News Nation Logo

24 घंटों में दोगुना कीजिए रुपया, जानने लायक है इस व्यक्ति की कहानी

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 25 Jul 2019, 11:02:43 AM
राधाकिशन दमानी (Radhakishan Damani) - फाइल फोटो

highlights

  • D-Mart के BSE में लिस्ट होने के साथ ही राधाकिशन दमानी की संपत्ति 100 फीसदी बढ़ी
  • D-Mart के शेयर का इश्यू प्राइस 299 रुपये था, जबकि उसकी लिस्टिंग 604.40 रुपये पर हुई थी
  • 62 वर्षीय राधाकिशन दमानी की संपत्ति में फिलहाल 321 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है

नई दिल्ली:  

क्या आप यकीन करेंगे कि किसी की संपत्ति सिर्फ 24 घंटे में 100 फीसदी बढ़ जाए. जी हां ये सच है, दरअसल, राधाकिशन दमानी (Radhakishan Damani) ने इस कारनामे को अंजाम दिया है. ऐसे शख्स के बारे में हर किसी को जानने की इच्छा होगी, कि उन्होंने यह कारनामा कैसे किया और आज भारत के टॉप अमीरों की सूची में उन्होंने कैसे अपना स्थान बनाया. आइये जानते हैं राधाकिशन दमानी के एक निवेशक से करोड़पति बिजनेसमैन बनने की पूरी कहानी.

यह भी पढ़ें: Rupee Open Today: डॉलर के मुकाबले बिना किसी बदलाव के खुला भारतीय रुपया

24 घंटे में 100 फीसदी बढ़ गई संपत्ति
20 मार्च 2017 तक राधाकिशन दमानी एक निवेशक और सुपरमार्केट रिटेल चेन D-Mart के सर्वेसर्वा थे. 21 मार्च को D-Mart के बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) में लिस्ट होने के साथ ही उनकी संपत्ति 100 फीसदी बढ़ गई. बता दें कि IPO के लिस्ट होने के बाद आर के दमानी (R K Damani) की संपत्ति राहुल बजाज और गोदरेज समूह से भी ज्यादा बढ़ गई.

यह भी पढ़ें: Gold Price Today: महंगे हो सकते हैं सोना-चांदी, भाव को लेकर क्या कहते हैं एक्सपर्ट, जानें यहां

604.40 रुपये पर लिस्ट हुआ था D-Mart का शेयर
D-Mart के शेयर का इश्यू प्राइस 299 रुपये तय किया गया था, जबकि उसकी लिस्टिंग 604.40 रुपये पर हुई थी. मतलब कंपनी के शेयर ने लिस्टिंग के साथ ही 100 फीसदी से ज्यादा का रिटर्न दे दिया. गौरतलब करने वाली बात ये भी है कि पिछले 13 वर्ष के शेयर बाजार के इतिहास में लिस्टिंग के दिन किसी भी शेयर में इतना उछाल नहीं देखने को मिला है. 62 वर्षीय राधाकिशन दमानी की संपत्ति में फिलहाल 321 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है.

यह भी पढ़ें: Petrol Diesel Price: पेट्रोल-डीजल हो गया सस्ता, फटाफट जानें नए रेट

बॉल बियरिंग के बिजनेस से शुरू किया था सफर
राधाकिशन दमानी ने संघर्ष के शुरुआती दिनों में बॉल बियरिंग का बिजनेस किया, लेकिन नुकसान होने पर उसे बंद करना पड़ गया. पिता की मौत से उनके ऊपर दुख का पहाड़ टूट पड़ा. हालांकि उन्होंने खुद को संभालते हुए भाई के साथ मिलकर शेयर बाजार में निवेश करना शुरू किया. शुरू-शुरू में उन्होंने छोटी कंपनियों में निवेश किया जिससे उन्हें मोटा मुनाफा मिला. साल 1990 तक निवेश के जरिए शेयर बाजार से करोड़ों रुपये बटोर लिए.

यह भी पढ़ें: आयकर सिस्टम का दुरुपयोग करने वालों से सख्ती से निपटें, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का बयान

1,999 में रखे थे रिटेल कारोबार में कदम
शेयर बाजार में निवेश के साथ-साथ उन्होंने रिटेल कारोबार में हाथ आजमाने की योजना बनाई. रिटेल कारोबार में उतरने के साथ ही उन्हें अभूतपूर्व सफलता मिली. एक बात गौर करने वाली है कि उन्होंने जब 1,999 में रिटेल कारोबार शुरू किया था, उस समय किशोर बियानी का फ्यूचर ग्रुप और कुमार मंगलम बिड़ला इस बाजार में नहीं थे. राधाकिशन दमानी को शेयर बाजार के दिग्गज 'मिस्टर व्‍हाइट एंड व्‍हाइट' के नाम से पुकारते हैं.

First Published : 25 Jul 2019, 09:22:31 AM

For all the Latest Business News, Markets News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.