News Nation Logo
संसद में हमने पेगासस का मुद्दा उठाया था: राहुल गांधी पेगासस देश पर, देश के संस्थानों पर एक हमला है: राहुल गांधी पेगासस को कोई प्राइवेट पार्टी नहीं खरीद सकती: राहुल गांधी आर्यन की जमानत पर सुनवाई जारी हिमाचल प्रदेश के कुल्लू में हुआ अग्निकांड अत्यंत दुखद है: पीएम मोदी मलाणा गांव में त्रासदी के सभी पीड़ित परिवारों के प्रति पीएम मोदी ने संवेदना व्यक्त की राज्य सरकार और स्थानीय प्रशासन राहत और बचाव के काम में पूरी तत्परता से जुटे NCB के DDG ज्ञानेश्वर सिंह समेत NCB की 5 सदस्यीय टीम दिल्ली से मुंबई पहुंची प्रभाकर मुंबई के क्रूज़ ड्रग्स मामले में एक गवाह है दिल्ली में 1 नवंबर से खुल सकेंगे सभी स्कूल: मनीष सिसोदिया भारत सभी देशों के अधिकारों का सम्मान करता है: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह हम अपने समुद्रों और विशेष आर्थिक क्षेत्र की रक्षा हर कीमत पर करेंगे: राजनाथ सिंह लालू ने सोनिया से समान विचारधारा वाले लोगों और पार्टियों को एक मंच पर लाने की बात कही सोनिया जी एक मजबूत विकल्प (सत्तारूढ़ पार्टी का) देने की दिशा में काम करें: लालू प्रसाद यादव मैंने सोनिया गांधी से बात की, उन्होंने मुझसे मेरी कुशलक्षेम पूछी: राजद नेता लालू प्रसाद यादव कांग्रेस महासचिव और यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी ने दिल्ली में बुलाई हाई लेवल बैठक पटना के गांधी मैदान बम ब्लास्ट मामले का एक आरोपी फखरुद्दीन को रिहा पटना के गांधी मैदान बम ब्लास्ट मामले में सजा 1 नवंबर को सुनाई जाएगी NIA की स्पेशल कोर्ट ने 10 आरोपियों में से नौ को दोषी करार दिया सीएम तीर्थयात्रा योजना में अयोध्या शामिल: अरविंद केजरीवाल, सीएम दिल्ली दिल्ली के लोग रामलला के दर्शन कर सकेंगे: अरविंद केजरीवाल, सीएम दिल्ली कैप्टन अमरिंदर सिंह ने किया नई पार्टी बनाने का ऐलान, कहा- सभी 117 सीटों पर लड़ेंगे चुनाव

दिवाली पर 72 हजार करोड़ का व्यापार, चीन को 40 हजार करोड़ का फटका

देश के 20 अलग-अलग शहर जो देश भर में सप्लाई चेन के प्रमुख वितरण केंद्र से एकत्रित रिपोटरें के अनुसार दीवाली त्यौहार सीजन बिक्री से देश भर में लगभग 72 हजार करोड़ रुपये का कारोबार हुआ है.

IANS/News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 16 Nov 2020, 09:25:08 AM
Diwali Markets

दिवाली पर देश भर के बाजार रहे गुलजार. (Photo Credit: न्यूज नेशन.)

नई दिल्ली:

कोरोना महामारी के गंभीर संकट के बीच इस वर्ष का दिवाली त्यौहार पूरी तरह से एक अलग ही अंदाज में पूरे देश में मनाया गया, जिसमें कुछ बहुत ही नवीन विशेषताएं थीं. इनमें चीनी सामानों का पूर्ण बहिष्कार, भारतीय सामानों का बड़े पैमाने पर उपयोग के साथ-साथ भारत में आठ महीने का व्यापार का निर्वासन समाप्त हुआ. कनफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के अनुसार रिटेल व्यापार के विभिन्न वर्गों - जिसमें खास तौर पर भारत में बने एफएमसीजी उत्पाद, उपभोक्ता वस्तुएं, खिलौने, बिजली के उपकरण और सामान, इलेक्ट्रॉनिक उपकरण और सफेद सामान, रसोई के सामान, उपहार की वस्तुएं, मिठाई-नमकीन, घर का सामान, टेपेस्ट्री, बर्तन, सोना और गहने, जूते, घड़ियां, फर्नीचर, फिक्सचर, वस्त्र, फैशन परिधान, कपड़ा, घर की सजावट का सामान, मिट्टी के दिए सहित दिवाली पूजा का सामान, सजावटी सामान, हस्तकला की वस्तुएं, वस्त्र, घर द्वार पर लगाने वाले शुभ-लाभ,ओम, देवी लक्ष्मी के चरण आदि अनेक त्यौहारी सीजन वस्तुओं की बिक्री बहुत अच्छी रही.

कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि देश के 20 अलग-अलग शहर जो देश भर में सप्लाई चेन के प्रमुख वितरण केंद्र से एकत्रित रिपोटरें के अनुसार दीवाली त्यौहार सीजन बिक्री से देश भर में लगभग 72 हजार करोड़ रुपये का कारोबार हुआ है और चीन को सीधे तौर पर लगभग 40 हजार करोड़ रुपये का व्यापार घाटा हुआ. उन्होंने बताया हालांकि उच्चतम न्यायालय के स्पष्ट निदेशरें के बावजूद सरकारी अधिकारियों की लापरवाही से जिसमें पटाखे की नीति का अभाव मुख्य कारण रहा, जिसके चलते बड़े एवं छोटे तथा बेहद मामूली स्तर के पटाखों के निर्माणकर्ता एवं विक्रेताओं को लगभग 10 हजार करोड़ रुपये के व्यापार का नुकसान हुआ.

20 शहरों में दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, बैंगलोर, हैदराबाद, कोलकाता, नागपुर, रायपुर, भुवनेश्वर, रांची, भोपाल, लखनऊ, कानपुर, नोएडा, जम्मू, अहमदाबाद, सूरत, कोचीन, जयपुर, चंडीगढ़ को कैट वितरण शहर मानता है और विभिन्न विषयों पर नियमित सर्वेक्षण कराता है. यदि सेंसेक्स कोई संकेतक है तो निश्चित रूप से देश में व्यापार के लिए एक उज्‍जवल भविष्य है, क्योंकि स्टॉक एक्सचेंजों के सभी प्रमुख सूचकांक निफ्टी के साथ-साथ भविष्य के बेहद अच्छे परिणाम दिखाते हैं. दिवाली पर महूर्त ट्रेडिंग पर बीएसई 12,780 पर और नि़फ्टी 43,637.98 पर बंद हुआ. पिछली दिवाली से लेकर इस दिवाली सूचकांकों ने कोरोना और लॉकडाउन के प्रभाव के बावजूद लगभग 10 प्रतिशत इजाफा किया. वृहद मोर्चे पर रिकवरी के अच्छे संकेतों और लगातार हो रहे निवेश के जारी रहने के कारण अगली दिवाली तक निफ्टी के 14,000 को छूने का अनुमान है.

First Published : 16 Nov 2020, 09:25:08 AM

For all the Latest Business News, Markets News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो