News Nation Logo

BREAKING

Banner

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के कॉर्पोरेट टैक्स में कटौती के बाद निफ्टी (Nifty) ने लगाई 10 सालों की सबसे बड़ी छलांग

निफ्टी में अब तक 10 सालों की सबसे बड़ी तेजी है. बता दें कि वित्त मंत्री ने कंपनियों को बड़ी राहत देते हुए कॉर्पोरेट टैक्स घटाने का प्रस्ताव किया है.

By : Vikas Kumar | Updated on: 20 Sep 2019, 01:08:38 PM
निफ्टी ने लगाई 10 साल की सबसे बड़ी छलांग

निफ्टी ने लगाई 10 साल की सबसे बड़ी छलांग

नई दिल्ली:

Finance Minister Nirmala Sithraman की ओर से कंपनियों को बड़ी टैक्स छूट देने का ऐलान करते ही शेयर बाजार ने भी ऊंची छलांग लगा दी. बॉम्‍‍‍‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज (BSE) का 30 शेयरों वाला बेंचमार्क इंडेक्स सेंसेक्स फिलहाल (12:22 PM) 1920 अंक उछलकर 38013 के स्तर को भी छू लिया. वहीं, NSE का 50 शेयरों वाल प्रमुख इंडेक्स निफ्टी भी 570 अंकों तक की तेजी दिखाई. फिलहाल निफ्टी (12.37 बजे) 11,210 के अंको पर कारोबार कर रहा है. 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, निफ्टी में अब तक 10 सालों की सबसे बड़ी तेजी है. बता दें कि वित्त मंत्री ने कंपनियों को बड़ी राहत देते हुए कॉर्पोरेट टैक्स घटाने का प्रस्ताव किया है. ये घरेलू कंपनियों और नई कंपनियों के लिए है. इसको अध्यादेश के जरिए लागू किया जाएगा. वित्त मंत्री ने बताया कि बिना किसी छूट के इनकम टैक्स 22 फीसदी होगा. साथ ही मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों के लिए भी टैक्स घटाया जाएगा.

यह भी पढ़ें: आर्थिक मंदी (Economic Slowdown) से निपटने के लिए सरकार का बड़ा ऐलान, कॉर्पोरेट टैक्स को घटाया

आर्थिक मंदी से निपटने के लिए केंद्र की नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) आज सरकार ने बड़ी घोषणा की है. वित्त मंत्री (Finance Minister) निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने कंपनियों के लिए कॉर्पोरेट टैक्स में कटौती का ऐलान किया है. कंपनियों के लिए नया कॉर्पोरेट टैक्स 25.17 फीसदी तय कर दिया गया है. सरचार्ज और सेस के साथ कॉर्पोरेट टैक्स 25.17 फीसदी लगेगा. इसके अलावा सरकार ने MAT को भी खत्म कर दिया है.

वित्त मंत्री के द्वारा किए गए ऐलान के बाद रुपये में भी तेजी देखी गई. 1 बजे तक रुपया करीब 71 रुपये पर कारोबार कर रहा था. Experts की मानें तो भारत सरकार के लिए गए कदमों से थोड़ी मजबूती देखने को मिलेगी लेकिन इंटरनेशनल मार्केट से निगेटिव संकेत आ रहे हैं. खासकर यूएस और इरान के बीच की टेंशन का भी असर देखने को मिल सकता है. 

यह भी पढ़ें: वित्‍त मंत्री के तोहफे से झूम उठा शेयर बाजार, बजट के बाद सबसे बड़ी तेजी, करीब 1800 Point बढ़ा सेंसेक्स

मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों के लिए टैक्स घटाने का भी प्रस्ताव
सरकार ने मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों के लिए टैक्स घटाने का भी प्रस्ताव दिया है. बिना किसी छूट के इनकम टैक्स 22 फीसदी होगा. इसके अलावा सरकार ने शेयर बायबैक पर बढ़ा हुआ टैक्स वापस ले लिया है. अब शेयर बायबैक पर 20 फीसदी का टैक्स लागू नहीं होगा. इसके अलावा डेरिवेटिव और सिक्योरिटीज पर सरचार्ज नहीं बढ़ेगा. फिलहाल सरकार बढ़े हुए सरचार्ज को लागू नहीं करने जा रही है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि टैक्स घटाने का अध्यादेश पास हो चुका है.

यह भी पढ़ें: इकोनॉमी (Economy) को निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) का बूस्टर डोज, 10 बड़े फैसलों से बाजार में दीवाली

वित्त मंत्री के इस ऐलान के बाद सरकार का राजस्व 1.45 लाख करोड़ रुपये का राजस्व घट जाएगा. वित्त मंत्री ने इक्विटी कैपिटल गेन पर सरचार्ज नहीं बढ़ाने की भी घोषणा की है. मोदी सरकार मैन्युफैक्चरिंग में निवेश बढ़ाने के लिए यह कदम उठाए हैं. सरकार ने निवेश करने वाली कंपनियों पर 15 फीसदी टैक्स की घोषणा की है.
वित्त मंत्री के कई महत्वपूर्ण घोषणाओं के बाद रिजर्व बैंक (RBI) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा है कि टैक्स घटाने का फैसला एक बड़ा कदम है. उनका कहना है कि टैक्स घटाने का फैसला अर्थव्यवस्था के लिए सकारात्मक कदम है.

First Published : 20 Sep 2019, 12:45:26 PM

For all the Latest Business News, Markets News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.