News Nation Logo
Banner

Bharat Bandh 26 March 2021: भारत बंद पर कैट का बयान, कहा- व्यापार पर कोई असर नहीं, अन्य दिनों की तरह ही कारोबार

Bharat Bandh 26 March 2021: कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) ने यह कहते हुए किसान संगठनों से आग्रह किया कि वो अपना अड़ियल रवैया छोड़कर सरकार के साथ बातचीत करते हुए अपनी समस्याओं का हल निकाले.

Written By : बिजनेस डेस्क | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 26 Mar 2021, 03:14:16 PM
Bharat Bandh 26 March 2021: CAIT

Bharat Bandh 26 March 2021: CAIT (Photo Credit: NewsNation)

highlights

  • कुछ किसान संगठनों द्वारा भारत बंद का आह्वान किए जाने के बावजूद देश में सभी बाजार पूरी तरह से खुले हैं: कैट 
  • कैट देश भर के 8 करोड़ व्यापारियों और पूरे देश में 40 हजार से अधिक व्यापार संगठनों का शीर्ष एवं प्रतिनिधि संगठन है

नई दिल्ली:

Bharat Bandh 26 March 2021: कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर किसानों का प्रदर्शन जारी है, ऐसे में किसानों ने शुक्रवार को भारत बंद का अह्वान किया है. दूसरी ओर कॉन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) के अनुसार, कुछ किसान संगठनों द्वारा भारत बंद का आह्वान किए जाने के बावजूद देश में सभी बाजार पूरी तरह से खुले हैं और अन्य दिनों की तरह ही देश भर में सामान्य कारोबार हो रहा है. कैट ने बयान जारी कर कहा कि, भारत बंद का व्यापार पर कोई असर नहीं पड़ा है. कॉन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने यह कहते हुए किसान संगठनों से आग्रह किया कि वो अपना अड़ियल रवैया छोड़कर सरकार के साथ बातचीत करते हुए अपनी समस्याओं का हल निकाले.

यह भी पढ़ें: अकाउंट खुलवाने पर मिलेगा 7 फीसदी ब्याज, मेंटेनेंस चार्ज फ्री

कैट देश भर के 8 करोड़ व्यापारियों और पूरे देश में 40 हजार से अधिक व्यापार संगठनों का शीर्ष एवं प्रतिनिधि संगठन है. कैट के महासचिव प्रवीन खंडेलवाल ने उन राजनीतिक दलों को लताड़ा जो अपने राजनीतिक लाभ के लिए किसानों के कंधों का इस्तेमाल कर रहे हैं. यह समय है जब किसानों को उन्हें बाहर निकालना चाहिए और सरकार के साथ बातचीत शुरू करनी चाहिए ताकि उनके मुद्दों का निवारण किया जा सके.

यह भी पढ़ें: टाटा-मिस्त्री विवाद: सुप्रीम कोर्ट से टाटा को बड़ी राहत, मिस्त्री की बहाली के आदेश को गलत कहा

कैट ने कहा, किसानों को तीन कानूनों को वापस लेने की अपनी मांग छोड़ देनी चाहिए, बल्कि उन तीन विधेयकों में अपने मुद्दों को सुरक्षित करने के लिए संशोधनों का प्रस्ताव करना चाहिए. यह एक स्थापित तथ्य है कि विवादास्पद मुद्दों को बातचीत की प्रक्रिया से ही हल किया जा सकता है. बता दें कि केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के विरोध में किसानों ने आज भारत बंद का आह्वान किया है. दिल्ली की सीमाओं पर किसानों के संघर्ष को 4 महीने पूरे हो चुके हैं. इस दौरान गाजीपुर बॉर्डर को किसानों ने बंद कर दिया है. इनपुट आईएएनएस

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 26 Mar 2021, 03:13:54 PM

For all the Latest Business News, Markets News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.