News Nation Logo
Banner

EPFO की ताजा रिपोर्ट जारी, फरवरी में 8.61 लाख लोगों को मिली नौकरी

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के ताजा आंकड़ों के मुताबिक जनवरी 2019 में नई नौकरियों की संख्या सबसे अधिक 8.94 लाख रही थी. मार्च में जारी रिपोर्ट में यह संख्या 8.96 लाख बताई गई थी.

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 21 Apr 2019, 08:35:06 AM
फाइल फोटो

फाइल फोटो

नई दिल्ली:

इस साल फरवरी में संगठित क्षेत्र में नौकरियों की संख्या में जोरदार इजाफा हुआ है. कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के मुताबिक इस साल फरवरी में संगठित क्षेत्र में नौकरियों की संख्या तीन गुना बढ़कर 8.61 लाख तक पहुंच गई, जबकि पिछले साल फरवरी में यह आंकड़ा 2.87 लाख था.

यह भी पढ़ें: Pension Scheme: लाखों निजी कर्मचारियों के लिए 'सुप्रीम' फैसला, मिलेगी ये सौगात

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के हालिया आंकड़ों के मुताबिक जनवरी 2019 में नई नौकरियों की संख्या सबसे अधिक 8.94 लाख रही थी. मार्च में जारी रिपोर्ट में यह संख्या 8.96 लाख बताई गई थी. बता दें कि EPFO अप्रैल 2018 से कंपनियों के वेतन रजिस्टर में दर्ज होने वाले नाम के आधार पर रोजगार के आंकड़े जारी कर रहा है. संगठन ने सितंबर 2017 की अवधि से आंकड़े जुटाए हैं. रिपोर्ट के मुताबिक फरवरी 2019 में 22-25 वर्ष आयु वर्ग के 2.36 लाख को और 18-21 आयु वर्ग के 2.09 लाख युवाओं को रोजगार मिला है.

यह भी पढ़ें: Small Saving Scheme: नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट, सुकन्या समृद्धि योजना पर मिलेगा इतना ब्याज

आंकड़ों के मुताबिक सितंबर 2017-फरवरी 2019 के बीच 18 महीने के दौरान 80.86 लाख नए रोजगार का सृजन हुआ. EPFO ने कहा है कि ये आंकड़े अस्थायी हैं और कर्मचारियों के रिकॉर्ड को अपडेट करना प्रक्रिया का हिस्सा है. हालांकि, EPFO ने सितंबर 2017 से लेकर जनवरी 2019 के 17 महीने की अवधि में संगठन से जुड़ने वाले नये अंशधारकों और नये रोजगार सृजन की संख्या को पहले के 76.48 लाख से कम करके 72.24 लाख किया गया है.

यह भी पढ़ें: नौकरीपेशा लोगों के लिए खुशखबरी, सरकार ने EPF पर ब्याज दर 8.55 फीसदी से बढ़ाकर 8.65 फीसदी किया

बता दें कि EPFO विभिन्न कंपनियों, संगठनों और फर्मों में काम करने वाले कर्मचारियों के वेतन से होने वाली भविष्य निधि कोष का प्रबंधन करता है. ऐसे में रोजगार में आने वाले नये कर्मचारियों के भविष्य निधि खाते के आंकड़े उसके पास उपलब्ध होते हैं. EPFO ने कहा है कि उसकी ताजा रिपोर्ट में मार्च 2018 के आंकड़ों में सबसे ज्यादा संशोधन सामने आया है. इसमें 55,934 सदस्य ईपीएफओ की सदस्यता से बाहर हुये। इससे पहले पिछले महीने जारी आंकड़ों में बताया गया था कि मार्च 2018 में 29,023 अंशधारकों ने ईपीएफ योजना को छोड़ा है.

यह भी पढ़ें: EPFO वित्त वर्ष 2019 के लिए ब्याज दर 8.55 फीसदी रख सकता है बरकरार

First Published : 21 Apr 2019, 08:06:30 AM

For all the Latest Business News, Markets News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो