News Nation Logo
Banner

क्या है गोल्ड ईटीएफ (Gold ETF), इसमें निवेश करके कैसे मिलता है मुनाफा, जानें यहां

गोल्ड ईटीएफ यानि गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (Gold Exchange Traded Fund) के जरिए सोने में निवेश किया जाता है. मौजूदा समय में देश के सभी बड़े एक्सचेंज के ऊपर गोल्ड ईटीएफ की ट्रेडिंग हो रही है.

By : Dhirendra Kumar | Updated on: 14 Dec 2019, 10:35:19 AM
गोल्ड ईटीएफ यानि Gold Exchange Traded Fund

गोल्ड ईटीएफ यानि Gold Exchange Traded Fund (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

गोल्ड ईटीएफ (Gold ETF): सोने में निवेश के लिए मार्केट में कई विकल्प मौजूद हैं. हालांकि आप जिस भी विकल्प को निवेश के लिए चुनते हैं उसकी हर बारीकी के बारे में आपको जरूर जानना चाहिए. आज की इस रिपोर्ट में हम गोल्ड ईटीएफ के सभी पहलुओं के बारे में जानने की कोशिश करेंगे. क्या हैं वह बारीकियां आइये जान लेते हैं.

क्या है गोल्ड ईटीएफ
गोल्ड ईटीएफ यानि गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (Gold Exchange Traded Fund) के जरिए सोने में निवेश किया जाता है. मौजूदा समय में देश के सभी बड़े एक्सचेंज के ऊपर गोल्ड ईटीएफ की ट्रेडिंग हो रही है. बता दें कि मार्च 2007 से देश में गोल्ड ईटीएफ की ट्रेडिंग हो रही है. एक्सचेंज के प्लेटफॉर्म के जरिए शेयर की ही तरह से गोल्ड ईटीएफ को खरीदा जा सकता है. यहां ध्यान देने वाली बात हैं कि ETF की खरीदारी और बिकवाली डीमैट अकाउंट (Demat Account) के जरिए ही की जाती है.

यह भी पढ़ें: कॉर्पोरेट टैक्स को लेकर नीति आयोग के CEO अमिताभ कांत ने कही ये बड़ी बात

गौरतलब है कि गोल्ड ईटीएफ फंड (Gold ETF schemes in India) द्वारा भारी मात्रा में फिजिकल सोने की खरीदारी की जाती है. उस स्टॉक के एवज में निवेशकों को शेयर जारी कर दिया जाता है. ईटीएफ में सोने की चाल के मुताबिक रिटर्न मिलता है. बता दें कि गोल्ड ईटीएफ फंड द्वारा खरीदा गया सोना 99.5 फीसदी शुद्ध होता है. चूंकि गोल्ड ईटीएफ एक्सचेंज के प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध रहते हैं, इसलिए इस फंड की कभी भी खरीदारी या बिकवाली की जा सकती है. इसके अलावा गोल्ड ईटीएफ की वैल्यू मांग और सप्लाई के आधार पर तय होती है. गोल्ड ईटीएफ में एंट्री और एग्जिट फिजिकल गोल्ड से ज्यादा आसान हैं. इसमें रखरखाव को लेकर भी निवेशकों को कोई परेशानी नहीं होती है.

यह भी पढ़ें: Big News: 1 फरवरी को पेश हो सकता है आम बजट, सूत्रों के हवाले से ख़बर

क्या हैं फायदे
गोल्ड ईटीएफ में निवेश करने वाले निवेशकों को सोने की शुद्धता को लेकर कोई भी चिंता नहीं होती है. इसके अलावा स्टोरेज और रखरखाव को लेकर भी कोई झंझट नहीं है. साथ ही 3 साल बाद लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन टैक्स लागू होने से टैक्स सेविंग के लिहाज से भी अच्छा है. निवेशकों को सोने की सुरक्षा को लेकर कोई चिंता नहीं रहती है.

यह भी पढ़ें: हीरा (Diamond) खरीदना है तो जनवरी तक करें इंतज़ार, यहां होगी नीलामी

देश में मौजूदा गोल्ड ETF स्कीम
देश में मौजूदा समय में (Top 10 Gold ETFs in India) बिड़ला सन लाइफ गोल्ड, गोल्डमैन सैक्स गोल्ड, रेलिगेयर इंवेस्को गोल्ड, क्वांटम गोल्ड Fund, SBI गोल्ड ETF, IDBI गोल्ड ETF, R*Shares गोल्ड ETF, एक्सिस गोल्ड ETF, कोटक गोल्ड ETF, ICICI प्रुडेंशियल गोल्ड ETF, UTI गोल्ड ETF, HDFC गोल्ड ETF आदि हैं.

First Published : 14 Dec 2019, 10:34:55 AM

For all the Latest Business News, Gold-Silver News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×