News Nation Logo
Banner

काम की खबर: प्रॉविडेंट फंड (EPF) से पैसे निकालने पर नहीं देना होगा कोई भी डॉक्यूमेंट, नौकरीपेशा लोगों को मिली बड़ी राहत

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के मुताबिक कोरोना वायरस महामारी के प्रकोप के इस दौर में पैसे की निकासी का दावा करने के लिए ईपीएफ सदस्य (EPF Member) को कोई प्रमाण पत्र या दस्तावेज जमा करने की आवश्यकता नहीं है.

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 09 Jul 2020, 12:25:18 PM
EPFO EMPLOYEE

Employees Provident Fund Organisation (EPFO) (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली :

Employees Provident Fund Organisation: केंद्र की नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) के इस दौर में नौकरीपेशा लोगों को बड़ी राहत दी है. दरअसल, कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के मुताबिक कोरोना वायरस महामारी के प्रकोप के इस दौर में पैसे की निकासी का दावा करने के लिए ईपीएफ सदस्य (EPF Member) को कोई प्रमाण पत्र या दस्तावेज जमा करने की आवश्यकता नहीं है.

यह भी पढ़ें: ग्लोबल इकोनॉमी को लेकर आए बेहद डराने वाले आंकड़े, 5.2 फीसदी गिरावट की आशंका

EPF अकाउंट से आसानी से पैसा निकाल सकेंगे कर्मचारी
मोदी सरकार के इस फैसले से नौकरीपेशा लोगों को काफी सहूलियत मिलने की संभावना है और अब वे काफी आसानी से अपने प्रॉविडेंट फंड (Provident Fund) के पैसे की निकासी कर सकेंगे. गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस के इस संकट के दौर में ईपीएफ सदस्यों को उनके प्रॉविडेंट फंड अकाउंट से 3 महीने की वेतन के बराबर पैसा निकालने की छूट दी थी. वहीं अब कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) ने ट्वीट के जरिए जानकारी दी है कि कोरोना वायरस महामारी के इस दौर में कोई भी कर्मचारी बगैर किसी प्रमाणपत्र और दस्तावेज के पैसे की निकासी कर सकता है.

यह भी पढ़ें: मोदी सरकार ने तीन सरकारी इंश्योरेंस कंपनियों के विलय को लेकर लिया बड़ा फैसला

EPFO की ओर से किए गए ट्वीट में कहा गया है कि कोरोना वायरस महामारी के प्रकोप के इस दौर में पैसे की निकासी का दावा करने के लिए ईपीएफ सदस्य (EPF Member) को कोई प्रमाण पत्र या दस्तावेज जमा करने की आवश्यकता नहीं है. EPFO ने सभी अंशदाताओं को यह सलाह भी जारी की है कि EPFO के सोशल मीडिया हैंडल को सब्सक्राइब करने से पहले अच्छी तरह से जांच अवश्य कर लें. EPFO का कहा है कि मिलते-जुलते अकाउंट्स को फॉलो करने की वजह से अंशदाताओं के साथ धोखाधड़ी हो सकती है. EPFO के आधिकारिक सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक- @socialepfo, ट्विटर- @socialepfo और यूट्यूब- @Employees' Provident Fund Organitsation हैं.

First Published : 09 Jul 2020, 12:23:55 PM

For all the Latest Business News, Personal Finance News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो