News Nation Logo
Banner
Banner

नए करेंसी नोट के ऊपर छपी हर तस्वीर के पीछे है एक अनोखी कहानी

RBI ने जुलाई 2018 में 100 रुपये के नए नोट के ऊपर इस चित्र को छापा था. बता दें कि रानी की वाव को 22 जून 2014 को इसे यूनेस्को के विश्व विरासत स्थल में शामिल किया गया है.

Business Desk | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 02 Oct 2021, 10:58:35 AM
New Currency Note

New Currency Note (Photo Credit: NewsNation)

highlights

  • 200 रुपये के नए नोट के पीछे सांची का स्तूप अंकित है
  • 50 रुपये के नए नोट के पीछे हम्पी मंदिर का चित्र अंकित है

नई दिल्ली:

रोजाना के लेनदेन में आपके सामने से कई करेंसी नोट गुजरते होंगे, लेकिन क्या आपने कभी यह नोटिस किया है कि इन नोटों के ऊपर आखिर छपा क्या हुआ है या फिर उसे जानने की कोशिश की है. अगर आप इन बातों से अनजान हैं तो हम आज आपको इन नोटों के ऊपर छपे हुए चित्रों के बारे में बताने जा रहे हैं. सबसे पहले बात करते हैं 100 रुपये के नए नोट की. इस नोट के ऊपर गुजरात पाटन में स्थित प्रसिद्ध बावड़ी रानी की वाव का चित्र अंकित है. RBI ने जुलाई 2018 में 100 रुपये के नए नोट के ऊपर इस चित्र को छापा था. बता दें कि रानी की वाव को 22 जून 2014 को इसे यूनेस्को के विश्व विरासत स्थल में शामिल किया गया है. जानकारी के मुताबिक 1063 ईस्वी में सोलंकी राजवंश के राजा भीमदेव प्रथम की स्मृति में उनकी पत्नी रानी उदयामति ने रानी की वाव का निर्माण कराया था. रानी का वाव 64 मीटर लंबा, 20 मीटर चौड़ा और 27 मीटर गहरा है. पाटन को पहले 'अन्हिलपुर' के नाम से जाना जाता था, जो गुजरात की पूर्व राजधानी थी.

यह भी पढ़ें: चीन के बिजली संकट से वैश्विक अर्थव्यवस्था पर आशंका के बादल गहराए

200 रुपये का नोट
200 रुपये के नए नोट के पीछे सांची का स्तूप अंकित है. सांची का स्तूप मध्यप्रदेश के रायसेन जिले में स्थित है. सांची का स्तूप का निर्माण सम्राट अशोक के कार्यकाल में हुआ था. 

500 रुपये का नोट
500 रुपये के नए नोट के पीछे भारत के प्रसिद्ध स्मारक लाल किले की तस्वीर छपी हुई है. भारत के प्रधानमंत्री हर साल स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले पर ध्वज फहराते हैं. साथ ही वे लाल किले की प्राचीर से देश की जनता को संबोधित करते हैं. 

2,000 रुपये का नोट
2 हजार रुपये के नए नोट के पीछे मंगलयान की तस्वीर छपी हुई है. 24 सिंतबर 2014 बुधवार के दिन भारत ही नहीं विश्व के इतिहास में याद रखा जाएगा. अपने पहले प्रयास में ही 67 करोड़ किमी का सफर तय करतके भारतीय मंगलयान ने सीधे मंगल ग्रह की कक्षा में प्रवेश कर लिया था. इसका नाम मार्स ऑर्बिटर मिशन यानी MOM था. भारत ने इस मिशन पर करीब 450 करोड़ रुपए खर्च किए थे. गौरतलब है कि भारत एशिया करा पहला देश है जिसने मंगल पर सफलता प्राप्त की है, इससे पहले चीन और जापान भी अपने यान भेज चुके है लेकिन वे असफल रहे हैं.

50 रुपये का नोट
50 रुपये के नए नोट के पीछे हम्पी मंदिर का चित्र अंकित है. हम्पी मंदिर कर्नाटक की तुंगभद्रा नदी के किनारे स्थित है. 

20 रुपये का नोट
20 रुपये के नए नोट के ऊपर एलोरा की गुफाओं की तस्वीर है. एलोरा की गुफाएं औरंगाबाद, महाराष्ट्र से 30 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है. एलोरा भारतीय पाषाण शिल्प स्थापत्य कला का सार है और यहां 34 गुफाएं हैं. 

यह भी पढ़ें: पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार तीसरे दिन बढ़ोतरी, दिल्ली में 102 रुपये के पार पेट्रोल

10 रुपये का नोट
10 रुपये के नोट पर सूर्य मंदिर, कोणार्क की तस्वीर अंकित है. कोणार्क शब्द, 'कोण' और 'अर्क' शब्दों के मेल से बना है. अर्क का अर्थ होता है सूर्य, जबकि कोण से अभिप्राय कोने या किनारे से रहा होगा.

First Published : 02 Oct 2021, 10:57:09 AM

For all the Latest Business News, Markets News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो