News Nation Logo

मोदी सरकार की इस योजना के जरिए 50 लाख युवाओं को मिलेंगे कमाई के साथ रोजगार के मौके

दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल्य योजना के तहत वर्ष 2024 तक सभी पंजीकृत युवाओं को ट्रेनिंग मिलेगी. इस योजना से जहां विभिन्न सेक्टर लायक कुशल श्रमिक उपलब्ध हो सकेंगे. वहीं दूसरी ओर गरीबी को भी कम करने में सरकार को मदद मिलेगी.

IANS | Updated on: 22 Aug 2020, 11:24:30 AM
Skill India

स्किल इंडिया (Skill India) (Photo Credit: IANS)

नई दिल्ली:

केंद्र की नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सरकार गांवों के अनस्किल्ड युवाओं को स्किल इंडिया (Skill India) की ट्रेनिंग देकर उन्हें हुनरमंद बनाने की तैयारी की है, ताकि युवाओं को रोजगार पाने में आसानी हो. दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल्य योजना (Deen Dayal Upadhyaya Grameen Kaushalya Yojana) के तहत यह प्लान तैयार हुआ है. वर्ष 2024 तक सभी पंजीकृत युवाओं को ट्रेनिंग मिलेगी. इस योजना से जहां विभिन्न सेक्टर लायक कुशल श्रमिक उपलब्ध हो सकेंगे, वहीं गरीबी को भी कम करने में सरकार को मदद मिलेगी.

यह भी पढ़ें: वास्तविक अर्थव्यवस्था से बिल्कुल अलग चल रहा है शेयर बाजार, RBI गवर्नर शक्तिकांत दास का बड़ा बयान

ग्रामीण विकास मंत्रालय की ओर से गांवों के युवाओं को रोजगार से जोड़ने के लिए संचालित है योजना
ग्रामीण विकास मंत्रालय की ओर से गांवों के युवाओं के हुनर का विकास कर उन्हें रोजगार से जोड़ने के लिए यह योजना संचालित है. उच्चस्तरीय ट्रेनिंग के लिए खास मानकों (एसओपी) का पालन होता है. सर्टिफाइड ट्रेनर इस योजना के तहत उपलब्ध कराए जाते हैं. पंजीकृत युवाओं को निशुल्क प्रशिक्षण मिलता है. ग्रामीण विकास मंत्रालय की नेशनल यूनिट इस योजना के तहत नेशनल पॉलिसी मेकिंग, फंडिंग, टेक्निकल सपोर्ट की जिम्मेदारी देखती है, वहीं राज्य स्तर पर इस योजना का क्रियान्वयन स्टेट स्किल डेवलपमेंट मिशन या राज्य आजीविका मिशन के नेतृत्व में होता है.

यह भी पढ़ें: चालू खरीफ सीजन में धान का रकबा 12 फीसदी बढ़ा, खरीफ बुवाई अबतक 9 फीसदी ज्यादा

योजना के तहत कुल पचास लाख ग्रामीण युवाओं को पंजीकृत करके ट्रेंड करने की तैयारी
मंत्रालय के सूत्रों ने बताया कि इस योजना के तहत कुल पचास लाख ग्रामीण युवाओं को पंजीकृत कर उन्हें जरूरत के हिसाब से ट्रेंड करने की तैयारी है. ग्रामीण विकास मंत्रालय की ओर से तैयार विजन डाक्यूमेंट के मुताबिक, 2019-20 में सात लाख युवाओं का पंजीकरण हुआ. वहीं 2020-21 में नौ लाख, 2021-22 में 12 लाख, 2022-23 में 12 लाख और 2023-24 में दस लाख अनस्किल्ड ग्रामीण युवाओं का पंजीकरण कर उन्हे ट्रेंड करना है. मंत्रालय के अधिकारियों के मुताबिक, ट्रेनिंग में रुचि रखने वाले युवाओं की पहचान कर उन्हें आगे बढ़ने के अवसर इस योजना में उपलब्ध कराए जाते हैं. अगर ट्रेनिंग के बाद कोई व्यक्ति रोजगार पाता है तो माना जाता है कि उसके परिवार की गरीबी दूर गई.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 22 Aug 2020, 11:19:03 AM

For all the Latest Business News, Personal Finance News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.