वहीं वर्षगांठ यानी 2022 तक 1 करोड़ सार्वजनिक वाई फाई हॉटस्पॉट स्थापित किए जाने की घोषणा की है.

यह भी पढ़ें: Rabi Crop Sowing 2019: रबी फसलों का रकबा पिछले साल से 5 फीसदी ज्यादा बढ़ा

सभी घरों तक ऑप्टिकल फाइबर केबल पहुंचाएगी मोदी सरकार
केंद्र सरकार आम लोगों को कई सुविधाएं देने के मकसद से फाइबर फर्स्ट इनिशिएटिव को लागू करेगी. सभी घरों तक ऑप्टिकल फाइबर केबल पहुंचाया जाएगा. कम्युनिकेशन सेक्टर में नवीकरणीय ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए इंसेंटिव देने की बात भी कही गयी है. डिजिटल कम्युनिकेशन क्षेत्र में 100 बिलियन डॉलर निवेश लाने के मद्देनजर केंद्र सरकार (Central Government) लाइसेंस फीस और यूनिवर्सल सर्विस ऑब्लीगेशन फंड सहित कई लेवी और फीस की समीक्षा करेगी.

5,500 स्टेशनों पर मिल रहा है मुफ्त वाईफाई सेवा

इंडियन रेलवे (Indian Railway) देशभर में 5,500 स्टेशनों पर मुफ्त वाईफाई की फैसिलिटी दे रहा है. रेलवे की डिजिटल शाखा रेलटेल ने पिछले दिनों इसकी जानकारी साझा की थी. रेलटेल ने बताया कि पूर्व मध्य रेलवे के तहत झारखंड का महुआमिलन स्टेशन यह सुविधा पाने वाला 5500 वां स्टेशन बन गया है. रेलवे ने जनवरी 2016 में मुंबई सेंट्रल रेलवे स्टेशन (Mumbai Central Railway Station) से अपने स्टेशनों पर मुफ्त वाईफाई प्रदान करनी सेवा शुरू की थी. पिछले 46 महीनों में रेलटेल देशभर में 5500 स्टेशनों पर यह सेवा उपलब्ध करा चुका है. रेलटेल के सीएमडी पुनीत चावला ने कहा कि मिशन (हाल्ट स्टेशनों को छोड़कर) सभी स्टेशनों पर वाईफाई प्रदान करना है.

यह भी पढ़ें: घर के डाउन पेमेंट के लिए ले रहे हैं पर्सनल लोन, तो रुक जाएं, ये हो सकती है दिक्कत

रेलटेल ने इस परियोजना के कुछ हिस्सों के लिए गूगल, टाटा ट्रस्ट, पीजीसीआईएल जैसे साझेदारी को साथ लिया. करीब 200 स्टेशनों के लिए दूरसंचार विभाग यूएसओएफ से धन भी मिला. वाईफाई रेलवायर के ब्रांड नाम से उपलब्ध कराया जा रहा है. रेलवायर रेलटेल की खुदरा ब्रांडबैंड सेवा है. चावला का कहना है कि अक्टूबर में कुल डेढ़ करोड उपयोगकर्ताओं ने रेलवायर वाईफाई सेवाओं में लॉगइन किया और 10242 टीबी डेटा की खपत हुई है. (इनपुट एजेंसी)

First Published : 17 Dec 2019, 12:30:51 PM

For all the Latest Business News, Telecom News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो